दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » दांतों को सफेद करने के प्राकृतिक उपाय और तरीके
स्वास्थ्य

दांतों को सफेद करने के प्राकृतिक उपाय और तरीके

दांतों को सफेद करनें के उपाय सब करते हैं, लेकिन रोज़ के खान-पान और आदतों के कारण हमारे दांतों की चमक फीकी पड़ जाती है। इस समस्या से निजात पाने के लिए हम कई प्रकार के उत्पादों का प्रयोग करते हैं लेकिन अधिकतर उत्पादों में आपके दांतों को सफ़ेद करने के लिए ऐसे रसायनों का प्रयोग होता है जो अत्यधिक हानिकारक होते हैं।

यदि आप चाहते हैं कि आपके दांत सफ़ेद होने के साथ स्वस्थ भी रहे तो ऐसे उपायों को अपनाएं जिनसे किसी प्रकार की हानि न हो और जो पूरी तरह से प्राकृतिक हों

आइये आपको ऐसे उपायों के बारे में बताते हैं जो प्राकृतिक और सुरक्षित तरीके से आपके दांतों को सफ़ेद करने में सहायक होते हैं

1. हाइड्रोजन परोक्साइड का करें प्रयोग

हाइड्रोजन परोक्साइड एक प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट होता है। ये आपके मुँह में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को भी नष्ट कर देता है। लोग पुराने ज़माने से इसका प्रयोग बैक्टीरिया से मुक्ति पाने के लिए करते आ रहे हैं।

कई उत्पादों में हाइड्रोजन परोक्साइड का प्रयोग किया जाता है लेकिन हमारी ज़रुरत से अधिक मात्रा में। केवल हाइड्रोजन परोक्साइड से दांतों की सफाई कैसे होती है, इस विषय पर शोध नहीं किये गये हैं लेकिन ऐसे कंपाउंड्स या उत्पाद जिनमें हाइड्रोजन परोक्साइड पाया जाता है उन पर अध्ययन किया गया है।

ऐसे ही एक अध्ययन में यह सिद्ध हुआ है कि बेकिंग सोडा और 1% हाइड्रोजन परोक्साइड युक्त टूथपेस्ट से दांत मांझने से दांतों में सफेदी आ जाती है। एक अन्य अध्ययन में यह पाया गया कि बेकिंग सोडा और हाइड्रोजन परोक्साइड युक्त टूथपेस्ट से नियमित रूप से 6 हफ़्तों तक दिन में दो बार दांत मांझने से 62% तक दांतों में सफेदी आ जाती है।

आप ऐसे माउथवाश का भी प्रयोग कर सकते हैं जिनमें हाइड्रोजन परोक्साइड पाया जाता है लेकिन याद रखें कि इसमें हाइड्रोजन परोक्साइड की मात्रा 1.5%-2% ही हो क्योंकि इससे अधिक मात्रा में ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है। यदि आपके माउथवाश में इसकी मात्रा अधिक है तो आप पानी मिलाकर इस मात्रा को कम कर सकते हैं

इसके अतिरिक्त, आप इसे घर पर भी बना सकते हैं। इसके लिए 2 बड़े चम्मच हाइड्रोजन परोक्साइड को 1 बड़े चम्मच बेकिंग सोडा के साथ मिला लें और फिर इससे ब्रश कर लें। हालांकि, याद रखें कि आप इस गृहनिर्मित टूथपेस्ट का अत्यधिक प्रयोग न करें क्योंकि इससे आपके दांत खराब हो सकते हैं।

2. फल और सब्जियां उपयोग में लायें

अधिक फल और सब्जियां युक्त आहार आपके शरीर के साथ आपके दांतों के लिए भी उपयोगी होता है। हालांकि, टूथपेस्ट के स्थान पर आप कुछ भी प्रयोग नहीं कर सकते हैं लेकिन कच्चे फल और सब्जियों को चबाने से आपके दांतों से प्लाक की मात्रा कम हो जाती है।

