दा इंडियन वायर » लोग » आमिर खान की जीवनी
लोग

आमिर खान की जीवनी

Aamir khan Biography

आमिर ख़ान भारतीय फिल्मो के मशहूर अभिनेता हैं। उन्होंने अपने व्यवसाय जीवन की शुरुआत एक अभिनेता के रूप में ही की थी लेकिन धीरे धीरे उन्हें निर्देशक, निर्माता, लेखक, गायक और होस्ट के रूप में भी काम करते हुए देखा जाने लगा है। उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत साल 1973 से की थी।

आमिर खान द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘यादों की बरात’, ‘क़यामत से क़यामत तक’, ‘दिल’, ‘राजा हिंदुस्तानी’, ‘सरफ़रोश’, ‘लगान’, ‘फ़ना’, ‘रंग दे बसंती’, ‘तारे ज़मीन पर’, ‘घजिनी’, ‘3 इडियट’, ‘धूम 3’, ‘पीके’, ‘दंगल’, ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दुस्तान’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ जैसी फिल्मो में अभिनय किया है।

आमिर ख़ान ने अपने अभिनय की वजह से कई सारे अवार्ड्स को अपने नाम किया है। अभिनय के अलावा भी उन्हें कई सारे सम्मानों से सम्मानित किया गया है। आमिर खान के टीवी शोज की बात करे तो उन्होंने ‘सत्यमेव जयते’ नाम के एक टीवी शो को होस्ट किया था जिसे दर्शको बहुत पसंद किया था।

आमिर खान का प्रारंभिक जीवन

आमिर खान का जन्म 14 मार्च 1965 को बॉम्बे, महाराष्ट्र में हुआ था। उन्होंने एक मुस्लिम परिवार में जन्म लिया था। आमिर खान के पिता का नाम ‘ताहिर हुसैन’ था जो पेशे से एक फिल्म निर्माता थे। ताहिर का दिहंत साल 2010 हो चूका है। आमिर की माँ का नाम ‘ज़ीनत हुसैन’ है। आमिर के एक भाई हैं और दो बहने हैं। उनके भाई का नाम ‘फैसल खान’ है और बहनो का नाम ‘फरहत खान’ और ‘निखत खान’ हैं।

आमिर खान का पूरा नाम ‘मुहम्मद आमिर हुसैन खान’ था जिसे उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में आने से पहले ‘आमिर खान’ में बदल दिया था। आमिर ने अपने स्कूल की पढाई ‘जे. बी. पेटिट स्कूल’, मुंबई, ‘सट. ऐनी’स हाई स्कूल, बांद्रा, मुंबई, और ‘बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल’, माहिम, मुंबई से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने ‘नरसी मोंजी कॉलेज’ से अपनी बारवी कक्षा की पढाई पूरी की थी।

आमिर खान को फिल्म इंडस्ट्री में सबसे पहले एक बाल किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। उन्हें आज बॉलीवुड इंडस्ट्री में ‘मिस्टर पर्फेक्शनिस्ट’ और ‘द चॉको बॉय’ नाम से भी बुलाया जाता है। आमिर खान ने अपनी लोकप्रियता इतनी बढ़ाई है की पिछले कुछ सालो से उनकी फिल्म 4 बिलियन, 5 बिलियन से निचे की कमाई करती ही नहीं है। उनकी फिल्म ‘पीके’ का रिकॉर्ड अभी तक कोई भी बॉलीवुड की फिल्म थोड़ नहीं पाई है जो की अपने आप में ही बहुत बड़ी बात मानी जाती है।

व्यवसाय जीवन

आमिर खान का फिल्मो का शुरुआती सफर

आमिर खान ने साल 1973 में सबसे पहले अपने अभिनय को फिल्म में दर्शाया था। उन्होंने ‘नासिर हुसैन’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘यादों की बरात’ में ‘छोटे रतन’ का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद साल 1974 में उन्होंने एक बार फिर एक बाल किरदार को दर्शाया था। इस बार आमिर ने ‘देश गौतम’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मदहोश’ में ‘छोटे राज’ का किरदार अभिनय किया था।

आमिर खान ने अपनी पढाई पूरी करने के बाद अपने व्यवसाय जीवन की शुरुआत फिल्मो में ही बनाने का सोच रखा था। उन्होंने साल 1983 से एक असिस्टेंट डायरेक्टर का काम करना शुरू किया था। उन्होंने लघु फिल्म ‘परनोईए’ में सबसे पहले असिस्टेंट डायरेक्टर का काम किया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘मंज़िल मंज़िल’ में भी अपने इस काम को बरकरार रखा था।

