दा इंडियन वायर » लोग » अक्षय कुमार की जीवनी
लोग

अक्षय कुमार की जीवनी

akshay kumar biography in hindi

अक्षय कुमार भारतीय फिल्मो के लोकप्रिय अभिनेताओं में से एक हैं। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से ना केवल भारत की जनता का ही प्यार पाया है बल्कि विदेशों से भी बहुत मात्रा में अपनी लोकप्रियता को बढ़ाया है। अक्षय कुमार के फैंस उन्हें ‘अक्की’, ‘राजू’, ‘खिलाडी’, ‘खिलाडी कुमार’ जैसे नामों से पुकारते हैं। अक्षय ने अपना नाम भारतीय फिल्मो के टॉप अभिनेताओं की सूचि में दर्ज किया है।

अक्षय कुमार के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘खिलाडी’, ‘मैं खिलाडी तू अनाड़ी’, ‘ज़ालिम’, ‘सबसे बड़ा खिलाडी’, ‘सपूत’, ‘मिस्टर और मिसेस खिलाडी’, ‘दिल तो पागल है’, ‘आरज़ू’, ‘खिलाडी 420’, ‘अजनबी’, ‘अंदाज़’, ‘मुझसे शादी करोगी’, ‘बेवफा’, ‘हेरा फेरी’, ‘फिर हेरा फेरी’, ‘भूल भुलैया’, ‘सिंह इस किंग’, ‘दे दना दन’, ‘हाउसफुल’, ‘देसी बॉयज़’, ‘खिलाडी 786’, ‘बॉस’, ‘हॉलिडे’, ‘रुस्तम’, ‘गब्बर इस बैक’, ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’, ‘केसरी’, ‘गुड न्यूज़’ जैसी कई सारी सुपरहिट फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शाया है।

अक्षय कुमार का प्रारंभिक जीवन

अक्षय कुमार का जन्म 09 सितम्बर 1967 को अमृतसर, पंजाब में हुआ था। उन्होंने एक पंजाबी राजपूत के परिवार में जन्म लिया था। अक्षय के पिता का नाम स्वर्गीय ‘हरी ओम भाटिआ’ था और उनकी माँ का नाम ‘अरुणा भाटिआ’ है। अक्षय की एक बहन हैं जिनका नाम ‘अलका भाटिआ’ है। अक्षय का असली नाम ‘राजीव हरी ओम भाटिआ’ था जिसे उन्होंने बाद में बदल कर ‘अक्षय कुमार’ किया था।

अक्षय ने अपने स्कूल की पढाई ‘डॉन बोस्को हाई स्कूल’, दार्जीलिंग से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने अपने आगे की पढाई पूरी करने के लिए ‘गुरु नानक खालसा कॉलेज’, मुंबई में अपना दाख़िला कराया था। उन्होंने अपने कॉलेज की पढाई को बीच में छोड़ दिया था। अक्षय को बचपन से ही अभिनय की तरफ दिलचस्बी थी और इसी के साथ उन्हें मार्शल आर्ट्स सीखने का भी बहुत मन था। अक्षय ने बैंकॉक से मार्शल आर्ट्स में ब्लैक बेल्ट जीता है।

व्यवसाय जीवन

अक्षय कुमार का शुरुआती व्यवसाय जीवन

अक्षय कुमार ने बैंकॉक में रहने के दौरान कुछ समय तक वेटर का काम किया था। इसके बाद उन्होंने मुंबई में वापस आने के बाद एक ट्रैवल एजेंसी में चपरासी का काम भी किया था। अक्षय ने कुछ समय तक मार्शल आर्ट्स भी सिखाया था जिसके बाद उनके एक विध्यार्थी ने उन्हें मॉडलिंग करने के लिए प्रोत्साहित किया था। उन्होंने मुंबई के एक बंगलौ में अपना पहला फोटो शूट कराया था, जिसे उन्होंने सफल होने के बाद खरीद लिया था।

अक्षय कुमार का सफर धीरे धीरे सफल होने लगा था और उन्हें मॉडलिंग के करियर में सफलता मिलने लगी थी। इसके बाद उन्होंने साल 1991 में अपनी पहली फिल्म में अभिनय किया था। इस फिल्म का नाम ‘सौगंध’ था और इसके निर्देशक ‘राज सिप्पी’ थे। फिल्म में अक्षय ने ‘शिवा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘डांसर’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में अक्षय के किरदार का नाम ‘राजू’ था।

