दा इंडियन वायर » लोग » रवीना टंडन की जीवनी
लोग

रवीना टंडन की जीवनी

Raveena Tandon's Biography

रवीना टंडन भारतीय फिल्मो की जानी मानी अभिनेत्री हैं। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से कई सारी जनता का प्यार बहुत ही कम समय में हासिल किया है। रवीना टंडन ना केवल एक अभिनेत्री के रूप में ही जानी जाती हैं बल्कि उन्हें फिल्म निर्माता के रूप में भी जाना जाता है। रवीना ने फिल्मो की दुनिया में सफलता पाने के बाद कुछ टीवी रियलिटी शोज में भी जज और होस्ट की भूमिका निभाई है।

रवीना टंडन द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘पत्थर के फूल’, ‘एक ही रास्ता’, ‘इंसानियत’, ‘लाडला’, ‘अंदाज़ अपना अपना’, ‘मैं खिलाडी तू अनाड़ी’, ‘आंटी न. 1’, ‘दूल्हे राजा’, ‘बड़े मियाँ छोटे मिया’, ‘अक्स’, ‘अखियों से गोली मारे’, ‘एक हिन्दुस्तानी’, ‘यह लम्हें जुदाई के’, ‘सैंडविच’, ‘बॉम्बे वेलवेट’, ‘शब्’ जैसी बड़ी बड़ी फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शको के बीच पेश किया है।

रवीना टंडन का प्रारंभिक जीवन

रवीना टंडन का जन्म 26 अक्टूबर 1974 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। रवीना के पिता का नाम ‘रवि टंडन’ है जो पेशे से एक निर्माता के रूप में जाने जाते हैं। उनकी माँ का नाम ‘वीना टंडन’ है। रवीना का नाम उन्ही के माता पिता के नाम से बनाया गया था, रवि और वीना को जोड़ कर ‘रवीना’ नाम रखा था। रवीना के एक भाई हैं जिनका नाम ‘राजीव टंडन’ है। राजीव भी पेशे से एक अभिनेता हैं।

रवीना ने अपने स्कूल की पढाई ‘जमनाबाई नर्सी स्कूल’, मुंबई से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने ‘मीठीबाई कॉलेज’, मुंबई में अपनी आगे की पढाई को पूरा करने के लिए दाख़िला लिया था। रवीना को अपने कॉलेज के दूसरे साल में ही कॉलेज छोड़ना पढ़ा था क्योंकि लोगो के बीच उनकी लोकप्रियता को देखते हुए कॉलेज के प्रसाशन ने उन्हें ऐसा करने को कहा था। रवीना को बचपन में आई. पी. एस. ऑफिसर या फिर पायलट बनना था। उन्होंने कभी भी अभिनेत्री बनने की कल्पना नहीं की थी।

व्यवसाय जीवन

रवीना टंडन का फिल्मो का शुरुआती सफर

रवीना ने फिल्मो में अपने अभिनय की शुरुआत साल 1991 से की थी। रवीना ने अपने कॉलेज के दौरान एक कंपनी में इंटर्नशिप की थी, जहाँ सभी ने उनकी सुंदरता की तारीफ करते हुए उन्हें फिल्मो में अभिनय करने के लिए प्रोत्साहित किया था। उस कंपनी के मालिक के कहने पर ही रवीना ने अपनी पहली फिल्म ‘पत्थर के फूल’ में अभिनय करने के लिए हामी भरी थी। रवीना ने इस फिल्म में अभिनेता सलमान खान के साथ मुख्य किरदार को दर्शाया था। फिल्म के निर्देशक ‘अनंत बलानी’ थे और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी।

साल 1992 में रवीना ने फिल्म ‘जीना मरना तेरे संग’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘विजय रेड्डी’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘आशा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में रवीना ने अभिनेता संजय दत्त के साथ अभिनय किया था। फिल्मो में आने से पहले रवीना संजय दत्त को बहुत पसंद करती थीं और इस फिल्म में दोनों ने बेहतरीन अभिनय किया था।

साल 1993 में सबसे पहले रवीना ने फिल्म ‘पहला नशा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘आशुतोष गोवारिकर’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘अवंतिका बजाज’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को पूजा भट्ट, रवीना टंडन और दीपक तिजोरी ने अभिनय किया था। इस फिल्म को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था। इसके बाद उसी साल रवीना ने फिल्म ‘दिव्या शक्ति’, ‘क्षत्रिया’, ‘परंपरा’, ‘एक ही रास्ता’ जैसी फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शाया था।

उसी साल रवीना ने अपना डेब्यू तेलुगु फिल्मो में भी किया था। रवीना ने उस साल दो तेलुगु फिल्मो में अभिनय किया था जिनका नाम ‘रथा सरधी’ और ‘बंगारू बुलोदु’ है।

