Wed. Feb 21st, 2024

    Category: समाज

    पंडित मदन मोहन मालवीय की संकलित रचनाओं का विमोचन करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 दिसंबर, 2023 को महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की 162वीं जयंती के अवसर पर ‘पंडित मदन मोहन मालवीय की संकलित रचनाओं’ के 11 खंडों की प्रथम…

    छठ की रेल: ‘वंदे भारत’ के चकाचौंध में धक्के खाता ‘असली भारत’

    छठ की रेल- दृश्य 1: मान लीजिए, आप त्योहार पर अपने घर जाना चाहते हैं। आपकी यात्रा का आरक्षित टिकट आपके पास है। लेकिन जब आप अपनी ट्रेन पकड़ने जाते…

    CJI ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष रूप से सक्षम कर्मचारियों द्वारा प्रबंधित कैफे का किया उद्घाटन

    भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) डी.वाई. चंद्रचूड़ ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के परिसर में एक कैफे का उद्घाटन किया, जो पूरी तरह से विशेष रूप से सक्षम कर्मचारियों द्वारा…

    Same-Sex Marriage Verdict: सुप्रीम कोर्ट का फैसला “नौ दिन चले ढाई कोस” जैसा

    Supreme court on Same-Sex Marriage Verdict: भारत के मुख्य न्यायाधीश श्री चंद्रचूड़ की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट के 05 जजों की संविधान बेंच ने समलैंगिक विवाह से संबंधित एक ऐतिहासिक…

    ‘बुजुर्ग होता भारत’: भविष्य की इस चुनौती के लिए कितना तैयार हैं हम?

    India Aging Report 2023: भारत में बुजुर्ग लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसा हम नहीं बल्कि संयुक्त राष्ट्र संघ की एक संस्था UNFPA द्वारा जारी एक हालिया…

    Kota Suicide Cases: बच्चों की जिंदगियां लीलती “व्यवस्था”

    Kota Suicide Case: राजस्थान का कोटा (Kota) शहर जहाँ देश के अलग-अलग हिस्सों से लाखों बच्चे आँखों मे इंजीनियर या डॉक्टर बनने का ख्वाब संजोए आते हैं: यह शहर आजकल…

    Live-In Relationship में बढ़ती क्रूरता: “ये कहाँ आ गए हम…”

    Cruelty in Live-In Relationship: कुछ समय से सहजीवन (Live-In Relationship) में क्रूरता की खबरें और जिस प्रकृति की घटनाएं सामने आई हैं, किसी भी सभ्य समाज को सोचने पर मजबूर…

    श्रद्धा वालकर केस से प्रेरित: मीरा रोड के 56 साल के शख्स ने 32 साल की लिव-इन पार्टनर की हत्या की, शव के टुकड़े किए, कुकर में कुछ हिस्सा उबाला भी

    श्रद्धा वालकर हत्याकांड तो अभी ज़हन से निकला भी नहीं था कि मुंबई से एक और वारदात सामने आई है जो श्रद्धा वालकर हत्याकांड जैसी है। मुंबई के मीरा रोड…

    ‘आदर्श कारागार अधिनियम, 2023’ करेगा 130 वर्ष पुराना कारागार अधिनियम निरस्त

    वर्तमान ‘कारागार अधिनियम, 1894’ आज़ादी से पहले का अधिनियम है और लगभग 130 वर्ष पुराना है। यह अधिनियम मुख्य रूप से अपराधियों को हिरासत में रखने और जेलों में अनुशासन…

    समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने का अधिकार सुप्रीम कोर्ट को नहीं, सरकार का पक्ष

    समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने की मांग वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रही सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने मंगलवार को कहा कि वह पर्सनल लॉ के क्षेत्र से दूर…