साल 1992 में अक्षय ने फिल्म ‘खिलाडी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अब्बास मस्तान’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राज मल्होत्रा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, आएशा झुलका, दीपक तिजोरी और सबीहा ने अभिनय किया था। उसी साल अक्षय को फिल्म ‘मिस्टर बॉण्ड’ और ‘दीदार’ में भी अभिनय करते हुए देखा गया था।

अक्षय का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1993 में अक्षय ने फिल्म ‘दिल की बाज़ी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनुल गांगुली’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘विजय’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, आएशा झुलका और अविनाश वधावन ने अभिनय किया था। इसके बाद उस साल अक्षय को ‘प्रदीप मनी’ की फिल्म ‘कायदा कानून’ में भी अभिनय करते हुए देखा गया था।

उसी साल अक्षय को फिल्म ‘वक़्त हमारा है’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘भारत रंगाचारी’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘विकास सबकुछवाला’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी ने अभिनय किया था। इसके बाद उस साल का अंत अक्षय ने फिल्म ‘सैनिक’ के साथ किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘सिकंदर भारती’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘सूरज दत्त’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 1994 में अक्षय ने कई सारी हिट फिल्मो में अभिनय किया था। उनमे से सबसे पहली फिल्म का नाम ‘यह दिल्लगी’ था, जिसके निर्देशक ‘नरेश मल्होत्रा’ थे। इस फिल्म में अक्षय ने ‘विजय सैगल’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उस साल की अगली फिल्म का नाम ‘मोहरा’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजीव राय’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘अमर सक्सेना’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उस साल की अक्षय की तीसरी हिट फिल्म का नाम ‘मैं खिलाडी तू अनाड़ी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘समीर मल्कान’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘करन जोगलेकर’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उसी साल की अक्षय की कुछ और फिल्म के नाम ‘एलान’, ‘जय किशन’, ‘इक्के पे इक्का’, ‘अमानत’, ‘सुहाग’, ‘नज़र के सामने’, ‘ज़ख़्मी दिल’, ‘ज़ालिम’ और ‘हम हैं बेमिसाल’ था ।

साल 1995 में सबसे पहले अक्षय ने फिल्म ‘पांडव’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राज सिप्पी’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘विजय’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उसी साल की अक्षय की अगली फिल्म का नाम ‘मैदान-ए-जंग’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. सी. बोकड़िआ’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘करन’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उस साल की अक्षय की आखरी फिल्म का नाम ‘सबसे बड़ा खिलाडी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘उमेश महरा’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘विजय कुमार’ और ‘लल्लू’ नाम के दो किरदारों को दर्शाया था।

साल 1996 से साल 1999 तक अक्षय ने कई सारी ब्लॉकबस्टर फिल्मो में अभिनय किया था। उन फिल्मो के नाम ‘खिलाडियों का खिलाडी’, ‘सपूत’, ‘तराज़ू’, ‘मिस्टर एंड मिसेस खिलाडी’, ‘दिल तो पागल है’, ‘बारूद’, ‘आरज़ू’, ‘संघर्ष’, ‘इंटरनेशनल खिलाडी’, ‘ज़ुल्मी’ और ‘जानवर’ हैं।

अक्षय कुमार का फिल्मो का सफल सफर

साल 2000 में अक्षय ने तीन फिल्मो में अभिनय किया था और उन सभी फिल्मो को ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था। उस साल की अक्षय की पहली हिट फिल्म का नाम ‘हेरा फेरी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राजू’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, परेश रावल और सुनील शेट्टी ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘खिलाडी 420’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘नीरज वोरा’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘देव’ और ‘आनंद कुमार’ नाम के किरदारों को दर्शाया था।

उसी साल की अक्षय की तीसरी ब्लॉकबस्टर फिल्म का नाम ‘धड़कन’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राम वर्मा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को शिल्पा शेट्टी, अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी ने अभिनय किया था।

साल 2001 और साल 2002 में अक्षय ने फिल्म ‘एक रिश्ता: द बॉण्ड ऑफ़ लव’, ‘आँखें’, ‘अजनबी’, ‘हाँ मैंने भी प्यार किया’, ‘आवारा पागल दीवाना’ और ‘जानी दुश्मन: एक अनोखी कहानी’ में अभिनय किया था। इन सभी फिल्मो को दर्शको ने कुछ खास पसंद नहीं किया था।

