दा इंडियन वायर » लोग » शाहरुख़ खान की जीवनी
लोग

शाहरुख़ खान की जीवनी

Shah Rukh Khan Biography

शाहरुख़ खान भारतीय फिल्मो के ‘किंग खान’ और ‘बादशाह’ के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से ना केवल भारत देश से बल्कि विदेशो के भी कोने कोने से लोकप्रियता को हासिल किया है। उन्होंने आज बॉलीवुड में जो मुकाम हासिल किया है वो अभी तक बहुत कम अभिनेताओं ने हासिल किया है।

शाहरुख़ के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘दीवाना’, ‘डर’, ‘बाज़ीगर’, ‘अंजाम’, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे’, ‘दिल तो पागल है’, ‘कुछ कुछ होता है’, ‘मोहब्बतें’, ‘कभी ख़ुशी कभी गम’, ‘देवदास’, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’, ‘रब ने बना दी जोड़ी’, ‘हैप्पी न्यू ईयर’, ‘माय नाम इस खान’, ‘दिलवाले’ और भी ना जाने कितने ब्लॉकबस्टर फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शाया है।

शाहरुख़ ने अपने अभिनय की वजह से कई अवार्ड्स को अपने नाम किया ही है और साथ ही अपने द्वारा हिंदी सिनेमा में दिए योगदान की वजह से भी उन्होंने कई सारे सम्मानों को अपने नाम किया है। उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत एक थिएटर में छोटे छोटे किरदारों के साथ की थी लेकिन अपनी मेहनत और अपनी ज़िद की वजह से उन्होंने आज भारतीय इंडस्ट्री में बहुत सफलता पाई है।

शाहरुख़ खान का प्रारंभिक जीवन

शाहरुख़ खान का जन्म 02 नवंबर 1965 को नई दिल्ली में हुआ था। उन्होंने एक मुस्लिम पठान परिवार में जन्म लिया था। शाहरुख़ खान के पिता का नाम ‘ताज मुहम्मद खान’ था जो पेशे से एक बिजनसमैन थे। उनकी माँ का नाम ‘लतीफ़ फातिमा’ था जो मजिस्ट्रेट और समाज सेविका थीं। शाहरुख़ की एक बड़ी बहन हैं जिनका नाम ‘शहनाज़ लालारुख’ है।

शाहरुख़ खान ने अपने स्कूल की पढाई ‘सट. कोलम्बा’स स्कूल’, दिल्ली से पूरी की थी। इसके बाद शाहरुख़ ने ‘हंसराज कॉलेज’, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से अपने ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की थी। शाहरुख़ ने मास कम्युनिकेशन (फिल्ममेकिंग) की पढाई ‘जामिआ मिलिआ इस्लामिआ यूनिवर्सिटी’, नई दिल्ली से पूरी की थी।

शाहरुख़ को बचपन में एक खिलाडी बनना था लेकिन उनके कंधे में लगी चोट की वजह से उन्होंने अपना यह फैसला बदल दिया था। इसके बाद शाहरुख़ ने अपने कॉलेज की पढाई के दौरान अपनी रूचि अभिनय की ओर परिवर्तित की थी। उन्होंने ‘नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा’ में अपना दाखिला लिया था और वह से अभिनय को सीखा था। इसके बाद उन्होंने दिल्ली के थिएटर में अपने अभिनय को दर्शन भी शुरू कर दिया था।

व्यवसाय जीवन

शाहरुख़ खान ने अपने अभिनय की शुरुआत साल 1989 से हिंदी टीवी सीरियल ‘फौजी’ के साथ की थी। इसके बाद उन्होंने सीरियल ‘दिल दरिया’, ‘उम्मीद’, ‘सर्कस’, ‘इडियट’, ‘दूसरा केवल’ में भी अपने अभिनय को दर्शाया था। शाहरुख़ ने टीवी सीरियल में अपने अभिनय को बेहतर करने के बाद फिल्मो में अभिनय करने का फैसला लिया था।

शाहरुख़ खान ने फिल्मो में अपने अभिनय का डेब्यू साल 1992 में किया था। उनकी पहली फिल्म का नाम ‘दीवाना’ था जिसके निर्देशक ‘राज कँवर’ थे। इस फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राजा सहाय’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल शाहरुख़ ने फिल्म ‘चमत्कार’, ‘राजू बन गया जेंटलमैन’ और ‘दिल आशना है’ में अभिनय किया था।

साल 1993 की शुरुआत शाहरुख़ ने फिल्म ‘माया मेमसाहब’ के साथ किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘ललित कुमार’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘केतन मेहता’ थे। उसी साल शाहरुख़ ने फिल्म ‘पहला नशा’ में एक कैमिओ किरदार भी दर्शाया था।