साल 1984 में आमिर खान के एक युवा अभिनेता के रूप में अपना डेब्यू हिंदी फिल्मो में किया था। उन्होंने ‘केतन मेहता’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘होली’ में ‘मदन शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म के बाद उन्होंने साल 1988 में ‘मंसूर खान’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘क़यामत से क़यामत तक’ में अभिनेता और एक लेखक के रूप में काम किया था। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘राज’ था। इस फिल्म में आमिर और जूही चावला ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1989 में एक बार फिर आमिर और जूही की जोड़ी को फिल्म ‘लव लव लव’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘बब्बर सुभाष’ थे। फिल्म में आमिर ने ‘अमित’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म को सिनेमा घरो में एक रोमांटिक फिल्म के रूप में पेश किया गया था। दर्शको को फिल्म बिलकुल पसंद नहीं आई थी और फिल्म को फ्लॉप लिस्ट में शामिल होना पड़ा था।

इसके बाद साल 1990 में आमिर को फिल्म ‘अव्वल नंबर’, ‘तुम मेरे हो’, ‘दीवाना मुझ सा नहीं’, ‘जवानी ज़िंदाबाद’ और ‘दिल’ में देखा गया था। इन सभी फिल्मो में से मात्र एक ‘दिल’ फिल्म को छोड़ कर बाकी सभी फिल्मे फ्लॉप फिल्मो की लिस्ट में जारी हुई थीं। फिल्म दिल को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

आमिर खान का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1991 में आमिर खान ने ‘महेश भट्ट’ की फिल्म ‘दिल है की मानता नहीं’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में आमिर ने ‘रघु जेटली’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ मुख्य किरदार को अभिनेत्री ‘पूजा भट्ट’ ने दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1992 में आमिर को तीन फिल्मो में देखा गया था जिनमे से दो फिल्मो को फ्लॉप लिस्ट में शामिल होना पड़ा था। उन फिल्मो के नाम ‘इसी का नाम ज़िंदगी’ और ‘दौलत की जंग’ था। इसके बाद साल के अंत में आमिर ने फिल्म ‘जो जीता वही सिकंदर’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मंसूर खान’ थे और फिल्म में आमिर ने ‘संजयलाल शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को आमिर खान, आयेशा झुलका, दीपक, पूजा बेदी और कुलभूषण खरबंदा ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1993 में आमिर को फिल्म ‘पहला नशा’ में एक कैमिओ किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। इसके बाद उन्होंने ‘दामिनी’ फिल्म में भी कैमिओ किरदार दर्शाया था। उसी साल आमिर ने ‘महेश भट्ट’ की फिल्म ‘हम हैं राही प्यार के’ में अभिनय किया था। फिल्म में उन्होंने ‘राहुल मल्होत्रा’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ जूही चावला को देखा गया था। फिल्म ने अपना नाम सुपरहिट फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था। इस फिल्म में उन्होंने लेखक का काम भी किया था।

साल 1994 में आमिर ने एक ही फिल्म में अभिनय किया था जिसका नाम ‘अंदाज़ अपना अपना’ था। फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में मुख्य किरदार को सलमान खान, आमिर खान, करिश्मा कपूर, रवीना टंडन, परेश रावल और शक्ति कपूर दर्शा रहे थे। आमिर का किरदार फिल्म में ‘अमर मल्होत्रा’ नाम का था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1995 में आमिर खान ने चार फिल्मो में अभिनय किया था। फिल्मो के नाम ‘बाज़ी’, ‘आतंक ही आतंक’, ‘रंगीला’ और ‘अकेले हम अकेले तुम’ थे। इनमे से सिर्फ ‘रंगीला’ फिल्म को दर्शको ने पसंद किया था जिसके निर्देशक ‘राम गोपाल वर्मा’ थे। बाकी तीनो फिल्मो को दर्शको ने फ्लॉप फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

आमिर खान का फिल्मो का सफल सफर

साल 1996 के बाद आमिर का फिल्म में सुपरस्टार बनने का सफर शुरू हुआ था। उस साल उन्होंने ‘धर्मेश दर्शन’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘राजा हिदुस्तानि’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘राजा’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ अभिनेत्री करिश्मा कपूर ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म के लिए आमिर ने कई सारे अवार्ड्स को अपने नाम भी किया था।

