दा इंडियन वायर » खानपान » चाय पीने के फायदे और चाय के प्राकृतिक गुण
खानपान

चाय पीने के फायदे और चाय के प्राकृतिक गुण

चाय पीने के फायदे benefits of drinking tea in hindi

जब भी किसी व्यक्ति को अपनी थकावट दूर करनी होती है तो वह गर्मा-गर्म चाय पीना पसन्द करता है। चाय पीने के फायदे अनेक हैं। शरीर में चुस्ती-फुर्ती लाने के साथ-साथ चाय हमारे शरीर में और भी कई फायदे करती है। चाय को वैज्ञानिक द्वारा एक औषधीय पौधा माना गया है, जो सीमित मात्रा में दवाई के तौर पर सेवन करने से अनेकों फायदे पँहुचाती है।

इस लेख के जरिये हम चाय पीने से शरीर को होने वाले फायदों के बारे में चर्चा करेंगे।

चाय पीने के फायदे (benefits of drinking tea in hindi)

  1. चाय पीने से उम्र बढ़ती है

चाय में एंटीऑक्सीडेंट का गुण शामिल होता है, इसलिए चाय का सेवन करने से उम्र बढ़ती है। साथ ही चाय प्रदूषण के प्रभाव से हमारे शरीर की रक्षा करती है।

ख़ासकर उम्रदराज़ लोगों को चाय जरूर पीनी चाहिए, इससे बढ़ती उम्र के कारण होने वाले रोगों से शरीर का बचाव रहता है।

  1. सिर दर्द को दूर करती है

यह तो आप जानते ही है कि चाय में 30 से 40 मिलीग्राम कैफीन की मात्रा पाई जाती है। यदि आपको अधिक थकावट महसूस होती है या सिरदर्द की शिकायत होती है तो आपको एक कप चाय ज़रूर पीनी चाहिए। सिरदर्द की शिकायत तुरन्त दूर हो जाएगी।

कुछ लोगों के लिए सिरदर्द के लिए चाय का एक कप दवाई का काम करती है।

  1. दिल के रोग से बचाव

चाय दिल का दौरा और स्ट्रोक के जोखिम को कम कर सकती है। चाय पीने की वजह से धमनियां चिकनी और कोलेस्‍ट्रॉल से मुक्त हो जाती हैं। एक शोध से यह पता चला है कि यदि आप एक सप्ताह में छह कप से अधिक चाय पीते है तो आपको दिल की बीमारी होने का ख़तरा एक तिहाई कम को जाता है।

  1. मजबूत हड्डियों के लिए

चाय पीने से शरीर की हड्डियां मजबूत बनती है। वैज्ञानिक द्वारा अध्ययन करने पर पाया गया है, कि चाय ना पीने वालों की बजाए चाय पीने वाले लोगों की हड्डिया मजबूत होती है। खासकर बड़ी उम्र के लोगों में हड्डियों के फायदे के लिए चाय का सेवन फायदेमंद होता है।

  1. मजबूत दांतों के लिए

चाय पीने से दांत मजबूत बनते है और कभी भी दांतो में दर्द की शिकायत नही होती है। लेकिन यह तभी संभव है जब आप बिना चीनी की चाय पीते है। क्योकिं चाय फ्लोराइड और टैनिंन से बनी होती है जो प्‍लेग को दूर रखता है। तो अगर आप स्वस्थ दांत और मसूड़े चाहते है तो आज से ही चाय पीना शुरू कर दें।

  1. कैंसर से बचाव

अगर आपके शरीर में कैंसर पनपने की कोशिश कर रहा है तो आप चाय पीना शुरू कर दें क्योंकि चाय हमारे शरीर में कैंसर से सुरक्षा करती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें पॉलीफिनॉल और एंटीऑक्सीडेंट का गुण पाया जाता है। इन दोनों के प्रभाव से कैंसर से लड़ने में मदद मिलती है।

