दा इंडियन वायर » लोग » करिश्मा कपूर की जीवनी
लोग

करिश्मा कपूर की जीवनी

Karishma Kapoor's Biography

करिश्मा कपूर भारतीय फिल्मो की जानी मानी अभिनेत्री हैं। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से बहुत लोकप्रियता हासिल की है। करिश्मा एक समय पर भारतीय फिल्मो में अभिनय करने वाली सबसे महंगी अभिनेत्री के रूप में जानी जाती थी। करिश्मा ने साल 1990 से साल 2000 के दशक तक जितनी भी फिल्मो में अभिनय किया था, उनमे से लगभग सभी ब्लॉकबस्टर फिल्म के रूप में गिनी जाती थी।

करिश्मा कपूर के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘दीदार’, ‘जिगर’, ‘शक्तिमान’, ‘राजा बाबू’, ‘अंदाज़ अपना अपना’, ‘कुली न. 1’, ‘राजा हिन्दुस्तानी’, ‘जुड़वाँ’, ‘हीरो न. 1’, ‘दिल तो पागल है’, ‘बीवी न. 1’, ‘फ़िज़ा’, ‘रिश्ते’, ‘हम तो मोहब्बत करेंगा’ जैसी कई हिट फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शाया है।

करिश्मा कपूर का प्रारंभिक जीवन

करिश्मा कपूर का जन्म 25 जून 1974 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। उन्होंने हिंदी सिनेमा के मशहूर ‘कपूर’ परिवार में जन्म लिया था। करिश्मा के पिता का नाम ‘रणधीर कपूर’ है जो एक मशहूर अभिनेता रह चुके हैं। उनकी माँ का नाम ‘बबिता’ है जो हिंदी फिल्मो की अभिनेत्री रह चुकी हैं। करिश्मा की एक छोटी बहन हैं जिनका नाम ‘करीना कपूर‘ है। करीना भी हिंदी फिल्मो की प्रसिद्ध अभिनेत्री के रूप में जानी जाती हैं।

करिश्मा ने अपने स्कूल की पढाई ‘द कैथेड्रल एंड जॉन केनन स्कूल’, मुंबई से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने ‘सोफी कॉलेज’, मुंबई में अपना दाखिला आगे की पढाई पढ़ने के लिए कराया था, लेकिन उन्होंने कॉलेज आधे में ही छोड़ दिया था। करिश्मा को प्यार से बुलाने वाला नाम ‘लोलो’ है।

करिश्मा कपूर को बचपन से ही अभिनेत्री बनना था लेकिन उनके पिता इस बात के सख्त खिलाफ थे। रणधीर को लगता था ही औरतो की ज़िम्मेदारी घर की ज़्यादा होती हैं। इन सब बातो के चलते करिश्मा ने साल 1988 में अपने घर को छोड़ कर अलग बैठने का फैसला लिया था। रणधीर और बबिता भी एक दूसरे से अलग हो गए थे और करीना की परवरिश उनकी माँ ने अकेले की थी। साल 2007 में रणधीर और बबिता फिर एक बार साथ रहने लगे थे।

व्यवसाय जीवन

करिश्मा कपूर का फिल्मो का शुरुआती सफर

करिश्मा कपूर ने अपने अभिनय के व्यवसाय की शुरुआत साल 1991 से की थी। उन्होंने सबसे पहले फिल्म ‘प्रेम क़ैदी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. मुराली मोहन राओ’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘नीलिमा’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 1992 में करिश्मा को सबसे पहले फिल्म ‘पुलिस ऑफिसर’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अशोक गेक्वार्ड’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘बिजली’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में करिश्मा के साथ परेश रावल और जैकी श्रॉफ ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘जागरुक्ति’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘सुरेश कृष्णा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘शालू’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उसी साल करिश्मा ने फिल्म ‘सपने साजन के’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में करिश्मा ने ‘ज्योति’ नाम का किरदार अभिनय किया था। उस साल का अंत करिश्मा ने फिल्म ‘जिगर’ के साथ किया था। उस फिल्म के निर्देशक ‘फ़ारुक सिद्दीकी’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘सुमन’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 1993 में करिश्मा ने सबसे पहले फिल्म ‘अनारी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. मुराली मोहन राओ’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘राजनन्दी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में करिश्मा के साथ विक्टोरी वेंकटेश ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। करिश्मा ने उसी साल फिल्म ‘मुक़ाबला’ में भी अभिनय किया था जिसमे उन्होंने ‘करिश्मा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में करिश्मा ने गोविंदा के साथ मुख्य किरदार दर्शाया था।

उस साल करिश्मा को फिल्म ‘संग्राम’ में अभिनेता अजय देवगन के साथ अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘लॉरेंस डि’सूज़ा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘मधु’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उसी साल करिश्मा को फिल्म ‘शक्तिमान’ और ‘धनवान’ में देखा गया था। दोनों ही फिल्मो में करिश्मा ने अभिनेता अजय देवगन के साथ मुख्य किरदार को दर्शाया था।