साल 1997 की बात करे तो उस साल आमिर खान ने ‘इंद्रा कुमार’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘इश्क़’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में आमिर ने ‘राजा अहलावत’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ फिल्म में अजय देवगन, जूही चवला और काजोल ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने अपना नाम सुपरहिट फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 1998 में आमिर को फिल्म ‘गुलाम’ में देखा गया था जिसके निर्दशक ‘विक्रम भट्ट’ थे। इस फिल्म में आमिर ने ‘सिद्धार्थ मराठे’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ फिल्म ‘रानी मुख़र्जी’ ने मुख्य किरदार दर्शाया था। फिल्म से लेकर उनके गाने तक दर्शको को बहुत पसंद आए थे। इस फिल्म से ही आमिर ने अपना डेब्यू एक गायक के रूप में किया था।

उसी साल आमिर को फिल्म ‘अर्थ’ में देखा गया था जिसके निर्देशक ‘दीप मेहता’ थे। फिल्म में आमिर ने ‘दिल नवाज़’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 1999 में आमिर को एक और हिट फिल्म में देखा गया था जिसका नाम ‘सरफ़रोश’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘जॉन मैथ्यू मत्थं’ थे और फिल्म में आमिर के किरदार का नाम ‘अजय सिंह राठोड’ था। इस फिल्म में आमिर के साथ मवाज़उद्दीन शाह, मुकेश ऋषि और सोनाली बेंद्रे ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था।

साल 2000 में आमिर को फिल्म ‘मेला’ में देखा गया था जिसके निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे। फिल्म में आमिर ने ‘किशन प्यारे’ नाम का किरदार अभिनय किया था और साथ ही फिल्म में एक गाना भी गाया था।

साल 2001 में आमिर खान दो बड़ी फिल्मो का हिस्सा बने थे। इस साल से उन्होंने एक निर्माता का काम भी शुरू कर दिया था। आमिर ने उस साल सबसे पहले फिल्म ‘लगान: वन्स अपॉन ए टाइम इन इंडिया’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘आशुतोष गोवारिकर’ थे और फिल्म में आमिर ने ‘भुवन’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में आमिर के साथ ग्रेसी सिंह और रेचल शैली ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। इस फिल्म ने ना केवल भारत में नाम और पैसा कमाया था बल्कि अंतरर्राष्ट्रीय स्तर पर भी फिल्म ने अपना नाम सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

उसी साल आमिर ने ‘फरहान अख्तर’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘दिल चाहता है’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘आकाश मल्होत्रा’ नाम का किरदार दर्शाया था और आमिर के साथ सैफ अली खान, अक्षय खन्ना, प्रीति ज़िंटा, सोनाली कर्मकार और डिंपल कपाडिया ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। इस फिल्म को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2005 में आमिर को ‘केतन मेहता’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मंगल पांडेय: द राइजिंग’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘मंगल पांडेय’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म को बॉक्स ऑफिस में सुपरहिट फिल्मो में शामिल किया गया था।

साल 2006 में भी आमिर को ‘रकेशी ओमप्रकाश महरा’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘रंग दे बसंती’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘दलजीत सिंह’ उर्फ़ ‘डीजे’ नाम का किरदार दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी।

उसी साल आमिर ने एक और सुपरहिट फिल्म में अभिनय किया था। उन्होंने हिंदी फिल्म ‘फ़ना’ में अभिनय किया था जिसके निर्देशक ‘कुणाल कोहली’ थे। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘रेहान क्वाड्री’ था और फिल्म में आमिर के साथ काजोल ने मुख्य किरदार दर्शाया था।

साल 2007 में आमिर को फिल्म ‘तारे ज़मीन पर’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म में निर्देशक, निर्माता और अभिनेता, तीनो की भूमिका आमिर खान ने खुद ही निभाई थी। इस फिल्म को कई सारे अवार्ड्स मिले थे और साथ ही आमिर ने भी कई अवार्ड्स को अपने नाम किया था।

साल 2008 में आमिर को फिल्म ‘गजिनी’ में देखा गया था जिसके निर्देशक ‘ए. आर. मुरुगादॉस’ थे। फिल्म में आमिर ने ‘संजय सिघानिया’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ अभिनेत्री असिन ने मुख्य किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ सुपरहिट फिल्मो की लिस्ट में शामिल हुई थी।