साल 2003 में अक्षय ने फिल्म ‘अंदाज़’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राज कँवर’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राज मल्होत्रा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में अक्षय के साथ अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा और लारा दत्ता ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘तलाश: द हंट बेगिंस’ में अभिनय किया था। फिल्म में अक्षय के किरदार का नाम ‘अर्जुन’ था।

साल 2004 में अक्षय ने फिल्म ‘खाकी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘शेखर वर्मा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल अक्षय को फिल्म ‘पुलिस फाॅर्स: एन इनसाइड स्टोरी’ में भी देखा गया था। उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘मुझसे शादी करोगी’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘अरुन खन्ना’ और ‘सनी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, सलमान खान और प्रियंका चोपड़ा ने अभिनय था।

उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘ऐतराज़’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अब्बास मस्तान’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राज मल्होत्रा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा, करीना कपूर और अमरीश पुरी ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था। उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘मेरी बीवी का जवाब नहीं’, ‘घर गृहस्ती’ और ‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों’ में अभिनय किया था।

साल 2005 में सबसे पहले अक्षय ने फिल्म ‘बेवफा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘धर्मेश दर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राजा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल अक्षय को फिल्म ‘गरम मसाला’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘मकरंद गोड़बोले’ नाम का किरदार अभिनय किया था। उसी साल की अक्षय की बाकी फिल्मो के नाम ‘दीवाने हुए पागल’, ‘दोस्ती: फ्रेंड्स फॉरएवर’ और ‘वक़्त: द रेस अगेंस्ट टाइम’ था।

साल 2006 की अक्षय की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘फिर हेरा फेरी’ थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘नीरज वोरा’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राजू’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को परेश रावल, अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल अक्षय को फिल्म ‘भागम भाग’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘बंटी’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2007 की शुरुआत भी अक्षय ने फिल्म ‘नमस्ते लंदन’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘विपुल अमरुथल शाह’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘अर्जुन सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदार को अक्षय कुमार और कैटरीना कैफ ने अभिनय किया था। उस साल की अक्षय की अगली फिल्म का नाम ‘हे बेबी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘साजिद खान’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘आयुष महरा’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘भूल भुलैया’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘आदित्य श्रीवास्तव’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मिख्य किरदार को अक्षय कुमार, विद्या बालन, शीने आहूजा और अमीषा पटेल ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था। उस साल का अंत भी अक्षय ने सुपरहिट फिल्म ‘वेलकम’ के साथ किया था।

साल 2008 की ब्लॉकबस्टर फिल्म अक्षय की ‘सिंह इस किंग’ थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनीस बाज़मे’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘हैप्पी सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार और कैटरीना कैफ ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था। उस साल की अक्षय की अगली फिल्म का नाम ‘टशन’ था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार, सैफ अली खान और करीना कपूर ने अभिनय किया था।

साल 2009 में अक्षय ने फिल्म ‘चांदनी चौक टू चाइना’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘निखिल अडवानी’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘सिंधु शर्मा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को अक्षय कुमार और दीपिका पादुकोण ने दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने कुछ खास पसंद नहीं किया था और फिल्म को बॉक्स ऑफिस में फ्लॉप फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था।

उस साल की अक्षय की अगली फिल्म का नाम ‘कम्बक्त इश्क़’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘सब्बीर खान’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘विराज शेरगिल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में अक्षय के साथ करीना कपूर ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। उसी साल अक्षय ने फिल्म ‘दे दना दन’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘प्रियादर्शन’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘नितिन बनकर’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2010 से साल 2012 तक अक्षय ने फिल्म ‘हॉउसफुल’, ‘खट्टा मीठा’, ‘एक्शन रीप्ले’, ‘तीस मार खान’, ‘पटिआला हाउस’, ‘थैंक्यू’, ‘देसी बॉयज़’, ‘राऊडी राठौर’, ‘जोकर’, ‘ओएमजी – ओ माय गॉड’ और ‘खिलाडी 786’ में अभिनय किया था।

साल 2013 में अक्षय ने फिल्म ‘स्पेशल 26’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘नीरज पांडेय’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘अजय सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उसी साल अक्षय को फिल्म ‘वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई दोबारा!’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मिलन लुथरिआ’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘शोएब खान’ नाम के किरदार को दर्शाया था। साल के अंत में अक्षय को फिल्म ‘बॉस’ में देखा गया था।