करिश्मा कपूर का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1994 में करिश्मा ने फिल्म ‘प्रेम शक्ति’ के साथ साल की शुरुआत की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘शिब्बू मित्रा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘गौरी’ और ‘करिश्मा’ नाम का ही किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को करिश्मा कपूर, गोविंदा, कादर खान, शक्ति कपूर और राजा मुराद ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘राजा बाबू’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘मधू’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को करिश्मा, गोविंदा और कादर खान ने ही अभिनय किया था।

उसी साल करिश्मा कुछ और हिट फिल्मो का हिस्सा बनी थीं। फिल्म ‘अंदाज़’ में करिश्मा ने ‘जया’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘अंदाज़ अपना अपना’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘करिश्मा’ और ‘रवीना’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में करिश्मा के साथ सलमान खान, आमिर खान और रवीना टंडन ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल करिश्मा ने फिल्म ‘यह दिल्लगी’, ‘आतिश’, ‘सुहाग’ गोपी किशन’ और ‘खुद्दार’ में भी अभिनय किया था।

साल 1995 में सबसे पहले करिश्मा ने फिल्म ‘जवाब’ में अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक ‘अजय कश्यप’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘सुमन’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उस साल करिश्मा को फिल्म ‘कुली न. 1’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ हैं और फिल्म में करिश्मा ने ‘मालती’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को करिश्मा कपूर, कादर खान और गोविंदा ने अभिनय किया था।

साल 1996 की शुरुआत करिश्मा ने फिल्म ‘पापी गुड़िआ’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘लॉरेंस डि’सूज़ा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘करिश्मा’ नाम के ही किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘मेघा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मोहनजी प्रसाद’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘मेघा’ नाम का ही किरदार अभिनय किया था। इसके बाद करिश्मा ने गोविंदा, कादर खान और तब्बू के साथ फिल्म ‘साजन चले ससुराल’ में भी अभिनय किया था। फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘पूजा’ था।

करिश्मा कपूर का फिल्मो का सफल सफर

उसी साल की एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म की बात करे तो उस साल करिश्मा ने फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘आरती सहगल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में पहले करिश्मा की जगह पर अभिनेत्री ऐश्वर्या राय को कास्ट किया गया था लेकिन बाद में यह किरदार करिश्मा को मिला था। फिल्म में करिश्मा ने अभिनेता आमिर खान के साथ अभिनय किया था।

साल 1997 में सबसे पहले करिश्मा ने फिल्म ‘जुड़वाँ’ में अभिनेय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘माला शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को सलमान खान, करिश्मा कपूर और राम्भा ने दर्शाया था। इसके बाद उसी साल करिश्मा को फिल्म ‘हीरो न. 1’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने अभिनेता गोविंदा के साथ ‘मीरा नाथ’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

उस साल की एक और हिट फिल्म की बात करे तो उसी साल करिश्मा को फिल्म ‘दिल तो पागल है’ में देखा गया था। इस फिल्म में करिश्मा से पहले रवीना टंडन, जूही चावला, काजोल, मनीषा कोइराला और शिल्पा शेट्टी को कास्ट करने की कोशिश की गई थी। उन सबके मना करने के बाद करिश्मा को फिल्म में कास्ट किया गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘यश चोपड़ा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘निशा संधू’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 1999 की शुरुआत करिश्मा ने फिल्म ‘सिलसिला है प्यार का’ के साथ की थी। इस फिल्म में उन्होंने ‘वंशिका माथुर’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘श्राबनि देओधर’ थे। फिल्म में मुख्य किरदारों को करिश्मा कपूर, चंद्रचूर सिंह और डेन्नी ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘जानवर’ में भी देखा गया था।

करिश्मा ने साल 1999 में कई सारी हिट फिल्मो में अभिनय किया था। उस साल की उनकी पहली हिट फिल्म ‘बीवी न. 1’ था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘हसीना मान जाएगी’ और ‘हम साथ- साथ हैं’ में भी मुख्य किरदारों को दर्शाया था। यह साल करिश्मा के लिए सबसे सफल साल साबित हुआ था।

साल 2000 में करिश्मा ने फिल्म ‘दुल्हन हम ले जाएंगे’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘सपना’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में करिश्मा कपूर और सलमान खान की जोड़ी देखने को मिली थी। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘चल मेरे भाई’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक भी ‘डेविड धवन’ ही थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘सपना’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में करिश्मा कपूर, सलमान खान और संजय दत्त ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था।

