दा इंडियन वायर » लोग » माधुरी दीक्षित की जीवनी
लोग

माधुरी दीक्षित की जीवनी

Madhuri Dixit's Biography

माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) भारतीय फिल्मो की मशहूर अभिनेत्री के रूप में जानी जाती हैं। उन्होंने ना केवल अपने अभिनय की वजह से दर्शको का भरपूर प्यार पाया है बल्कि अपनी अदाओ से और अपने डांस के हुनर से भी दर्शको का दिल जीता है। माधुरी दीक्षित एक समय पर भारतीय फिल्मो में सबसे लोकप्रिय और सबसे महंगी अभिनेत्री के रूप में भी जानी जाती थीं।

माधुरी के द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘मोहरे’, ‘तेज़ाब’, ‘राम लखन’, ‘त्रिदेव’, ‘दिल’, ‘साजन’, ‘हम आपके हैं कौन…!’, ‘दिल तो पागल है’, ‘देवदास’, ‘हम तुम्हारे हैं सनम’, ‘आजा नचले’, ‘डेढ़ इश्क़िया’, ‘गुलाब गैंग’, ‘टोटल धमाल’, ‘कलंक’ जैसी फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शको के सामने दर्शाया था।

माधुरी दीक्षित ने ना केवल अपने अभिनय से कई सारे अवार्ड्स को अपने नाम किया है बल्कि उनके द्वारा भारतीय सिनेमा में दिए गए उनके योगदान की वजह से उन्हें कई सम्मानों से सम्मानित भी किया जा चूका है।

माधुरी दीक्षित का प्रारंभिक जीवन

माधुरी दीक्षित का जन्म 15 मई 1967 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। माधुरी ने एक ब्राह्मण परिवार में जन्म लिया था। उनके पिता का नाम स्वर्गीय ‘शंकर दीक्षित’ है और उनकी माँ का नाम ‘स्नेहलता दीक्षित’ है। माधुरी के परिवार में उनके अलावा उनके एक भाई हैं और दो बहने हैं। माधुरी के भाई का नाम ‘अजित दीक्षित’ है और उनकी बहनो का नाम ‘रूपा दीक्षित’ और ‘भारती दीक्षित’ है।

माधुरी ने अपने स्कूल की पढाई ‘डिवीन चाइल्ड हाई स्कूल’, मुंबई से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने ‘पार्ले कॉलेज’, मुंबई से ‘माइक्रो- बायोलॉजी’ के विषय में अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की थी। माधुरी को बचपन से ही डांस का बहुत शौक रहा है। उन्होंने कथक का नाच भी सीखा है और इसके बाद उन्होंने एक ट्रेनर के रूप में काम भी किया है। माधुरी को नाचने के अलावा अभिनय का भी बहुत शौक था। वह अपने कॉलेज के दिनों में अक्सर ड्रामा प्ले में भाग लिया करती थीं।

व्यवसाय जीवन

माधुरी दीक्षित का फिल्मो का शुरुआती सफर

माधुरी दीक्षित ने साल 1984 में अपने अभिनय के व्यवसाय की शुरुआत की थी। उन्होंने सबसे पहले फिल्म ‘अबोध’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘हिरेन नाग’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘गौरी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद साल 1985 में माधुरी ने फिल्म ‘आवारा बाप’ में अभिनय किया था। माधुरी की पहली दोनों ही फिल्मो को दर्शको ने ना पसंद किया था और फिल्म फ्लॉप फिल्मो की सूचि में शामिल हुई थीं।

साल 1986 में माधुरी ने फिल्म ‘स्वाति’ में अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें साल 1987 में फिल्म ‘हिफाज़त’ और ‘उत्तर दक्षिण’ में देखा गया था। माधुरी की यह सभी फिल्मे भी बॉक्स ऑफिस में कुछ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई थीं। माधुरी के यह चार साल बॉलीवुड में सबसे अधिक संघर्ष में गुज़रे थे।