साल 2009 में आमिर ने ‘राजकुमार हिरानी’ वारा निर्देशित फिल्म ‘3 इडियट्स’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में आमिर ने ‘रणछोडदास शामलदास चांचड़’ उर्फ़ ‘रैंचो’ और ‘फुन्सुक वांगडू’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उनके साथ फिल्म में मुख्य किरदारों को माधवन, शरमन जोशी, करीना कपूर और बोमन ईरानी ने दर्शाया था। फिल्म ने उस समय की सभी फिल्मो की रिकार्ड्स को तोड़ते हुए अपना नाम अव्वल नंबर पर दर्ज किया था।

इसके बाद आमिर ने फिल्म ‘पीपली लाइवस’ और ‘धोबी घाट’ में निर्माता की भूमिका को दर्शाया था।

साल 2011 में आमिर को ‘अभिनय देओ’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘दिल्ली बेल्ली’ में देखा गया था। इस फिल्म में आमिर ने ‘डिस्को फाइटर’ का किरदार दर्शाया था। साल 2012 में आमिर को ‘तलाश: द आंसर लाइज विदइन’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म में आमिर ने ‘सुरजन सिंह शेखावत’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2013 में आमिर एक बार फिर ब्लॉकबस्टर फिल्म के साथ सिनेमा घरो में दिखाई दिए थे। इस फिल्म का नाम ‘धूम 3’ था और फिल्म के निर्देशक ‘विजय कृष्णा आचार्य’ थे। फिल्म में मुख्य किरदार को आमिर खान, अभिषेक बच्चन, कैटरीना कैफ और उदय चोपड़ा ने अभिनय किया था।

साल 2014 में आमिर ने एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार हिरानी’ थे और फिल्म का नाम ‘पीके’ था। आमिर खान के किरदार का नाम भी फिल्म में ‘पीके’ ही था। उनके साथ अनुष्का शर्मा ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में 8.54 बिलियन की कमाई की थी और इसके रिकॉर्ड को अभी तब कोई भी दूसरी बॉलीवुड की फिल्म तोड़ नहीं पाई है।

साल 2016 में आमिर खान को ‘नितेश तिवारी’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘दंगल’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने पहलवान ‘महावीर सिंह फोगट’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बहुत अच्छी कमाई की थी और नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 2018 में आमिर खान ने फिल्म ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दुतान’ में अभिनय किया था जिसके निर्देशक ‘विजय कृष्णा आचार्य’ थे। फिल्म में आमिर ने ‘फिरंगी मल्लाह’ नाम का किरदार दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने कुछ खास पसंद नहीं किया था।

आमिर खान के आने वाले फिल्मो की बात करे तो उन्हें ‘अद्वैत चन्दन’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ में देखा जायगा। फिल्म में आमिर खान ‘लाल सिंह चड्ढा’ नाम का ही किरदार दर्शाते हुए दिखाई देंगे।

आमिर खान के टीवी शो का सफर

आमिर खान ने साल 2012 में टीवी शो ‘सत्यमेव जयते’ में होस्टिंग का काम शुरू किया था। इस शो को भारतीय जनता ने बहुत पसंद किया था। यह शो एक के बाद एक, तीन सीजन तक दर्शाया गया था। साल 2014 में इस शो का आखरी सीजन दर्शाया था। साल 2012 में ही उन्होंने सोनी टीवी के शो ‘सी.आई.डी’ में भी अपनी उपस्थिति दर्शाई थी।

साल 2019 में आमिर ने शो ‘रूबरू रौशनी’ में एक निर्माता और एक कथावाचक की भूमिका दर्शाई थी। यह शो एक डॉक्यूमेंट्री शो है।

पुरस्कार और उपलब्धियां

आमिर खान ने अपने अभिनय की वजह से अभी तक कुल 65 अवार्ड्स को अपने नाम किया है। इसके अलावा उन्होंने अपनी निजी जिंदगी में कई सारे सम्मानों को हासिल किया है जिनकी जानकारी नीचे मौजूद है।

  • साल 2003 में ‘पद्मा श्री’ अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2009 में ‘राज कपूर स्मृति विशेष गौरव पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2010 में ‘पद्मा भूषण’ अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2013 में ‘आनरेरी डॉक्टरेट’ से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2017 में चाइना की सरकार की ओर से ‘नेशनल ट्रेसर ऑफ़ इंडिया’ से सम्मानित किया गया था।

आमिर खान की जीवनी पर लिखी गई किताबें

  • साल 2002 में ‘खूबचांदनी, लता’ द्वारा लिखी गई किताब ‘आमिर खान: एक्टर विद ए डिफरेंस’ थी।
  • साल 2011 में ‘डैनिएल्स, क्रिस्चन’ द्वारा लिखी गई किताब ‘आई’विल डू इट माय वे: द इन्क्रेडिबल जर्नी ऑफ़ आमिर खान’ थी।
  • साल 2014 में ‘चंद्रा, प्रदीप’ द्वारा लिखी गई किताब ‘आमिर खान: एक्टर, एक्टिविस्ट, एचीवर’ थी।