उसी साल करिश्मा ने फिल्म ‘फ़िज़ा’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘फ़िज़ा इकरामुल्लाह’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘खालिद मुहम्मद’ थे। फिल्म में मुख्य किरदारों को करिश्मा कपूर, ऋतिक रोशन और जया बच्चन ने अभिनय किया था। इसके बाद उस साल का अंत करिश्मा ने फिल्म ‘शिकार’ के साथ किया था जिसमे उन्होंने ‘राजेश्वरी रावल’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2001 में करिश्मा ने फिल्म ‘ज़ुबैदा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘ज़ुबैदा’ नाम का ही किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘श्याम बेनेगल’ थे। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को रेखा, करिश्मा कपूर और मनोज बाजपेयी ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘आशिक़’ में भी अभिनय किया था। फिल्म में करिश्मा ने ‘पूजा’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे। इसके बाद करिश्मा ने फिल्म ‘एक रिश्ता: द बांड ऑफ़ लव’ में भी अभिनय किया था।

साल 2002 में सबसे पहले करिश्मा ने फिल्म ‘हाँ मैंने भी प्यार किया’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘पूजा कश्यप’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उस साल की करिश्मा की दूसरी फिल्म का नाम ‘शक्ति: द पावर’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘कृष्णा वामसी’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘नंदिनी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। साल का अंत करिश्मा ने फिल्म ‘रिश्ते’ के साथ किया था।

साल 2003 में करिश्मा ने फिल्म ‘बाज़: ए बर्ड इन डेंजर’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘टिन्नू वर्मा’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘नेहा चोपड़ा’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2006 में भी करिश्मा ने एक ही फिल्म में अभिनय किया था। इस फिल्म का नाम ‘मेरे जीवन साथी’ था और फिल्म में करिश्मा ने ‘नताशा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक ‘सुनील दर्शन’ थे और फिल्म में मुख्य किरदारों को अमीषा पटेल, करिश्मा कपूर और अक्षय कुमार ने अभिनय किया था।

साल 2011 में करिश्मा ने फिल्म ‘बॉडीगार्ड’ में ‘छाया’ के किरदार को अपनी आवाज़ दी थी। इसके बाद साल 2012 में करिश्मा ने फिल्म ‘डेंजरस इश्क़’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘विक्रम भट्ट’ थे और फिल्म में करिश्मा ने ‘संजना’, ‘गीता’, ‘सल्मा’ और ‘पारो’ नाम के किरदारों को दर्शाया था।

साल 2018 में भी करिश्मा को फिल्म ‘जीरो’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने अपनी एक मुख्य उपस्थिति दर्शाई थी।

पुरस्कार और उपलब्धियां

  • साल 1997 में फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1998 में फिल्म ‘दिल तो पागल है’ के लिए ‘बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर – फीमेल’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2001 में फिल्म ‘फ़िज़ा’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2002 में फिल्म ‘ज़ुबैदा’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस – क्रिटिक्स’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2003 में फिल्म ‘शक्ति: द पावर’ के लिए ‘मोस्ट सेंसेशनल एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।

करिश्मा कपूर का निजी जीवन

करिश्मा कपूर के लव लाइफ की बात करे तो उन्होंने सबसे पहले अभिनेता अजय देवगन को डेट करना शुरू किया था। इन दोनों का रिश्ता बहुत ही सीरियस था, लेकिन फिर अजय ने काजोल से शादी करने का मन बनाया, जिसके बाद करिश्मा का दिल टुटा था। अजय के बाद करिश्मा ने अभिनेता अभिषेक बच्चन को डेट किया था। करिश्मा और अभिषेक की सगाई भी हुई थी लेकिन करिश्मा की माँ की वजह से उस सगाई को तोड़ना पडा था।

इसके बाद उन्होंने बिजनसमैन ‘संजय कपूर’ के साथ साल 2003 में शादी की थी। संजय और करिश्मा के एक बेटे हैं और एक बेटी हैं। उनके बेटे का नाम ‘किआन राज कपूर’ है और उनकी बेटी का नाम ‘समाइरा कपूर’ है। करिश्मा और संजय ने साल 2013 में एक दूसरे से अलग होने का फैसला लिया था और साल 2014 तक दोनों का तलाख भी हो गया था। करिश्मा का फिलहाल नाम ‘संदीप तोषनीवाल’ के साथ जोड़ा जा रहा है। संदीप तोषनीवाल पेशे से एक बिज़नसमैन हैं।

करिश्मा कपूर के पसंदीदा चीज़ो की बाद करे तो उन्हें खाने में केक्स, चिप्स और बिरयानी पसंद है। करिश्मा के पसंदीदा अभिनेता शाहरुख़ खान, आमिर खान और ब्रैड पीट हैं। अभिनेत्रियों में करिश्मा को नरगिस और मीना कुमारी पसंद हैं। करिश्मा की पसंदीदा घूमने की जगह लंदन और पैरिस हैं।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.3 / 5. कुल रेटिंग : 187

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!