साल 1988 में सबसे पहले माधुरी ने फिल्म ‘मोहरे’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘रघुवीर कुल’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘माया’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘खतरों के खिलाडी’ में देखा गया था। इस फिल्म में माधुरी के साथ संजय दत्त को कास्ट किया गया था। उनकी साल की तीसरी फिल्म ‘दयावान’ थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘फिरोज खान’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘नीला वेल्हु’ नाम का किरदार अभिनय किया था। माधुरी की उस साल की यह सभी फिल्मे भी फ्लॉप फिल्मो की सूचि में ही शामिल हुई थी।

उसी साल के अंत में माधुरी ने अपनी पहली ब्लॉकबस्टर फिल्म में अभिनय किया था। इस फिल्म का नाम ‘तेज़ाब’ था और फिल्म के निर्देशक ‘एन चंद्रा’ थे। फिल्म में माधुरी ने ‘मोहिनी’ नाम के किरदार को दर्शाया था जो की उनके लोकप्रिय किरदारों में से एक माना जाता है। फिल्म में उन्होंने अभिनेता अनिल कपूर के साथ मुख्य किरदार को दर्शाया था। यहाँ से माधुरी का फिल्मो में नामी सफर शुरू हुआ था।

माधुरी दीक्षित का फिल्मो का बाद का सफर

साल 1989 की शुरुआत माधुरी ने फिल्म ‘वर्दी’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘उमेश महरा’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘जया’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में माधुरी दीक्षित और जैकी श्रॉफ की जोड़ी देखने को मिली थी और फिल्म को भी दर्शको ने पसंद किया था। इसके बाद उस साल की माधुरी की अगली ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘राम लखन’ थी। इस फिल्म में माधुरी ने ‘राधा शास्त्री’ नाम का किरदार अभिनय किया था और उनके साथ अभिनेता अनिल कपूर ने भी मुख्य किरदार दर्शाया था।

इसके बाद उसी साल माधुरी को फिल्म ‘प्रेम प्रतिज्ञा’ में देखा गया था। फिल्म में उन्होंने ‘लक्ष्मी राओ’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म में उनके साथ मुख्य किरदार को मिथुन चक्रवर्ती ने अभिनय किया था। उसी साल माधुरी को फिल्म ‘इलाका’, ‘मुजरिम’, ‘त्रिदेव’, ‘कानून अपना अपना’, ‘परिंदा’ और ‘पाप का अंत’ जैसी हिट फिल्मो में भी देखा गया था।

साल 1990 में सबसे पहले माधुरी ने फिल्म ‘महा- संग्राम’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मुकुल आनंद’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘झुमरी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्होंने फिल्म ‘किशन कन्हैया’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राकेश रोशन’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘अंजू’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘इज़्ज़तदार’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस में ठीक ठाक पसंद की गई थी।

उस साल की उनकी ब्लॉकबस्टर फिल्म की बात करे तो उस साल माधुरी ने फिल्म ‘दिल’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उनकी जोड़ी अभिनेता आमिर खान के साथ दर्शाई गई थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘मधु महरा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। उसी साल माधुरी को कुछ और फिल्मो में भी देखा गया था जिनका नाम ‘दीवाना मुझ सा नहीं’, ‘जीवन एक संघर्ष’, ‘सैलाब’, ‘जमाई राजा’ और ‘थानेदार’ है।

साल 1991 में माधुरी की कोई भी फिल्म ब्लॉकबस्टर फिल्म के रूप में सामने नहीं आई थी। इस साल उन्होंने फिल्म ‘प्यार का देवता’, ‘100 डेज’, ‘प्रतिकार’, ‘साजन’ और ‘प्रहार’ में अभिनय किया था। साल 1992 में माधुरी को फिल्म ‘बेटा’, ‘ज़िंदगी एक जुआ’, ‘प्रेम दीवाना’, ‘खेल’ और ‘संगीत’ में देखा गया था।

साल 1993 में माधुरी की फिल्म एक बार फिर ब्लोग्कबस्टर फिल्मो की सूचि में शामिल हुई थी। उस फिल्म का नाम ‘खलनायक’ था और फिल्म के निर्देशक ‘सुभाष घई’ थे। फिल्म में माधुरी ने ‘गंगोत्री देवी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में माधुरी, संजय दत्त और जैकी श्रॉफ को मुख्य किरदार में देखा गया था।

