दा इंडियन वायर » लोग » जॉनी लीवर की जीवनी
लोग

जॉनी लीवर की जीवनी

Johnny Lever's Biography

जॉनी लीवर (Johnny Lever) भारतीय फिल्मो के लोकप्रिय अभिनेता हैं। जॉनी की पहचान ना केवल एक अच्छे अभिनेता के रूप में ही की जाती है बल्कि जॉनी को एक बेहतरीन कॉमेडियन के रूप में भी जाना जाता है। जॉनी ने अपने व्यवसाय जीवन की शुरुआत एक कॉमेडियन के रूप में ही की थी। जॉनी को बॉलीवुड का ‘मिस्टर कॉमेडियन’ कहा जाता है।

जॉनी के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘तेज़ाब’, ‘जादूगर’, ‘खिलाडी’, ‘करन अर्जुन’, ‘राजा हिंदुस्तानी’, ‘जुदाई’, ‘दीवाना मस्ताना’, ‘मिस्टर खिलाडी’, ‘इश्क़’, ‘दूल्हे राजा’, ‘हम आपके दिल में रहते हैं’, ‘फिर भी दिल है हिंदुस्तानी’, ‘फ़र्ज़’, ‘आवारा पागल दीवाना’, ‘मैं प्रेम की दीवानी हूँ’, ‘आल द बेस्ट: फन बेगिन्स’, ‘गोलमाल 3’, ‘हाउसफुल 2’, ‘खिलाडी 786’, ‘एंटरटेनमेंट’, ‘जुड़वा 2’, ‘टोटल धमाल’, ‘हाउसफुल 4’ जैसी बड़ी बड़ी फिल्मो में अपनी कॉमेडी से लोगो का मनोरंजन किया है।

जॉनी लीवर का प्रारंभिक जीवन

जॉनी लीवर का जन्म 14 अगस्त 1957 को कनिगिरि, आंध्र प्रदेश में हुआ था। जॉनी ने तेलुगु क्रिस्चन परिवार में जन्म लिया था। जॉनी के पिता का नाम ‘प्रकाश राओ जनुमाला’ था जो ‘हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड’ के ऑपरेटर थे। उनकी माँ का नाम ‘करुणम्मा जनुमाला’ था। जॉनी के दो भाई है और तीन बहने है। अभिनेता, गायक और कॉमेडियन ‘जिम्मी मोसेस’ जॉनी के छोटे भाई हैं।

जॉनी का असल नाम ‘जॉन प्रकाश राओ जनुमाला’ था जिसे उन्होंने बाद में बदल कर जॉनी लीवर किया था। जॉनी ने अपने स्कूल की पढाई ‘आंध्र एजुकेशन सोसाइटी इंग्लिश हाई स्कूल’, आंध्र प्रदेश से 7 कक्षा तक की पढाई पूरी थी। इसके बाद जॉनी ने अपनी पढाई छोड़ने का फैसला लिया था। जॉनी ने अपनी पढाई छोड़ने के बाद सड़को पर पैन बेचना और हिंदी गानों में नाचना शुरू किया था।

व्यवसाय जीवन

जॉनी लीवर का शुरुआत सफर

जॉनी ने व्यवसाय जीवन की शुरुआत एक कॉमेडियन के रूप में ही की थी। उन्होंने सबसे पहले अपनी पिता की कंपनी ‘हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड’ में कुछ लोगो की मिमिक्री की थी, जिसे वहां काम करने वाले कर्मचारियों ने बहुत पसंद किया था। उन लोगो ने जॉनी को जॉन राओ नहीं बल्कि जॉनी लीवर कहना शुरू किया था और इसके बाद ही जॉनी ने फिल्मो में आने से पहले अपना नाम जॉनी लीवर रखा था।

जॉनी ने कई शोज में कॉमेडी की है। उन्होंने अपनी लोकप्रियता विदेशो में जाकर भी बहुत बढ़ाई है। जॉनी के इस हुनर को अभिनेता ‘सुनील दत्त’ ने आगे बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था और उन्हें अपनी फिल्म ‘दर्द का रिश्ता’ में अभिनय करने की सलाह दी थी।