साल 1993 में शाहरुख़ ने एक सुपरहिट फिल्म में भी अभिनय किया था। उन्होंने फिल्म ‘बाज़ीगर’ में अपने अभिनय को दर्शको के बीच पेश किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अब्बास मस्तान’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘विक्की मल्होत्रा’ और ‘अजय शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में काजोल और शाहरुख़ ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। फिल्म ने शाहरुख़ को उनका पहला बेस्ट एक्टर का अवार्ड भी दिलाया था।

फिल्म ‘बाज़ीगर’ के बाद शाहरुख़ ने लगातार एक के बाद एक हिट फिल्मो में अभिनय किया था। साल 1994 में उन्होंने फिल्म ‘कभी हाँ कभी ना’ और ‘अंजाम’ में अभिनय किया था। इन दोनों ही फिल्मो को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1995 की शुरुअत भी शाहरुख़ ने सुपरहिट फिल्म के साथ किया था। इस फिल्म का नाम ‘करन अर्जुन’ था जिसमे शाहरुख़ और सलमान की जोड़ी को पहली बार टीवी पर देखा गया था। इस फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राहुल सिंह’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘राकेश रोशन’ थे। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘ज़माना दीवाना’, ‘गुड्डू’ और ‘ओ डार्लिंग! यह है इंडिया!’ में भी अभिनय किया था। उसी साल उन्होंने एक और ब्लॉकबस्टर रोमांटिक फिल्म में अभिनय किया था जिसका नाम ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ था। इस फिल्म में शाहरुख़ और काजोल की जोड़ी को देखा गया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और साथ ही फिल्म को एवरग्रीन फिल्मो की सूचि में भी दर्ज किया जा चूका है।

साल 1996 शाहरुख़ के लिए कुछ खास अच्छा नहीं गया था। उस साल उन्होंने फिल्म ‘इंग्लिश बाबू देसी मेम’, ‘चाहत’, ‘आर्मी’, ‘दुश्मन दुनिया का’ जैसी फिल्मो में अभिनय किया था लेकिन इनमे से कोई भी फिल्म दर्शको को पसंद नहीं आई थी।

साल 1997 में शाहरुख़ एक बार फिर सुपरहिट फिल्मो के साथ नज़र आए थे। उन्होंने उस साल फिल्म ‘यस बॉस’ में अभिनय किया था, जिसमे उन्होंने ‘राहुल जोशी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्होंने सुपरहिट फिल्म ‘परदेस’ में अभिनय किया था जहाँ उन्होंने ‘अर्जुन सागर’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

उसी साल उन्होंने तीसरी सुपरहिट फिल्म ‘दिल तो पागल है’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘यश चोपड़ा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राहुल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़, करिश्मा कपूर और माधुरी दीक्षित ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था।

साल 1998 में भी शाहरुख़ ने हिट फिल्म ‘दिल से..’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘अमरकांत वर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘मणि रत्नम’ थे। फिल्म में मुख्य किरदारों को शाहरुख़ खान और मनीषा कोइराला ने अभिनय किया था।

इसके बाद उसी साल एक बार फिर शाहरुख़ एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म के साथ दिखाई दिए थे। उस फिल्म का नाम ‘कुछ कुछ होता है’ था जिसके निर्देशक ‘करन जौहर’ थे। इस फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राहुल खन्ना’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को रानी मुख़र्जी, शाहरुख़ खान और काजोल ने दर्शाया था।

साल 1999 में शाहरुख़ ने एक ही फिल्म में अभिनय किया था जिसका नाम ‘बादशाह’ था। इस फिल्म में उन्होंने ‘राज’ उर्फ़ ‘बादशाह’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक ‘अब्बास मस्तान’ थे और फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2000 में शाहरुख़ खान ने फिल्म ‘फिर भी दिल है हिंदुस्तानी’ के साथ साल की शुरुआत की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘अज़ीज़ मिर्ज़ा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘अजय बक्शी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘हे राम’, ‘जोश’ और ‘हर दिल जो प्यार करेगा’ में अभिनय किया था।

साल 2000 की शाहरुख़ की एक और हिट फिल्म का नाम ‘मोहब्बतें’ था, जिसके निर्देशक ‘राज कँवर’ थे। इस फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राज आर्यन मल्होत्रा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अमिताभ बच्चन, शाहरुख़ खान और ऐश्वर्या राय ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 2001 में भी शाहरुख़ दो बड़ी हिट फिल्मो में दिखे थे। उस साल की पहली हिट फिल्म का नाम ‘अशोका’ था जिसके निर्देशक ‘संतोष सिवान’ थे। इस फिल्म में शाहरुख़ खान ने ‘अशोका मौर्या’ उर्फ़ ‘पवन’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़ ने एक निर्माता की भूमिका को भी निभाया था। फिल्म में शाहरुख़ और करीना कपूर की जोड़ी को देखा गया था जिसे दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