उसी साल माधुरी ने फिल्म ‘दिल तेरा आशिक़’ में अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘आँसू बने अंगारे’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मेहुल कुमार’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘उषा’ और ‘मधु’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 1994 की शुरुआत माधुरी ने फिल्म ‘अंजाम’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘राहुल रवैल’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘शिवानी चोपड़ा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में माधुरी के साथ अभिनेता शाहरुख़ खान ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। उसी साल माधुरी ने अभिनेता सलमान खान के साथ फिल्म ‘हम आपके है कौन..!’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘निशा चौधरी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में ब्लॉकबस्टर कमाई की थी।

साल 1995 में माधुरी ने फिल्म ‘राजा’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘मधु गढ़वाल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘याराना’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘ललिता’ और ‘शिखा’ नाम के किरदारों को दर्शाया था।

साल 1996 की बात करे तो उस साल सबसे पहले माधुरी को फिल्म ‘प्रेम ग्रन्थ’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘कजरी’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘राजीव कपूर’ थे। इस फिल्म में माधुरी के साथ ऋषि कपूर ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। उस साल की माधुरी की अगली फिल्म का नाम ‘राजकुमार’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘पंकज पराशर’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘राजकुमारी विशाका’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 1997 में माधुरी ने फिल्म ‘कोयला’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राकेश रोशन’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘गौरी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। उस फिल्म में माधुरी के साथ शाहरुख़ खान ने मुख्य किरदार को दर्शाया था। उस साल माधुरी ने फिल्म ‘महानता’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अफ़ज़ल खान’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘केतकी’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

उस साल की ब्लॉकबस्टर फिल्म की बात करे तो माधुरी ने उस साल फिल्म ‘दिल तो पागल है’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘यश चोपड़ा’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘पूजा’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को माधुरी दीक्षित, करिश्मा कपूर और शाहरुख़ खान ने अभिनय किया था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई के साथ अपना नाम सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 1998 में माधुरी ने फिल्म ‘वजूद’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘अपूर्व चौधरी’ नाम का किरदार अभिनय किया था और फिल्म के निर्देशक ‘एन. किठानिआ’ थे। फिल्म में मुख्य किरदारों को माधुरी और नाना पाटेकर ने अभिनय किया था। साल 1999 में माधुरी ने फिल्म ‘आरज़ू’ में अभिनय किया था। फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘पूजा’ था और फिल्म के निर्देशक ‘लॉरेंस डि’सूज़ा’ थे। फिल्म को दर्शको ने ठीक ठाक पसंद किया था।

माधुरी दीक्षित का फिल्मो का सफल सफर

साल 2000 की शुरुआत माधुरी ने फिल्म ‘पुकार’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘अंजलि’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने पसंन्द किया था। इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘गाजा गामिनी’ में भी देखा गया था।

साल 2001 की माधुरी की सुपरहिट फिल्म ‘लज्जा’ थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार संतोषी’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘जानकी’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2002 में उन्होंने अपने पहली हिट फिल्म ‘हम तुम्हारे हैं सनम’ में अभिनय किया था। फिल्म में माधुरी के किरदार का नाम ‘राधा’ था और फिल्म के निर्देशक ‘के. एस. अधिमान’ थे। फिल्म में मुख्य किरदारों को माधुरी दीक्षित, शाहरुख़ खान और सलमान खान ने अभिनय किया था।

उसी साल उनकी दूसरी ब्लॉकबस्टर फिल्म भी रिलीज़ हुई थी। इस फिल्म का नाम ‘देवदास’ थ,  जिसमे मुख्य किरदारों को ऐश्वर्या राय, शाहरुख़ खान, माधुरी दीक्षित और जैकी श्रॉफ ने अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक ‘संजय लीला भंसाली’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘चंद्रमुखी’ नाम के किरदार को दर्शाया था।

साल 2002 के बाद माधुरी को साल 2007 में फिल्म ‘आजा नचले’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनिल मेहता’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘दिआ’ नाम का किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म दर्शको को बहुत पसंद आई थी और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में अच्छी कमाई की थी।