राजनीतिक विवाद:

गुजरात विवाद (2006)

2006 में, आमिर खान ने सरदार सरोवर बांध की ऊँचाई बढ़ाने के खिलाफ अपने कार्यों में, कार्यकर्ता मेधा पाटकर के नेतृत्व में, नर्मदा बचाओ आंदोलन को अपना समर्थन दिया। गुजरात में अपनी फिल्म फना का प्रचार करते हुए, उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के नर्मदा बांध को संभालने और विस्थापित ग्रामीणों के पुनर्वास की आवश्यकता के संबंध में कुछ टिप्पणियां कीं।

ये टिप्पणियां भाजपा से नाराजगी के साथ हुईं, गुजरात सरकार ने खान से माफी की मांग की। उन्होंने माफी मांगने से इनकार करते हुए कहा, “मैं वही कह रहा हूं जो सुप्रीम कोर्ट ने कहा है। मैंने केवल गरीब किसानों के पुनर्वास के लिए कहा है। मैंने बांध के निर्माण के खिलाफ कभी नहीं बोला। मैं इस मुद्दे पर अपनी टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा।”

फना का एक अनौपचारिक प्रतिबंध पूरे गुजरात राज्य के लिए लगाया गया था। फिल्म और खान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए जिसमें पुतले में स्टार के पोस्टर जलाना शामिल था। परिणामस्वरूप, कई मल्टीप्लेक्स मालिकों ने कहा कि वे ग्राहकों को सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकते। इस प्रकार, गुजरात के सभी थियेटर मालिकों ने फिल्म की स्क्रीनिंग से इनकार कर दिया।

असहिष्णुता विवाद (2015-2016)

“मुझे लगता है कि पिछले छह से आठ महीनों में निराशा की भावना बढ़ रही है। जब मैं किरण के साथ घर पर चैट करता हूं, तो वह कहती है, ‘क्या हमें भारत से बाहर जाना चाहिए?’ किरण के लिए यह एक विनाशकारी और बड़ा बयान है। वह अपने बच्चे के लिए डरती है। उसे डर है कि हमारे साथ क्या माहौल होगा। वह हर दिन अखबारों को खोलने से डरती है। ”
– खान अपनी पत्नी किरण राव के विचारों पर।

नवंबर 2015 में, खान ने उन भावनाओं को व्यक्त किया जो उन्होंने और उनकी पत्नी किरण राव ने द इंडियन एक्सप्रेस अखबार द्वारा आयोजित नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में भारत में बढ़ती असहिष्णुता के बारे में बताई थी। यह भारत में हाल की राजनीतिक घटनाओं के जवाब में था, जिसमें मुसलमानों और बुद्धिजीवियों के खिलाफ हिंसक हमले शामिल थे, साथ ही देश की सत्तारूढ़ भाजपा मोदी सरकार से तेज या कड़ी निंदा की अनुपस्थिति थी।

खान ने टिप्पणी की कि उनकी पत्नी किरण ने अपने परिवार के लिए डरते हुए, “भारत से बाहर जाने” का सुझाव दिया। भारत में असहिष्णुता के बारे में खान की टिप्पणी और उनकी पत्नी ने “भारत से बाहर जाने” का सुझाव दिया, जिससे भारतीय मीडिया में “असहिष्णुता पंक्ति” के रूप में संदर्भित राजनीतिक विवाद छिड़ गया, और सोशल मीडिया पर बहस शुरू हो गई।

खान को उनकी टिप्पणियों के लिए तीव्र प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ा, समाज के कुछ वर्गों ने उन्हें “राष्ट्र-विरोधी” कहा, जबकि अन्य ने उनकी चिंताओं के बारे में अपने समझौते को आवाज़ दी और उनकी सराहना की। सत्तारूढ़ राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस घटना को “नैतिक अपराध” कहा। विवाद के मद्देनजर, सीना पार्टी द्वारा लुधियाना में पोस्टर जलाए गए।

