दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » तुलसी की चाय पीने के 13 बेहतरीन फायदे
खानपान स्वास्थ्य

तुलसी की चाय पीने के 13 बेहतरीन फायदे

भारतीय सभ्यता में तुलसी सदा पूजनीय रहा है। तुलसी के विषय में अनेक पौराणिक कथायें प्रसिद्ध हैं और घरों में तुलसी को आँगन में लगाकर इसकी पूजा भी की जाती है। तुलसी का प्रयोग ना सिर्फ़ धार्मिक कर्म कांडों में ही होता है बल्कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभकारी है।

तुलसी के लाभदायक गुणों के कारण कई देशों में “वनस्पतियों की रानी” भी कहा जाता है। हमारी संस्कृति में तुलसी को अत्यंत पवित्र माना गया है और विज्ञान भी इस बात की पुष्टि करता है।

तुलसी का प्रयोग अनेक रूपों में होता रहा है जिनमें से तुलसी की चाय प्रमुख है। इस लेख में हम तुलसी की चाय के लाभों के विषय में विस्तृत चर्चा करेंगे।

तुलसी की चाय के लाभ:

1. डायबिटीज़ के लिए

जो लोग डायबिटीज़ की बीमारी से जूझ रहे हैं, तुलसी की चाय उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं है। नियमित रूप से तुलसी की चाय पीने पर शरीर में शुगर का स्तर चमत्कारिक रूप से कम हो जाता है।

तुलसी हमारे शरीर की उपपचयी क्रियाओं को सुचारू रूप से चलाने में सहायता करता है जिससे की शुगर के कण ऊर्जा में परिवर्तित हो जाते हैं और शुगर का स्तर सामान्य रहता है।

2. प्रतिरक्षा तंत्र के लिए

तुलसी की चाय हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मज़बूत बनाता है जिससे की शरीर की अनेक रोगों से रक्षा होती है। तुलसी में कई ऐसे औषधीय गुण है, जो शरीर को हानिकारक कणों से बचाते हैं। नियमित रूप से तुलसी की चाय का सेवन करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है।

3. त्वचा एवं बालों के लिए

तुलसी की चाय में ऐंटीआक्सिडंट गुण पाए जाते हैं जो शरीर के हानिकारक तत्वों का नाश करती है जिससे कि हमारी त्वचा स्वस्थ रहती है।तुलसी की चाय में पॉलीफेनॉल पाया जाता है जो त्वचा को दाग़-धब्बो व झुर्रियों से बचाता है। (यह भी पढ़ें: त्वचा को गोरा करने के उपाय)

तुलसी की चाय बालों की जड़ों को ड्राई होने से बचाती है जिससे बाल झड़ने की समस्या से निजात मिलती है।

4. पाचन क्रिया के लिए

तुलसी की चाय के सेवन से पाचन क्रिया सुचारू रूप से चलती रहती है। कार्बोहाइड्रट, लिपिड तथा प्रोटीन आदि की पाचन प्रक्रिया अत्यंत जटिल होती है किंतु नियमित रूप से तुलसी की चाय पीने से इन तत्वों का पाचन सरलता से हो जाता है।

5. कैंसर के लिए

तुलसी की चाय के नियमित सेवन से कैंसर की सम्भावनाओं में कमी आती है। तुलसी कैंसर को जन्म देने वाली अनियंत्रित कोशिकाओं को बढ़कर विभाजित होने से रोकता है और कैंसर से शरीर की रक्षा करता है।

6. सिर दर्द के लिए

आजकल कार्य और भागदौड़ से भरे जीवन की वजह से हर व्यक्ति बेचैनी और तनाव से ग्रसित है और इस कारण उन्हें अक्सर सिर दर्द की समस्या से दो चार होना पड़ता है। किंतु तुलसी की चाय पीने से इस समस्या से निजात मिलती है। तुलसी की चाय ना केवल सिर दर्द से राहत देती है अपितु तनाव को भी कम करती है।

7. मुँह और दाँतो के लिए

तुलसी एंटीमाइक्रोबियल गुणो से परिपूर्ण होता है जोकि दाँतो व मुँह के कीटाणुओं से लड़तें हैं और इनकी बीमारियों से रक्षा करते हैं।

इसके अतिरिक्त तुलसी की चाय माउथ फ़्रेशनर का भी कार्य करती है और साँस की बदबू को दूर करती है। यह मुँह को अल्सर अथवा ज़ख़्म से भी बचाती है।