साल 2014 से साल 2018 तक अक्षय ने एक के बाद एक हिट फिल्मो में काम किया है। उन फिल्मो के नाम ‘हॉलिडे’, ‘बेबी’, ‘गब्बर इस बैक’, ‘सिंह इस ब्लिंक’, ‘एयरलिफ्ट’, ‘हॉउसफुल 3’, ‘ढिशूम’, ‘रुस्तम’, ‘जॉली एल एल बी 2’, ‘नाम शबाना’, ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’, ‘पैड मैन’, ‘गोल्ड’, ‘2.0’ और ‘सिम्बा’ थी।

साल 2019 में अक्षय ने सबसे पहले फिल्म ‘केसरी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनुराग सिंह’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘हवलदार ईशर सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म के बाद अक्षय को फिल्म ‘मिशन मंगल’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘जगन शक्ति’ थे और फिल्म में अक्षय ने ‘राकेश धवन’ नाम के किरदार को दर्शाया था। साल का अंत अक्षय ने फिल्म ‘हाउसफुल 4’ और ‘गुड न्यूज़’ के साथ किया था।

अक्षय की आने वाली फिल्मो की बात करे तो उन्हें आगे फिल्म ‘सूर्यवंशी’, ‘लक्ष्मी बॉम्ब’, ‘पृथ्वीराज’, ‘बच्चन पांडेय’ और ‘बैल बॉटम’ में देखा जाएगा।

अक्षय कुमार के पुरस्कार और उपलब्धियां

अक्षय कुमार ने अभी तक कुल 70 से भी अधिक अवार्ड्स को अपने नाम किया है। उनमे से कुछ की जानकारी नीचे मौजूद है।

  • साल 2002 में फिल्म ‘अजनबी’ के लिए ‘बेस्ट विलन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2005 में फिल्म ‘मुझसे शादी करोगी’ के लिए ‘बेस्ट कॉमेडियन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2006 में फिल्म ‘गरम मसाला’ के लिए ‘कॉमेडियन’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2009 में फिल्म ‘सिंह इस किंग’ के लिए ‘बेस्ट एक्टर’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2010 में ‘एक्टर ऑफ़ द ईयर’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2015 में ‘स्पेशल अवार्ड’ से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2018 में फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ के लिए ‘बेस्ट एक्टर- मेल’ का अवार्ड मिला था।

अक्षय कुमार की निजी ज़िन्दगी

अक्षय कुमार के लव लाइफ की बात करे तो अक्षय ने सबसे पहले अभिनेत्री ‘पूजा बत्रा’ को डेट किया था। इसके बाद अक्षय का नाम अभिनेत्री ‘आएशा झुलका’ के साथ भी जुड़ा था। अक्षय की मुलाक़ात अभिनेत्री ‘रवीना टंडन‘ से होने के बाद अक्षय और आएशा को अलग होना पड़ा था। अक्षय और रवीना ने एक दूसरे को काफी समय तक डेट किया था। मीडिया में तो यह खबरे भी आई थीं की अक्षय और रवीना ने चुपके से एक दूसरे से सगाई भी की थी।

रवीना और अक्षय का रिश्ता तब टूटा था, जब रवीना को पता चला था की अक्षय ने अभिनेत्री ‘रेखा’ को डेट करना शुरू किया है। अक्षय और अभिनेत्री ‘शिल्पा शेट्टी’ ने भी एक दूसरे को काफी समय तक डेट किया था। दोनों के शादी की खबरे भी मीडिया में फैलने लगी थी लेकिन तभी अक्षय ने शिल्पा को छोड़ कर अभिनेत्री ‘ट्विंकल खन्ना’ से शादी करने का फैसला लिया था। ट्विंकल से मिलने के बाद भी अक्षय का नाम अभिनेत्री ‘प्रियंका चोपड़ा‘ के साथ जुड़ा था। दोनों ने इन सभी खबरों को झूठ बताया था।

अक्षय और ट्विंकल ने 17 जनवरी 2001 को एक दूसरे से शादी की थी। उन दोनों का एक बेटा है और एक बेटी हैं। उनके बेटे का नाम ‘आरव’ है और बेटी का नाम ‘नितारा’ है। अक्षय कुमार अपने दोनों बच्चो को मीडिया से दूर ही रखते हैं क्योंकि वो अपने दोनों बच्चो को साधारण ज़िन्दगी देना चाहते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 87

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

इस लेख से सम्बंधित अपने सवाल और सुझाव आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!