पंजाब के शिवसेना प्रमुख राजीव टंडन ने भी हिंसक धमकी दी, जो आमिर खान को थप्पड़ मारने वाले को 1 लाख (US $ 1,400) का इनाम देने का घोषणा की। परिणामस्वरूप, खान परिवार को अतिरिक्त पुलिस सुरक्षा दी गई थी। खान ने जवाब दिया और बैकलैश और धमकियों का जवाब देते हुए कहा, “इससे मुझे दुख होता है कि आप जो भी कर रहे हैं उससे मेरा बिंदु ही सिद्ध हो रहा है”।

बैकलैश के जवाब में, खान को कई मशहूर हस्तियों और सार्वजनिक हस्तियों से समर्थन मिला, जिसमें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता राहुल गांधी, के साथ-साथ ऋतिक रोशन, शाहरुख खान, शामिल थे। दूसरी ओर, शत्रुघ्न सिन्हा,अनुपम खेर, रवीना टंडन और विवेक ओबेरॉय सहित कई असहिष्णुता के बारे में खान की टिप्पणी की आलोचना की।

आमिर खान ने बाद में कहा कि वह देश नहीं छोड़ रहे हैं। खान और राव के खिलाफ जौनपुर में एसीजेएम द्वितीय अदालत में मुकदमा दायर किया गया था। खान को सरकार के आधिकारिक अतुल्य भारत पर्यटन अभियान के ब्रांड एंबेसडर के रूप में हटा दिया गया था। इस विवाद की वजह से स्नैपडील जिसका समर्थन आमिर खान कर रहे थे उसे बहुत विवाद झेलने पड़े।

बाद में खान ने जनवरी 2016 में अपनी टिप्पणियों को स्पष्ट करते हुए कहा कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि भारत असहिष्णु था या उसने देश छोड़ने के बारे में सोचा था, यह कहते हुए कि वह “भारत में पैदा हुआ था और भारत में मर जाएगा।” उन्होंने कहा कि उनकी टिप्पणियों को संदर्भ से बाहर कर दिया गया था और मीडिया कुछ हद तक इसके लिए जिम्मेदार था।

इसके बावजूद, उन्होंने अपनी फिल्म दंगल के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों और बहिष्कार के आह्वान के साथ, बाद में वर्ष में बैकलैश का सामना करना जारी रखा। अक्टूबर 2016 में, विश्व हिंदू परिषद ने फिल्म के विरोध में प्रदर्शन किया। दिसंबर 2016 में इसकी रिलीज़ के बाद, ट्विटर पर #BoycottDangal ट्रेंड कर रहा था, और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने फिल्म के विरोध में प्रदर्शन किया।

फिल्म के बहिष्कार के आह्वान के बावजूद, दंगल आश्चर्यजनक रूप से एक बड़ी हिट बन गई, जिसने भारत में 500 करोड़ (US $ 72 मिलियन) से अधिक की कमाई की।

आमिर खान का निजी जीवन

आमिर खान ने सबसे पहले ‘रीना दत्त’ को डेट किया था। उन दोनों ने साल 1986 में एक दूसरे से शादी भी की थी। रीमा और आमिर का एक बेटा और एक बेटी है। उनके बेटे का नाम ‘जुनैद खान’ है और उनकी बेटी नाम ‘इरा खान’ है। साल 2002 के आते आते आमिर ने रीना से अलग होने के लिए तलाख की अर्ज़ी कोर्ट में दर्ज कराइ थी और उसी साल दोनों का तलाख हो भी गया था। कोर्ट की तरफ से रीना को दोनों बच्चो की कस्टडी दी गई थी।

साल 2001 में फिल्म ‘लगान’ की शूटिंग के दौरान आमिर खान और ‘किरन राओ’ की मुलाकात हुई थी। दोनों ने एक दूसरे को उसी साल से डेट करना शुरू कर दिया था। साल 2005 में किरन और आमिर ने एक दूसरे से शादी की थी। उन दोनों ने एक बेटे को जन्म दिया है जिसका नाम ‘अज़ाद राओ खान’ है। यह बच्चा सरोगेट माँ की कोख से जन्मा था।

आमिर खान के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में दाल- चावल, भारतीय खाना और मोघलाई पकवान पसंद हैं।  उनके पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन, दिलीप कुमार, डैनेल डे लेविस और गोविंदा हैं। अभिनेत्रियों में उन्हें गीता बलि, मधुबाला और श्रीदेवी पसंद हैं। आमिर को क्रिकेट और टेनिस खेलना पसंद हैं। भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों में आमिर को सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ पसंद है। आमिर को बच्चों में पतंगों और गुब्बारों का बहुत शौक रहा है।

आप अपने विचार और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 86

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

About the author

मनीषा शर्मा

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!