जॉनी लीवर का फिल्मो का सफर

जॉनी ने फिल्मो में अपने अभिनय की शुरुआत साल 1986 में की थी। उनकी पहली फिल्म का नाम ‘लव 86’ था, जिसमे उन्होंने ‘उत्तम’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘इस्माईल श्रॉफ’ थे और फिल्म में जॉनी ने कॉमेडियन के रूप में भी अभिनय किया था। उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘मैं बलवान’ में भी अभिनय किया था।

साल 1987 में जॉनी को एक ही फिल्म में देखा गया था। इस फिल्म का नाम ‘जलवा’ था जिसके निर्देशक ‘पंकज पराशर’ थे। फिल्म में जॉनी ने अभिनेता ‘नसीरुद्दीन शाह‘ के साथ अभिनय किया था।

साल 1988 की जॉनी की पहली फिल्म का नाम ‘घर में राम गली में श्याम’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘कोड़ी रामकृष्ण’ थे और फिल्म में जॉनी ने श्रीवास्तव के नौकर भी भूमिका दर्शाई थी। इसके बाद उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘कसम’, ‘हत्या’, ‘आखरी अदालत’, ‘हीरो हीरालाल’ और ‘तेजाब’ में अभिनय किया था। फिल्म ‘तेज़ाब’ के बाद जॉनी ने दर्शको के बीच अपनी पहचान बनाना शुरू किया था।

साल 1989 में सबसे पहले जॉनी ने फिल्म ‘सूर्या’ में अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘इलाका’ और ‘मुजरिम’ में भी देखा गया था। उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘जादूगर’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रकाश महरा’ थे और फिल्म में जॉनी ने ‘नीलकंत’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में जॉनी के किरदार की बहुत तारीफ की गई थी।

उसी साल जॉनी को फिल्म ‘काला बाज़ार’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘कुट्टी चाय वाला’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘विजय आनंद’ थे और फिल्म में देव आनंद ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इसके बाद जॉनी ने फिल्म ‘चालबाज़’ और ‘मैं आज़ाद हूँ’ में भी अभिनय किया था।

जॉनी का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1990 में जॉनी ने अपना डेब्यू ‘मराठी’ फिल्मो में किया था। उनकी पहली मराठी फिल्म का नाम ‘खतरनाक’ था। इस फिल्म में जॉनी ने पुलिस इंस्पेक्टर का कॉमेडी किरदार अभिनय किया था। इनके बाद जॉनी ने फिल्म ‘बंद दरवाज़े’ और ‘रईसज़ादा’ में अपने अभिनय को दर्शाया था।

साल 1991 और साल 1992 में जॉनी ने कुछ ही फिल्मो में किया था। इन फिल्मो के नाम ‘अजूबा कुदरत का’, ‘विष्णु- देवा’, ‘नरसिम्हा’, ‘जंगल का बेटा’, ‘खिलाडी’, ‘हमला’, ‘चमत्कार’ और ‘गीत मिलान के गाते रहेंगे’ था।

साल 1993 में जॉनी ने सबसे पहले फिल्म ‘इंसानियत का देवता’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘मुथुस्वामी’ था। इसके बाद उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘युगन्धर’, ‘आँसू बने अंगारे’, ‘अनाड़ी’, ‘रूप की रानी चोरों का राजा’, ‘अनमोल’, ‘संतान’ में भी अभिनय किया था।

उस साल की जॉनी की सबसे सुपरहिट फिल्म ‘बाज़ीगर’ थी। इस फिल्म में उन्होंने ‘बाबूलाल’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को काजोल और शाहरुख़ खान ने अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था। इसके बाद जॉनी ने फिल्म ‘गेम’ में अभिनय किया था जहां उनके किरदार का नाम ‘जग्गू’ था।

साल 1994 की शुरुआत जॉनी ने फिल्म ‘महाकाल’ के साथ की थी। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘एक्का राजा रानी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में जॉनी ने ‘गुरूजी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदार को गोविंदा ने अभिनय किया था। उसी साल की जॉनी की बाकी फिल्मो के नाम ‘प्रेम योग’, ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’, ‘क्रिमिनल’, ‘यार गद्दार’ और ‘मिस्टर आज़ाद’ थे।

साल 1995 में जॉनी एक ब्लॉकबस्टर फिल्म का हिस्सा बने थे। उस फिल्म का नाम ‘करन अर्जुन’ था और फिल्म के निर्देशक ‘राकेश रोशन’ थे। फिल्म में जॉनी ने ‘लिंगैय्यां’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को शाहरुख़ खान, सलमान खान, काजोल और ममता कुलकर्णी ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में बहुत अच्छी कमाई की थी।