उसी साल शाहरुख़ खान ने फिल्म ‘कभी ख़ुशी कभी गम’ में अभिनय किया था जिसके निर्देशक ‘करन जौहर’ थे। फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राहुल रायचंद’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, शाहरुख़ खान, काजोल, ह्रितिक रोशन और करीना कपूर ने दर्शाया था। फिल्म को बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था।

साल 2002 की बात करे तो उन्होंने उस साल सबसे पहले सुपरहिट फिल्म ‘हम तुम्हारे है सनम’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. एस. अधियनाम’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘गोपाल’ नाम का किदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को सलमान खान, माधुरी दीक्षित और शाहरुख़ खान ने अभिनय किया था।

उसी साल उन्होंने ‘संजय लीला भंसाली’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘देवदास’ में अपने अभिनय को दर्शाया था। इस फिल्म में शाहरुख़ के किरदार का नाम ‘देवदास मुख़र्जी’ था और फिल्म में मुख्य किरदारों को ऐशवर्या राय, माधुरी दीक्षित और शाहरुख़ खान ने अभिनय किया था।

साल 2003 की सुपरहिट फिल्मो की बात करे तो उस साल शाहरुख़ ने फिल्म ‘कल हो ना हो’ में अपने अभिनय को दर्शाया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘निखिल अडवाणी’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘अमन माथुर’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़ के साथ मुख्य किरदारों को प्रीति ज़िंटा और सैफ अली खान ने अभिनय किया था।

साल 2004 की बात करे तो उस साल शाहरुख़ ने सबसे पहले सुपरहिट फिल्म ‘मैं हूँ ना’ में अभिनय किया था। इस फिल्म की निर्देशक ‘फराह खान’ थीं और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘राम प्रसाद शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में शाहरुख़ के साथ सुष्मिता सेन, ज़ायेद खान, अमृता राव ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

उसी साल उन्होंने दूसरी सुपरहिट फिल्म ‘वीर-ज़ारा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘यश चोपड़ा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘वीर प्रताप सिंह’ नाम का किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म एक सुपरहिट रोमांटिक ड्रामा फिल्म थी और फिल्म में शाहरुख़ के साथ प्रीति ज़िंटा ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। फिल्म को बॉक्स ऑफिस में ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था।

साल 2006 की बात करे तो उस साल शाहरुख़ को फिल्म ‘कभी अलविदा ना कहना’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘करन जौहर’ थे और फिल्म में मुख्य किरदारों को शाहरुख़ खान, रानी मुख़र्जी, प्रीति ज़िंटा और अभिषेक बच्चन ने अभिनय किया था। फिल्म में शहरुह के किरदार का नाम देव सरन था।

उसी साल उन्होंने एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म में अभिनय किया था जिसका नाम ‘डॉन: द चेस बेगिंस अगेन’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘फरहान अख्तर’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘डॉन’ और ‘विजय’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बेहतरीन कमाई की थी।

साल 2007 की बात करे तो उस साल शाहरुख़ ने सबसे पहले फिल्म ‘चक दे! इंडिया’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘शिमित अमिन’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने कोच ‘कबीर खान’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

इसके बाद उसी साल शाहरुख़ ने ‘फरान खान’ द्वारा निर्देशित फिल्म ‘ओम शांति ओम’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़ ने ‘ओम’ नाम के किरदार को दर्शाया था और साथ ही उनके साथ अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने मुख्य किरदार को दर्शाया था।

साल 2008 में शाहरुख़ को फिल्म ‘रब ने बना दी जोड़ी’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘आदित्य चोपड़ा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘सुरिंदर साहनी’ और ‘राज कपूर’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़ के साथ अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में अच्छी कमाई की थी।

साल 2010 में शाहरुख़ ने सुपरहिट फिल्म ‘माय नेम इस खान’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘करन जौहर’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘रिज़वान खान’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में शाहरुख़ के साथ अभिनेत्री काजोल ने मुख्य किरदार को दर्शाया था।

साल 2011 की सुपरहिट फिल्म की बात करे तो उस साल शाहरुख़ ने फिल्म ‘रा वन’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनुभव सिन्हा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘जी वन’ और ‘शेखर सुब्रमण्यम’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में शाहरुख़ के साथ करीना कपूर ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म को ज़्यादा बजट की फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था और साथ ही फिल्म ने ब्लॉकबस्टर कमाई की थी। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