  1. शरीर में पानी की कमी पूरी करती है

अक्सर ज्यादातर लोगो में पानी पीने की आदत कम होती है। या फिर कई लोग अपने काम में इतने व्यस्त हो जाते है कि उनको पानी पीने का ध्यान ही नही रहता है। ऐसे मे उनके शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है। लेकिन चाय का लगातार सेवन करने से शरीर में पानी की मात्रा भरपूर बनी रहती है। साथ ही चाय हाइड्रेटेड रहने में भी सहायक होती है।

  1. कैलोरी घटाने में

चाय में कैलोरी की मात्रा नही होती है। यदि आपको चाय पीना पसन्द है तो आपके लिए काली चाय सबसे बेस्ट विकल्प है। यदि आप इस चाय में दूध और चीनी मिलाकर पीते है तो उसमें कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है। इससे शरीर में मोटापा बढ़ने का खतरा रहता है।

  1. वजन घटाने और बढ़ाने के लिए

चाय पीने से शरीर का मैटाबॉलिज्म बढ़ जाता है। इसलिए यदि कोई व्यक्ति पतलापन का शिकार है यानि कि किसी व्यक्ति के खूब खाने के बाद भी वजन नही बढ़ता है उसे दूध और चीनी से बनी चाय का सेवन करना चाहिए।

उसके शरीर के लिए वह चाय काफी फायदेमंद होती है। और यदि किसी व्यक्ति का वजन लगातार बढ़ता जा रहा है, और लाख कोशिशों के बावजूद भी कम नही हो रहा है, तो ऐसे व्यक्ति को हरी चाय का सेवन करना चाहिए।

उस व्यक्ति को कुछ ही दिनों में काफी फायदा मिलेगा। पर, हां उस व्यक्ति को हरी चाय पीने के साथ- साथ व्यायाम भी करना चाहिए, जिसका असर तुरन्त दिखाई देगा।

  1. अन्य रोगों से बचाव

चाय में मौजूद कई तत्व, पहले से शरीर में मौजूद या पैदा होने वाले रोगाणु या विषाणुओं से लड़ने में सक्षम होती है। साथ ही चाय पीने से आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को सक्रंमण से लड़ने में बेहद ही सहायक होती है।

सर्दी-जुकाम वाले संक्रमित रोगों के लिए चाय में तुलसी और अदरक मिलाकर बनाने वाला काढ़ा रामबाण इलाज़ है।

  1. याद्दाश्त तेज़ करती है

कई लोगों से आपने यह कहते हुए सुना होगा कि अगर तेरा दिमाग काम नही कर रहा है तो एक कप चाय पीने से आपका बन्द दिमाग खुल जाएगा। इसमें काफी हद तक सच्चाई है।

कम उम्र के लोगों के दिमाग के लिए तो दुध और चीनी से मिलकर चाय भी ठीक है लेकिन हरी चाय ज्यादा फायदेमंद होती है। इसके सेवन करने से अल्ज़ाइमर जैसे रोगों से छुटकारा मिलता है।

साथ ही किसी भी काम को करते हुए बीच में चाय पीने से दिमाग को बूस्ट करने का काम करती है।

  1. दिमागी विकास में सहायक

वैज्ञानिक रिर्सच में यह बात सामने आई है कि चाय ना पीने वाले या कम पीने वालो की बजाए अधिक चाय पीने वाले लोगों का दिमाग अधिक क्रिएटिव होता है।

साथ ही उनमें सोचने और समझने की शक्ति भी ज्यादा होती है। दिमाग को चाय एनर्जी से भरपूर रखती है। इसलिए क्रिएटिव काम करने वाले लोगों का चाय से गहरा नाता बताया जाता है।

यदि अभी भी आपके दिमाग में चाय को लेकर कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट के जरिये इसे हमसे पूछ सकते हैं।

About the author

दीपिका द्विवेदी

1 Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!