साल 1996 की जॉनी की सुपरहिट फिल्म की बात करे तो उस साल जॉनी ने फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में जॉनी ने ‘बलवंत सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे। फिल्म में मुख्य किरदार को आमिर खान और करिश्मा कपूर ने अभिनय किया था। फिल्म में जॉनी के अभिनय की दर्शको ने बहुत सराहना की थी।

उस साल की जॉनी की बाकी फिल्मो के नाम ‘जान’, ‘हिम्मतवर’, ‘हाहाकार’, ‘दरार’, ‘इंडियन’, ‘भीष्मा’, ‘सपूत’ और ‘दुश्मन दुनिया का’ हैं।

साल 1997 में जॉनी ने सबसे पहले हिट फिल्म ‘जुदाई’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘हीरालाल’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में कादर खान और जॉनी की जोड़ी को दर्शको ने बहुत पसंद किया था। इसके बाद उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘मिस्टर एंड मिसेस खिलाडी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में जॉनी ने एक कैमिओ किरदार दर्शाया था। इस फिल्म में भले ही जॉनी का अभिनय बहुत कम समय के लिए था लेकिन जॉनी को फिल्म में दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

उसी साल की जॉनी की अगली सुपरहिट फिल्म का नाम ‘दीवाना मस्ताना’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में जॉनी ने ‘ग़फ़ूर’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अनिल कपूर, जूही चावला और गोविंदा ने अभिनय किया था। इसके बाद साल का अंत भी जॉनी ने ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘इश्क़’ के साथ किया था। इस फिल्म में जॉनी ने रंजीत के साले का किरदार अभिनय किया था जिसे दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 1998 में जॉनी ने फिल्म ‘आंटी न. 1’ में अभिनय किया था। इस फिल्म की निर्देशक ‘कीर्ति कुमार’ थीं और फिल्म में जॉनी ने सहायक किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदार को गोविंदा ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘दूल्हे राजा’ में भी अभिनय किया था। फिल्म में उन्होंने ‘बनखे’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में जॉनी को बहुत पसंद किया था और जॉनी के साथ अभिनेता गोविंदा और कादर खान ने भी बेहतरीन अभिनय किया था।

उस साल का अंत जॉनी ने फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ में अभिनय करने के साथ किया था। फिल्म में जॉनी को ‘कर्नल अलमिडा’, कैंप के मैनेजर के किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। इस फिल्म में भी जॉनी के अभिनय की बहुत तारीफ की गई थी।

साल 1999 की सुपरहिट फिल्मो की बात करे तो उस साल जॉनी को फिल्म ‘हम आपके दिल में रहते हैं’, ‘लावारिस’, ‘अनारी न. 1’, ‘सिर्फ तुम’, ‘बादशाह’, ‘हेलो ब्रदर’, ‘हम तुम पे मरते हैं’, ‘खूबसूरत’ और ‘जानवर’ जैसी फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था। जॉनी के इन सभी फिल्मो के किरदारों को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2000 में जॉनी के द्वारा अभिनय किए गए सभी फिल्मो की बात करे तो उन्होंने उस साल ‘क्रोध’, ‘ज्वालामुखी’, ‘हद कर दी आपने’, ‘तेरा जादू चल गया’, ‘मेरी जंग का एलान’, ‘बेटी न. 1’, ‘काली टोपी लाल रुमाल’, ‘कुंवर’, ‘मेला’, ‘कहो ना प्यार है’, ‘दुल्हन हम ले जाएंगे’, ‘फिट भी दिल है हिंदुस्तानी’, ‘बादल’, ‘दिल ही दिल में’, ‘हम तो मोहब्बत करेंगा’, ‘जोरू का गुलाम’, ‘दीवाना’, ‘हमारा दिल आपके पास है’, ‘फ़िज़ा’, ‘शिकारी’, ‘आग़ाज़’ और ‘राजू चाचा’ जैसी फिल्मो में अभिनय किया था।