उसी साल शाहरुख़ ने फिल्म ‘डॉन 2’ में अभिनय किया था जिसके निर्देशक ‘फरहान अख्तर’ थे। फिल्म में शाहरुख़ ने ‘डॉन’ नाम का किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म साल 2006 में आई फिल्म ‘डॉन’ का दूसरा भाग था जिसे दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2012 और साल 2013 की सुपरहिट फिल्मो की बात करे तो उन सालो में शाहरुख़ को फिल्म ‘जब तक है जान’ और ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ में देखा गया था। दोनों की फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और दोनों ही फिल्मो ने बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम सुपरहिट फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था। फिल्म ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ साल 2013 की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म के रूप में दर्ज हुई थी।

साल 2014 में भी शाहरुख़ ने सुपरहिट फिल्म ‘हैप्पी न्यू ईयर’ में अभिनय किया था। इस फिल्म की निर्देशक ‘फराह खान’ थीं और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘चार्ली’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म ने दर्शको का बहुत प्यार पाया था और फिल्म को बॉक्स ऑफिस में सुपरहिट फिल्मो की सूचि में अपना नाम दर्ज भी कराया था।

साल 2015 में भी शाहरुख़ ने फिल्म ‘फैन’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मनीष शर्मा’ थे और फिल्म में शाहरुख़ ने ‘आर्यन खन्ना’ और ‘गौरव चांदना’ नाम के किरदारों को दर्शाया था। इस फिल्म को बॉक्स ऑफिस में सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था लेकिन दर्शको ने फिल्म को कुछ खास पसंद नहीं किया था।

साल 2016 में शाहरुख़ ने तीन फिल्मो में कैमिओ किरदारों को दर्शाया था। उन्होंने फिल्म ‘तूतक तूतक तूतिया’, ‘ऐ दिल है मुश्किल’ और ‘डिअर ज़िंदगी’ में काम किया था।

साल 2017 में शाहरुख़ खान एक बार फिर एक बड़ी फिल्म के साथ दिखे थे। उन्होंने उस साल फिल्म ‘रईस’ में अभिनय किया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बहुत खराब प्रदर्शन किया था। फिल्म को दर्शको ने कुछ खास पसंद नहीं किया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘जब हेर्री मेट सेजल’ में अभिनय किया था जो की एक बार फिर फ्लॉप फिल्मो की सूचि में शामिल हुई थी।

साल 2018 में भी शाहरुख़ खान ने फिल्म ‘जीरो’ में अभिनय किया था। उनकी यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस में फ्लॉप फिल्मो की सूचि में शामिल हुई थी। इसके बाद साल 2019 में शाहरुख़ ने फिल्म ‘द ज़ोया फैक्टर’ में एक कथावाचन का काम किया था।

पुरस्कार और उपलब्धियां

शाहरुख़ खान ने अपने अभिनय की वजह से अभी तक कुल 297 अवार्ड्स को अपने नाम किया है। इसी के साथ उनके द्वारा भारतीय फिल्मो में दिए उनके योगदान की वजह से भी शाहरुख़ ने कई सारे सम्मानों को हासिल किया है। उनमे से कुछ की जानकारी नीचे मौजूद है।

  • साल 2005 में ‘पद्मा श्री’ अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2012 में ‘असिअनेट फिल्म अवार्ड्स’ द्वारा ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड्स’ से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2014 में ‘असिअनेट फिल्म अवार्ड्स’ द्वारा ‘इंटरनेशनल आइकॉन ऑफ़ इंडियन सिनेमा’ के अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2015 में ‘द एशियाई अवार्ड्स’ द्वारा ‘ऑउटस्टैंडिंग कंट्रीब्यूशन सिनेमा’ के अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

शाहरुख़ खान का निजी जीवन

शाहरुख़ खान के गौरी से साल 1991 में शादी की थी। दोनों ने लगभग 6 सालो तक एक दूसरे से प्यार किया था। गौरी खान पेशे से ‘फिल्म निर्माता’ और ‘इंटेरियर डिज़ाइनर’ हैं। शाहरुख़ और गौरी के तीन बच्चे हैं जिनका नाम ‘आर्यन खान’, ‘अब्राम खान’ और ‘सुहाना खान’ है। अब्राम खान का जन्म सरोगेट माँ की मदत से पैदा किया गया था।

शाहरुख़ खान के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में तंदूरी चिकन और चाइनीस पसंद है। उनके पसंदीदा अभिनेता दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन हैं और अभिनेत्रीयों में उन्हें मुमताज़ और सायरा बनु पसंद हैं। शाहरुख़ का पसंदीदा रंग नीला, काला और सफ़ेद हैं। शाहरुख़ खान को ज़्यादा तर अभिनेताओं में संजय दत्त, जैकी श्रॉफ और अनिल कपूर के साथ फिल्मो में देखा जाता है और अभिनेत्रियों की बात करे तो शाहरुख़ माधुरी दीक्षित, काजोल और जूही चावला के साथ काम करना ज़्यादा पसंद करते हैं।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 86

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

About the author

मनीषा शर्मा

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!