आलस्य और सुस्ती दूर करने के 15 घरेलू उपाय

आलस्य और सुस्ती भरा जीवन व्यतीत करना लगता तो बहुत अच्छा है लेकिन हमारी आजकल की दौड़ भाग भरी ज़िन्दगी में आलस्य के लिए कोई जगह नहीं रह गयी है। ऐसे में आलस्य दूर कैसे करें, यह एक महत्वपूर्ण सवाल है।

कुछ लोग आलसी होते हैं लेकिन बहुत से लोगों में सुस्ती होने के कारण वे आलसी बन जाती है। इस सुस्ती का कारण शरीर में उर्जा की कमी होना होता है

उर्जा की कमी आपकी आदतों के कारण हो सकती है। इस लेख के जरिये हम सुस्ती दूर भगाने और आलस्य दूर करनें के उपाय के बारे में चर्चा करेंगे।

1. चाय या कॉफ़ी

यदि चाय कम मात्रा में ली जाये तो ये भी सेहत के लिए लाभदायक होती है। चाय में ऐसे एंटीओक्सीडैन्ट्स होते हैं जो शरीर को चुस्ती फुर्ती देते हैं और थकान दूर करते हैं। (चाय पीने के फायदे)

कॉफ़ी भी शरीर की उर्जा वापिस पाने का एक अच्छा उपाय है। इसमें कैफीन होता है जो दर्द निवारक की तरह काम करता है और शरीर को उर्जावान बनाने में उपयोगी होता है। (सम्बंधित: कॉफ़ी पीने के फायदे)

2. नींबू का रस

नींबू खट्टा फल होता है और इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी होता है जो आलस्य दूर भगाने का अच्छा उपाय है। ये शरीर की गर्मी को दूर करके हमें ठंडक प्रदान करता है।

बाज़ार में मिलने वाले पेय लेने से अच्छा है कि आप नीम्बू का रस पीयें। यह एक स्वास्थ्यवर्धक उपाय होता है। (सम्बंधित: नींबू के सेवन के फायदे)

3. फल और सब्जियां खाएं

अपने आहार में फल और सब्जियां शामिल करने से आपके शरीर का मेटाबोलिज्म का स्तर सुधरता है और आपका इम्यून सिस्टम सशक्त हो जाता है। फल और सब्जियों में ऐसे कई विटामिन और मिनरल होते हैं जो शरीर में मौजूद संक्रमण से लड़ते हैं।

यदि आप अपनी दिनचर्या स्वस्थ रखेंगे तो आप आपके शरीर में कम आलस्य और सुस्ती रहेगी। कई फिजिशियन दिन में कम से कम एक गिलास फलों का रस और कई सब्जियां अपने आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं।

4. तुलसी की चाय

तुलसी में कई एंटीओक्सीडैन्ट्स होते हैं और ये कई आवश्यक तेलों का महत्वपूर्ण स्रोत होती है जो आपको अपनी खोयी हुई उर्जा वापिस पाने में सहायता करते हैं।(सम्बंधित: तुलसी के फायदे)

इसके लिए आप एक बर्तन में 10-15 तुलसी की पत्तियों को उबालकर उनका रस एक कप में निकाल लें। इसे हर्बल टी की तरह दिन में 2-3 बार पीयें। (सम्बंधित: तुलसी की चाय पीने के फायदे)

(ये भी पढ़ें: तुलसी के बीज का उपयोग कैसे करें?)

5. चकोतरे का रस

चकोतरे का रस आपके शरीर की उर्जा बढाने में अत्यधिक लाभदायक होता है। नियमित रूप से एक गिलास चकोतरे का रस पीना आपके लिए लाभदायक हो सकता है। (सम्बंधित: चकोतरा खाने के फायदे)

6. अंकुरित अनाज लें

अंकुरित अनाज विटामिन्स का एक प्राकृतिक स्रोत होते हैं जो आपके शरीर और मस्तिष्क को कमजोरी और सुस्ती से राहत देते हैं। ये बाज़ार में ताज़े मिलते हैं। आप इनको खरीद कर हफ्ते में एक से दो बार खा सकते हैं