यद्यपि तुलसी की चाय हमारे मुँह और दाँतो के लिए लाभदायक होती है किंतु तुलसी की पत्तियों को चबाने से बचना चाहिए क्योंकि यह दाँतो के एनामेल को हानि पहुँचा सकता है।

8. बुखार व ज़ुकाम के लिए

तुलसी हमारे इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाता है जिससे कि शरीर की रोगों से रक्षा होती है। तुलसी की चाय पीने से शरीर में हानिकारक तत्वों का स्तर तेज़ी से कम होता है जिससे कि मस्तिष्क को आराम की अनुभूति होती है।

एंटीऑक्सिडंट गुणों से परिपूर्ण होने के कारण तुलसी बुखार और ज़ुकाम के लिए ज़िम्मेदार सूक्ष्म-कणों से लड़ने में सक्षम होती है और शरीर की बुखार या ज़ुकाम से रक्षा करती है।

9. हृदय के लिए

तुलसी की चाय में मैगनेशियम की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जोकि हृदय रोगों के विरुद्ध लड़ने का कार्य करती है। मैगनेशियम रक्त संचरण की प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने में सहायक होता है और रक्त में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बढ़ने से रोकता है। इस प्रकार धमनियों में वसा का जमाव नहीं हो पाता है और हृदय आघात जैसे रोगों से शरीर की रक्षा होती है।

10. जोड़ों के दर्द के लिए

तुलसी की चाय जोड़ों के दर्द में चमत्कारिक रूप से आराम पहुँचाती है। एंटी-इन्फ़्लामेटरी और एंटी-ऑक्सिडंट गुणों से परिपूर्ण होने के कारण तुलसी की चाय जोड़ों के दर्द लिए एक दर्द निवारक कार्य करती है और अर्थरिटिस जैसे रोगों से मुक्ति दिलाती है।

11. वज़न घटाने के लिए

तुलसी की चाय उपपचन की प्रक्रिया को सुदृढ़ बनाती है जिससे कि अतिरिक्त वसा का उपयोग पाचन के लिए आवश्यक ऊर्जा में हो जाता है और वज़न घटना शुरू हो जाता है।

तुलसी की चाय शरीर में शुगर का स्तर भी नियंत्रित करती है और शरीर में अनावश्यक चरबी को जमा होने से रोकती है। इस प्रकार शरीर में मोटापा नहीं होता है।

12. धूम्रपान की लत के लिए

अधिकतर यह देखा गया है कि व्यक्ति चिंता और तनाव को कम करने के लिए सिगरेट पीना आरम्भ कर देता है जोकि स्वास्थ्य को गंभीर रूप प्रभावित करती है।तुलसी की चाय पीने से इस भयंकर लत से छुटकारा मिल सकता है।

तुलसी की चाय पीने से तनाव और चिंता की मात्रा में असाधारण रूप से गिरावट आती है जिस कारण व्यक्ति को धूम्रपान करने की आवश्यकता महसूस नहीं होती है।

13. श्वशन सम्बंधी समस्याओं के लिए

यदि आप कफ, खाँसी, ज़ुकाम, अस्थमा या ब्रोनकाईटिस से ग्रसित हैं तो आपको नियमित रूप से तुलसी की चाय का सेवन करना चाहिए क्योंकि तुलसी हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को सुदृण बनाता है जिससे कि हमारा शरीर कफ, खाँसी, ज़ुकाम या अन्य श्वसन सम्बंधी बीमारियों से लड़ने में सक्षम हो जाता है।

इस प्रकार हम तुलसी की चाय के लाभों को देख सकतें हैं। तुलसी ना केवल वातावरण को शुद्ध रखता है बल्कि हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक तत्वों का भी नाश करता है। इस तरह तुलसी की चाय के नियमित सेवन से हम स्वस्थ जीवन का आनंद ले सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि आप इस लेख के द्वारा तुलसी की चाय फ़ायदों के विषय में जान चुके होंगे। यदि आप का कोई प्रश्न है तो आप उसे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हम आपके प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयत्न करेंगे और सदा आपकी सहायता के लिए उपस्थित रहेंगे।

About the author

नायला हाशमी

2 Comments

Click here to post a comment

  • मैं रोज़ सुबह उठते ही तुलसी की चाई ओईता हूँ इससे मैं एक दम फ्रेश फील करता हूँ ओर पूरे दिन एक्टिव रहता हूं. मैं सभी को ये सजेस्ट करूंगा.

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!