साल 2013 में माधुरी ने एक हिट आइटम गाने के साथ एक बार फिर हिंदी फिल्मो में अपनी वापसी की थी। इस फिल्म का नाम ‘यह जवानी है दीवानी’ था और गाने का नाम ‘घागरा’ था। यह गाना दर्शको को बहुत पसंद आया था और फिल्म को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

साल 2014 में माधुरी ने फिल्म ‘डेढ़ इश्क़िया’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अभिषेक चौबे’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘बेगम पारा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को नसीरुद्दीन शाह, अरशद वारसी, हुमा कुरैशी और माधुरी दीक्षित ने अभिनय किया था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी और अपना नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

इसके बाद उसी साल उन्हें फिल्म ‘गुलाब गैंग’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘सौमिक सेन’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘रज्जो’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी अच्छी कमाई के साथ अपना नाम सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 2019 में माधुरी दीक्षित दो फिल्मो में अभिनय करती हुई नज़र आई थीं। उनकी उस साल की पहली फिल्म ‘टोटल धमाल’ थी जिसमे उन्होंने अनिल कपूर, अजय देवगन, अरशद वारसी, जावेद जेफ्री, रितेश देशमुख, संजय मिश्रा और जॉनी लीवर ने अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था।

इसके बाद उसी साल माधुरी ने फिल्म ‘कलंक’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अभिषेक वर्मन’ थे और फिल्म में माधुरी ने ‘बहार बेगम’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को माधुरी दीक्षित, संजय दत्त, वरुण धवन, आलिआ भट्ट, आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा ने अभिनय किया था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया था और फिल्म को फ्लॉप लिस्ट में शामिल होना पड़ा था।

पुरस्कार और उपलब्धियां

माधुरी दीक्षित ने अपने अभिनय की वजह से अभी तक 48 से भी अधिक अवार्ड्स को अपने नाम किया है। उनमे से कुछ की जानकारी नीचे मौजूद है।

  • साल 1991 में फिल्म ‘दिल’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1993 में फिल्म ‘बेटा’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1995 में फिल्म ‘हम आपके हैं कौन..!’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 1998 में फिल्म ‘दिल तो पागल है’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2003 में फिल्म ‘देवदास’ के लिए ‘बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2008 में ‘पद्मा श्री’ अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2011 में माधुरी द्वारा हिंदी सिनेमा में दिए गए योगदान के लिए उन्हें ‘फिल्मफेयर स्पेशल अवार्ड’ से सम्मानित किया गया था।
  • साल 2012 में ‘राज कपूर स्पेशल कंट्रीब्यूशन अवार्ड’ से सम्मानित किया गया था।

माधुरी दीक्षित का निजी जीवन

माधुरी दीक्षित के लव लाइफ की बात करे तो माधुरी का नाम सबसे पहले अभिनेता ‘अनिल कपूर’ के साथ जुड़ा था। उन दोनों ने एक साथ कई सारी फिल्मो में अभिनय किया है। अनिल कपूर के बाद माधुरी का नाम अभिनेता ‘संजय दत्त’ के साथ जुड़ा था। उन दोनों के प्यार के चर्चे बहुत सुनाई दिए थे लेकिन संजय दत्त के जेल जाने के बाद माधुरी ने संजय से अलग होने का फैसला लिया था।

माधुरी ने भारतीय क्रिकेटर ‘अजय जडेजा’ को भी कुछ समय तक डेट किया था। हालांकि दोनों का रिश्ता कुछ ज़्यादा समय तक टिक नहीं पाया था। माधुरी ने 17 अक्टूबर 1999 को ‘श्रीराम माधव नेने’ से शादी की थी। नेने पेशे से डॉक्टर हैं। उन दोनों के दो बेटे हैं जिनमे से बड़े बेटे का नाम ‘रायान नेने’ है और छोटे बेटे का नाम ‘अरिन नेने’ है।

माधुरी के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में कांदे पोहे, जुनका भाकर और मोदक पसंद है। माधुरी के पसंदीदा अभिनेता बलराज साहनी और ग्रेगोरी पैक हैं। अभिनेत्रियों में उन्हें नरगिस, मधुबाला, मेरिल स्ट्रीप और इंग्रिड बेर्गमन पसंद हैं। माधुरी का पसंद रंग नारंगी है।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 87

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

About the author

मनीषा शर्मा

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!