7. सब्जियों का रस लें

यदि आपको सब्जियां खाना पसंद नही है तो आप इन सब्जियों का रस ले सकते हैं। सब्जियों के रस में सब्जी का सम्पूर्ण पोषण मौजूद होता है। इसके अलावा आप कई सब्जियों को मिलाकर भी उनका रस बना सकते हैं।

सुस्ती दूर करने के उपाय

1. सुबह जल्दी उठें और नहा लें

सुबह जल्दी उठकर थोड़ी कसरत करने के बाद आप नहा लें। इससे आप चुस्त और ताज़ा महसूस करेंगे। (जानिये सुबह जल्दी उठकर घूमनें के उपाय)

2. पोषण युक्त आहार

शोध में पाया गया है कि अत्यधिक जंक फूड खाने से आपका इम्यून सिस्टम कमज़ोर हो जाता है। सेहत के लिए हानिकारक होने वाला भोजन खाने से वासा बढ़ जाता है जिससे आप अधिक बिमारियों के शिकार होते हैं जैसे कि मोटापा।

मोटापे से ग्रस्त लोगों में उर्जा की कमी होती है और वे जल्दी थक जाते हैं। सब्जियां खाने से न सिर्फ आपको शक्ति मिलती है अपितु आप रोगमुक्त रहते हैं। (सम्बंधित: सुबह उठकर क्या खाएं?)

3. उचित नींद लें

एक वयस्क को दिन में 8 घंटे की नींद लेना आवश्यक होता है। अनियमित नींद लेने से आपके शरीर में थकान और उर्जा की कमी हो जाती है जिससे आप सुस्त महसूस करते हैं। (जानिये रोजाना कितना सोना चाहिए)

4. नियमित व्यायाम

शारीरिक व्यायाम शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए आवश्यक होता है। रोज़ 30 मिनट व्यायाम करना आपके शरीर में उर्जा का संतुलन बनाये रखता है।

व्यायाम करने से आपके शरीर से एंडोर्फिन रिलीज़ होते हैं जो आपको अधिक उर्जावान महसूस कराते हैं और मेटाबोलिज्म का स्तर सुधारते हैं

5. अपना वातावरण साफ़ रखें

आप किस जगह पर अपना समय व्यतीत कर रहे हैं और कहाँ अधिक समय बिता रहे हैं ये बहुत हद्द तक इस बात पर निर्भर करता है कि आपका आस पास का वातावरण कैसा है

यदि आप स्वच्छ वातावरण में रहते हैं तो इससे आपके अन्दर सकारात्मकता का निर्वाहन होता है। साफ़ वातावरण न सिर्फ आपके शरीर को बल्कि आपके मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखता है।

6. उदासी से दूर रहे और कुछ उपयोगी करें

यदि आपके पास खाली समय है तो कुछ ऐसा कार्य करें जो उपयोगी हो। यदि आप अपना खाली समय फालतू बैठे हुए व्यतीत करेंगे तो इससे आपके अन्दर उदासी रहेगी और आप उर्जाहीन महसूस करेंगे।

7. रचनात्मक लोगों के साथ रहे

यदि आप ऐसे लोगो के साथ रहेंगे जिन्हें अपनी ज़िन्दगी में कुछ भी नहीं करना है तो आप में नकारात्मकता आएगी। समय बर्बाद करने से आप केवल उदास रहेंगे और आपको कुछ करने का मन नहीं करेगा।

रचनात्मक लोगों के साथ रहने से आपके अन्दर आत्मविश्वास आएगी और कुछ अच्छा कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी

8. सकारात्मकता के साथ दिन शुरू करें

आपका दिन कैसा रहेगा ये काफी हद्द तक इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपने दिन की शुरुआत किस प्रकार कर रहे हैं। यदि आप अपना दिन सकारात्मक सोच के साथ शुरू करते हैं और यह निश्चय कर लेते हैं कि आप जो चाहते हैं वो हासिल कर लेंगे तो आप अवश्य ही सफल होंगे। इसलिए अपना दिन मुस्कराहट के साथ शुरू करें। (जानिये: सुबह उठकर क्या करना चाहिए?)

सम्बंधित लेख: 

1. पेट कम करनें के घरेलु उपाय
2. सुबह जल्दी कैसे उठें?
3. मेमोरी तेज कैसे करें?
4. दिमाग तेज करने के उपाय
5. मेडिटेशन करने के फायदे

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here