रवीना टंडन का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1994 में रवीना ने फिल्म ‘ज़माने से क्या डरना’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘बॉबी राज’ थे। इसके बाद उसी साल रवीना ने फिल्म ‘दिलवाले’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘सपना’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘हैरी बवेजा’ थे। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘इंसानियत’ में भी अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘टोनी जुनेजा’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘सलमा’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उसी साल रवीना की एक फिल्म ने ब्लॉकबस्टर कमाई के साथ अपना नाम उस साल की दूसरी सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म के रूप में दर्ज किया था। उस फिल्म का नाम ‘मोहरा’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजीव राय’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘रोमा सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल रवीना ने फिल्म ‘लाडला’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राज कँवर’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘काजल’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 1994 में ही रवीना को फिल्म ‘अंदाज़ अपना अपना’ में मुख्य किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘रवीना अलियास’ और ‘करिश्मा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को रवीना टंडन, सलमान खान, आमिर खान और करिश्मा कपूर ने अभिनय किया था।

साल 1995 में रवीना ने तीन ही फिल्मो में अभिनय किया था। उस साल की सबसे पहली फिल्म का नाम ‘तकदीरवाला’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. मुरली मोहन राओ’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘लीली’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल रवीना ने फिल्म ‘ज़माना दीवाना’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘प्रिया सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म के निर्देशक ‘रमेश सिप्पी’ थे। उस साल का अंत रवीना ने फिल्म ‘साजन की बाहों में’ में अभिनय करने के साथ ही किया था।

साल 1996 में रवीना ने सुपरहिट फिल्म ‘खिलाडियों का खिलाडी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘उमेश महरा’ थे और फिल्म में रवीना में ‘प्रिया’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में रवीना के साथ अभिनेता अक्षय कुमार ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल रवीना ने फिल्म ‘विजेता’ और ‘रक्षक’ में भी अभिनय किया था।

साल 1997 की रवीना की पहली फिल्म का नाम ‘ज़िद्दी’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘गुड्डू धनोआ’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘जया’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को रवीना और सनी देओल ने अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल रवीना को फिल्म ‘दावा’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। फिल्म के निर्देशक ‘सुनील अग्निहोत्री’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘सीमा’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उसी साल रवीना ने फिल्म ‘घुलम-ए-मुस्तफा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘पार्थो धवन’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘कविता’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में रवीना टंडन और नाना पाटेकर ने मुख्य किरदारों को दर्शाया था। उस साल का अंत रवीना ने फिल्म ‘विनाशक- डिस्ट्रॉयर’ के साथ किया था। इस फिल्म में रवीना ने ‘काजल’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

रवीना का फिल्मो का सफल सफर

साल 1998 में रवीना ने फिल्म ‘आंटी न. 1’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘कीर्ति कुमार’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘संध्या’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में रवीना के साथ मुख्य किरदार को कादर खान और गोविंदा ने अभिनय किया था। इस फिल्म के बाद रवीना की उस साल की अगली हिट फिल्म का नाम ‘घरवाली बाहरवाली’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘काजल’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को रवीना टंडन, अनिल कपूर और रम्भा ने अभिन्य किया था।

उस साल की रवीना की अगली सुपरहिट फिल्म का नाम ‘दूल्हे राजा’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘हरमेश मल्होत्रा’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘किरन सिंघानिआ’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को रवीना टंडन, कादर खान और गोविंदा ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘बड़े मियाँ छोटे मियाँ’ में भी अभिनय किया था।

साल 1999 में रवीना ने फिल्म ‘अनाड़ी न. 1’ के साथ साल की शुरुआत की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘कुकू कोहली’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘सपना’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में भी मुख्य किरदार को रवीना टंडन, कादर खान और गोविंदा ने अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था। इसके बाद उसी साल रवीना को फिल्म ‘राजाजी’ में अभिनेता गोविंदा के साथ मुख्य किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘विमल कुमार’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘पायल’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2000 में रवीना ने फिल्म ‘जंग’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘संजय गुप्ता’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘नैना’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘कहीं प्यार ना हो जाए’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘के. मुराली मोहन राओ’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘निशा’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2001 में रवीना को सुपरहिट फिल्म ‘अक्स’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राकेश ओमप्रकाश महरा’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘नीता’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अमिताभ बच्चन, रवीना टंडन और मनोज बाजपेयी ने अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में अच्छी कमाई की थी। इसके बाद उसी साल रवीना को तेलुगु फिल्म ‘अकासा विधिलो’ में ‘इंदु’ नाम के किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था।

साल 2002 की शुरुआत भी रवीना ने ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘अखियों से गोली मारे’ के साथ किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘हरमेश मल्होत्रा’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘किरन भांगरे’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को गोविंदा, कादर खान और रवीना टंडन ने अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