साल 2001 की जॉनी की सुपरहिट फिल्म की बात करे तो उस साल उन्होंने फिल्म ‘फ़र्ज़’ में अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘चोरी चोरी चुपके चुपके’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म के बाद जॉनी ने फिल्म ‘लव के लिए कुछ भी करेगा’ में भी अभिनय किया था। जॉनी को फिल्म ‘अजनबी’ में ‘बनु प्रधान’ नाम के किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था।

साल का अंत जॉनी ने फिल्म ‘कभी ख़ुशी कभी ग़म’ और ‘आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया’ के साथ किया था। फिल्म ‘कभी ख़ुशी कभी ग़म’ में जॉनी ने ‘हल्दीराम’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया’ में ‘अप्पू खोटे’ नाम के किरदार को दर्शाया था। दोनों ही फिल्मो को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2003 में जॉनी ने फिल्म ‘मैं प्रेम की दीवानी हूँ’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘जॉनी’ ही था। इसके बाद जॉनी को फिल्म ‘कोई मिल गया’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘चेलाराम सुखवानी’ था। दोनों ही फिल्मो में जॉनी के अभिनय को सभी ने बहुत पसंद किया था।

साल 2005 में सबसे पहले जॉनी ने फिल्म ‘मेरी बीवी का जवाब नहीं’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘पंकज पराशर’ थे और फिल्म में जॉनी ने ‘चित्रा गुप्ता’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उसी साल जॉनी ने फिल्म ‘खुल्लम खुल्ला प्यार करेंगे’, ‘दीवाने हुए पागल’ और ‘पद्मश्री लालू प्रसाद यादव’ नाम की फिल्म में अभिनय किया था।

साल 2006 में जॉनी ने फिल्म ’36 चाइना टाउन’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अब्बास मस्तान’ थे और फिल्म में जॉनी ने ‘केके’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘फिर हेरा फेरी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में जॉनी ने ‘मुन्ना’ नाम के किरदारों को दर्शाया था। साल का अंत जॉनी ने फिल्म ‘सैंडविच’ के साथ किया था।

साल 2009 से साल 2015 तक की जॉनी की सुपरहिट फिल्मो के नाम ‘आल द बेस्ट: फन बेगिन्स’, ‘दे दना दन’, ‘दूल्हा मिल गया’, ‘खट्टा मीठा’, ‘गोलमाल 3’, ‘यमला पगला दिवाना’, ‘टेल में ओ खुदा’, ‘हाउसफुल 2’, ‘खिलाडी 786’, ‘यमला पगला दीवाना 2’, ‘बॉस’, ‘एंटरटेनमेंट’, ‘रंग’ और ‘दिलवाले’ हैं।

साल 2017 में सबसे पहले जॉनी ने फिल्म ‘जुड़वाँ 2’ में अभिनय किया था। फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘पप्पू पासपोर्ट’ था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में जॉनी ने ‘पप्पी भाई’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2019 में सबसे पहले जॉनी ने फिल्म ‘टोटल धमाल’ में अभिनय किया था। फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘झींगुर’ था और फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे। इसके बाद उस साल की उनकी अगली फिल्म का नाम ‘हाउसफुल 4’ था। इस फिल्म में उन्होंने ‘विंस्टन चर्चगेट’ नाम के किरदार को दर्शाया था। दोनों ही फिल्मो में जॉनी के किरदार की दर्शको ने बहुत सराहना की थी।

पुरस्कार और उपलब्धियां

  • साल 1997 में फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ के लिए ‘बेस्ट कॉमेडियन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1998 में फिल्म ‘दीवाना मस्ताना’ के लिए ‘बेस्ट कॉमेडियन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1999 में फिल्म ‘दूल्हे राजा’ के लिए ‘बेस्ट कॉमेडियन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2002 में फिल्म ‘लव के लिए अपुन कुछ करेगा’ के लिए ‘बेस्ट कॉमिक रोल’ का अवार्ड मिला था।

जॉनी लीवर का निजी जीवन

जॉनी लीवर ने साल 1984 में ‘सुजाता जॉनराओ जनुमाला’ से शादी की थी। जॉनी का एक बेटा है और एक बेटी हैं। उनके बेटे का नाम ‘जेस्से जॉनराओ जनुमाला’ है और बेटी का नाम ‘जमी जनुमाला’ उर्फ़ ‘जमी लीवर’ है। जमी भी पेशे से अभिनेत्री, कॉमेडियन और गायक हैं।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 86

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!