स्ट्रॉबेरी और अनानास दो ऐसे फल हैं जिन्हें इस सम्बन्ध में उपयोगी पाया गया है

स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी और बेकिंग सोडा का मिश्रण दांतों के लिए अत्यंत गुणकारी होता है। इस पर किये गये शोध में पाया गया है कि स्ट्रॉबेरी में मौजूद मैलिक एसिड दांतों के सफ़ेद रंग को बनाये रखता है और बेकिंग सोडा दागों से छुटकारा दिलाता है।

हालांकि, इस पर शोध द्वारा प्रमाण नहीं दिए गया हैं लेकिन एक अध्ययन में पाया गया है कि ये मिश्रण बाज़ार में मिलने वाले उत्पादों से अधिक लाभदायक नहीं होता है। शोध में तो यह बताया गया है कि इसका दांतों पर बहुत मामूली असर होता है लेकिन इसके बाद भी इसका अत्यधिक प्रयोग आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

इसे प्रयोग करने के लिए एक स्ट्रॉबेरी को तोड़ लें फिर इसमें बेकिंग सोडा मिलाकर इससे दांत मांझ लें

अनानास

एक शोध के अनुसार अनानास में पाया जाने वाला एंजाइम ब्रोमेलैन दांतों की सफेदी के लिए बाज़ार में मौजूद कुछ टूथपेस्ट से भी ज्यादा गुणकारी होता है। हालांकि, इसको साबित करने के लिए शोध मौजूद नहीं हैं।

3. तेल का करें प्रयोग

पुराने ज़माने से लोग दांतों की सफाई के लिए उन पर तेल की मालिश करते हैं। इस मालिश से दांतों में प्लाक पैदा करने वाले बैक्टीरिया से छुटकारा पाने का संघर्ष किया जाता है। लोग अक्सर सरसों और तिल के तेल का प्रयोग करते हैं लेकिन किसी भी तेल का प्रयोग इस सन्दर्भ में उपयोगी होता है

इस उपाय के लिए नारियल का तेल अत्यधिक फायदेमंद साबित होता है। इसमें मौजूद लोरिक एसिड सूजन को कम करता है और बैक्टीरिया को नष्ट कर देता है। हालांकि, इस पर कोई शोध नहीं किया गया है लेकिन इस उपाय से कोई हानि नहीं होती है तो इसका प्रयोग किया जाना चाहिए। 

इसके लिए मुँह में एक बड़ा चम्मच तेल डालकर मालिश करें। इस प्रक्रिया को 15-20 मिनट तक करते रहें। अन्य उपायों के समान ये आपके दांतों को खराब नही करता है जिससे इसका उपयोग यदि लाभदायक न हो तो भी आपको इससे हानि नहीं होती है। (पढ़िए: नारियल तेल के उपयोग)

4. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा में दांतों को सफ़ेद करने के गुण पाए जाते हैं जिससे ज़्यादातर टूथपेस्ट में ये मौजूद होता है। एक आपके मुँह में एल्कलाइन वातावरण बना देता है जिससे बैक्टीरिया उत्पन्न नहीं हो पाते हैं।

इसका असर तुरंत नहीं दिखता है इसलिए इसको लम्बे समय तक प्रयोग में लेकर आप इसका असर देख सकते हैं। इस पर अधिक शोध नहीं किये गये हैं लेकिन कुछ शोध में यह बात साबित हुई है कि बेकिंग सोडा युक्त टूथपेस्ट दांतों के लिए लाभदायक होते हैं।

ऐसा पाया गया है कि जिन टूथपेस्ट में बेकिंग सोडा मौजूद होता है, वे दांतों के लिए अधिक गुणकारी होते हैं। इसके लिए आप 1 बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा में 2 बड़े चम्मच पानी मिलाकर इससे ब्रश कर सकते हैं।

5. सेब का सिरका

सेब के सिरके को बहुत समय से क्लीनिंग एजेंट की तरह प्रयोग किया जाता रहा है। (सम्बंधित: सेब का सिरका से होनें वाले फायदे)

इसमें एसिटिक एसिड पाया जाता है जो बैक्टीरिया से निजात पाने में सहायक होता है। यही कारण है कि ये दांतों की सफाई के लिए उपयोगी होता है।

एक शोध में पाया गया है कि सेब के सिरके में ब्लीचिंग गुण होते हैं जिससे यह दांतों को साफ़ कर देता है लेकिन यह भी सिद्ध हुआ है कि विनेगर आपके दांतों को मुलायम कर देता है