उसी साल रवीना ने फिल्म ‘अग्नि वर्षा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अर्जुन सजनानी’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘विशाखा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल रवीना को फिल्म ‘एक हिंदुस्तानी’, ‘सोच’ और ‘वाह! तेरा क्या कहना’ में अभिनय किया था।

साल 2003 से साल 2005 तक रवीना को कुछ फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा था। उन फिल्मो के नाम ‘प्राण जाए पर शान ना जाए’, ‘स्टंप्ड’, ‘क़यामत’, ‘एल. ओ. सी. कारगिल’, ‘जागो’, ‘यह लम्हे जुदाई के’, ‘पुलिस फाॅर्स: एन इनसाइड स्टोरी’, ‘एक से बढ़कर एक’, ‘दोबारा’ और ‘पहचान: द फेस ऑफ़ ट्रुथ’ हैं।

साल 2006 में रवीना ने सुपरहिट फिल्म ‘सैंडविच’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनीस बज़्मी’ थे और फिल्म में रवीना ने ‘निशा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को महिमा चौधरी, गोविंदा और रवीना टंडन ने अभिनय किया था।

साल 2006 के बाद रवीना ने साल 2011 में एक बार फिर फिल्मो में अपनी वापसी की थी। उनकी उस साल की फिल्म का नाम ‘बूढा होगा तेरा बाप’ था जिसके निर्देशक ‘पूरी जगन्नाथ’ थे। फिल्म में रवीना ने ‘कामिनी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, और हेमा मालिनी ने अभिनय किया था। इसके बाद साल 2015 में रवीना ने कुछ फिल्मो में कैमिओ किरदार को दर्शाया था।

साल 2017 में एक बार फिर रवीना ने फिल्म में मुख्य किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म का नाम ‘शब्’ था, जिसके निर्देशक ‘ओनिर’ थे। इस फिल्म में रवीना ने ‘सोनल मोदी’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म में मुख्य किरदारों को रवीना टंडन, आशीष बिष्ट, गौरव नंदा और अर्पिता चटर्जी ने अभिनय किया था।

साल 2019 में रवीना अपना डेब्यू कन्नड़ फिल्मो में करने जा रही हैं। उन्होंने कन्नड़ फिल्म ‘के. जी. एफ: चैप्टर 2’ में ‘रमेका सेन’ नाम के किरदार को दर्शाने के लिए हामी भरी है। फिल्म की शूटिंग शुरू हो चुकी है।

पुरस्कार और उपलब्धियां

रवीना ने अपने अभिनय की वजह से कई सारे अवार्ड्स को अपने नाम किया है। उनमे से कुछ की जानकारी नीचे मौजूद है।

  • साल 1992 में फिल्म ‘पत्थर के फूल’ के लिए ‘लक्स न्यू फेस ऑफ़ द ईयर’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2002 में फिल्म ‘दमन: ए विक्टिम ऑफ़ मैरिटल वायलेंस’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2002 में फिल्म ‘अक्स’ के लिए ‘स्पेशल परफॉरमेंस अवार्ड’, ‘बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवार्ड’ और ‘क्रिटिक्स अवार्ड फेमल’ के अवार्ड्स मिले थे।

रवीना टंडन का निजी जीवन

रवीना टंडन के लव लाइफ की बात करे तो उन्होंने 1990 की दशक में सबसे पहले अभिनेता ‘अजय देवगन’ को डेट किया था। इसके बाद साल 1994 में रवीना का नाम ‘अक्षय कुमार’ के साथ जुड़ने लगा था। दोनों ने एक दूसरे को लगभग 3 सालो तक डेट किया था और मीडिया में खबरे भी आई थीं की रवीना ने अक्षय से चुपके से सगाई भी की है। हालांकि इन खबरों को झूठ बताया गया था और साल 1997 में अक्षय और रवीना अलग हो गए थे।

रवीना टंडन ने 22 फरवरी 2004 में बिज़नसमैन ‘अनिल थडानी’ से शादी की थी। अनिल और रवीना का एक बेटा है और एक बेटी है। उनके बेटे का नाम ‘रनबीर थडानी’ है और बेटी का नाम ‘राशा थडानी’ है। रवीना ने दो लड़खियो को गोद भी लिया था जिनका नाम ‘पूजा’ और ‘छाया’ है।

रवीना के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में ढोकला, तंदूरी पनीर और तंदूरी चिकन पसंद है। रवीना के पसंदीदा अभिनेता संजय दत्त, गोविंदा, ऋषि कपूर और जैकी श्रॉफ हैं। अभिनेत्री में उन्हें नीतू सिंह पसंद है।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 86

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!