इस मामले में ध्यान रहे कि आप कच्चा सेब ज्यादा ना खाएं। अत्यधिक सेब खाने से नुकसान भी बहुत हैं। सेब आपके दांतों की उपरी सतह को खराब कर सकता है।

एसिटिक एसिड आपके दांतों को खराब भी कर सकता है इसलिए इसका अत्यधिक प्रयोग न करें। इसे माउथवाश की तरह इस्तेमाल करने के लिए इसमें पानी मिला लें और कुछ मिनट तक मुँह में रखें लेकिन इसके सादा पानी से कुल्ला अवश्य कर लें। (सेब का सिरका बनाने की विधि)

6. दांतों के दागों को बढ़ने से पहले रोकें

आपके दांत उम्र के साथ पीले पड़ जाते हैं लेकिन इस पीलेपन को निम्न उपायों से रोका जा सकता है

  • दाग छोड़ देने वाले भोजन और पेय से रहें दूर

कॉफ़ी, रेड वाइन, सोडा और डार्क बेरी दांतों पर दाग छोड़ देने के लिए जाने जाते हैं। इसका यह अर्थ नहीं होता है कि आप इनका सेवन ही बंद कर दें लेकिन इसका सेवन कम अवश्य कर दें। (पढ़िए: कॉफ़ी पीने के नुकसान)

इसके लिए आप दाग छोड़ देने वाले पेय को स्ट्रॉ की मदद से ग्रहण कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप ऐसे भोजन का सेवन करने के पश्चात ब्रश अवश्य कर लें। 

धूम्रपान और तम्बाकू चबाने जैसी आदतों को भी छोड़ दें

  • शक्कर का सेवन कम कर दें

यदि आप सफ़ेद दांत चाहते हैं तो शक्कर के सेवन में घटोतरी कर दें। भारी मात्रा में शक्कर से भरपूर आहार दांतो को सडाने के लिए ज़िम्मेदार बैक्टीरिया का विकास करता है। इस बैक्टीरिया से प्लाक उत्पन्न होता है।

शक्कर युक्त भोजन लेने के बाद ब्रश अवश्य कर लें।

  • भारी मात्रा में कैल्शियम लें

अकसर दांतों का रंग इनेमल के खराब हो जाने के कारण पीला पड़ जाता है इसलिए अपने इनेमल को स्वस्थ रखने के लिए आप जिन उपायों का इस्तेमाल करते हैं वो आपके दांतों के रंग को खराब होने से बचाते हैंकैल्शियम युक्त भोजन जैसे दूध, चीज़ और ब्रोक्कोली से इनेमल को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। (पढ़ें: दूध पीने के फायदे)

7. ब्रशिंग और फ्लोस्सिंग की उपयोगिता को समझें

दांतों का पीलापन उम्र के साथ आता है लेकिन अक्सर यह दांतों में पैदा होने वाले प्लाक का नतीजा होता है। नियमित रूप से ब्रशिंग और फ्लोस्सिंग से इस समस्या का निवारण किया जा सकता है। 

टूथपेस्ट आपके दांतों से धीरे धीरे दागों को हटाता है और फ्लोस्सिंग से प्लाक विकास करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट कर देता है। नियमित रूप से ऐसा करने से दांत सफ़ेद और स्वस्थ रहते हैं।

सम्बंधित लेख:

  1. दांत का दर्द ठीक करने के उपाय
  2. पेट कम करनें के उपाय
  3. त्वचा को गोरा करने के उपाय
  4. बाल काले करने के घरेलु उपाय
  5. होंठ गुलाबी करने के उपाय

About the author

दिव्या

2 Comments

Click here to post a comment

  • मेरे दांत बहुत पीले पद गए हैं और कुछ दांत काले पद गए हैं अगर मुझे इनको सफ़ेद करना है तो क्या मुझे स्मोकिंग बंद करनी पड़ेगी ? क्या कोई आसान तरीका है ?

  • mere daant peele hain mujhe kon kon si fal sabziyaan khaani chaahiye jinse ki ye fir se safed ho jaaye and shine bhi karen

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!