दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » काले होंठ गुलाबी करने के 10 घरेलु नुस्खे और उपाय
स्वास्थ्य

काले होंठ गुलाबी करने के 10 घरेलु नुस्खे और उपाय

अक्सर कहा जाता है कि इंसान की आँखों से उसका व्यक्तित्व निखरता है लेकिन होंठ भी हमारे व्यक्तित्व का एक बहुत ही एहम हिस्सा होते हैं। सुन्दर होंठों से चेहरे पर अलग ही रौनक आ जाती है लेकिन आजकल के प्रदूषण भरे वातावरण से होंठों पर ऐसे दुष्प्रभाव हो रहे हैं जिनके कारण उनकी चमक फीकी होती जा रही है।

इन्ही कारणों की वजह से हम सौंदर्य प्रसाधनों का अधिक प्रयोग करने लगे हैं जिससे और भी ज्यादा नुक्सान हो रहा है। इस समस्या से निजात पाने के लिए हमें कुछ ऐसे उपायों को अपनाने की आवश्यकता है जिनका कोई दुष्प्रभाव न हो।

सम्बंधित: चेहरे को गोरा करने के घरेलु तरीके

आइये, आपको ऐसे आसान उपायों के बारे में बताते हैं जिनसे आपके होंठों की चमक बनी रहेगी और आपका चेहरा खिलता रहेगा

1. होंठों को चबाएं नहीं और मॉइस्चराइज करें

आपके मुँह की लार या थूक से आपके होंठ गीले होने के बजाय और भी अधिक सूख जाते हैं जिससे ये फटने लगते हैं और इनकी चमक भी चली जाती है। डर्मेटोलॉजिस्ट कहते हैं कि होंठों को गीला करने के लिए उनपर थूक नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इससे आपके होंठ अधिक सूखे हो जाते हैं और काले पड़ने लगते हैं।

इसके अतिरिक्त, होंठों को काटने की आदत भी छोड़ दें और अपने साथ एक बाम रखें जिसे होंठ सूखने समय समय पर लगायें। ये आपके होंठों को फटने से बचेगा और काला भी नहीं होने देगा।

2. होंठों पर नमी बने रहने दें

नमी की कमी होने से आपके होंठों पर काफी परेशानियां हो सकती हैं इसलिए सावधान रहना आपके लिए ज़रूरी होता है। अपने होंठों पर नमी बनाये रखने के लिए एक रूमाल पर थोडा पाउडर लगायें और होंठों पर रख लें। ऐसा करने से आपके होंठों की नमी बनी रहेगी।

3. घरेलू उत्पादों का करें उपयोग

सुन्दर गुलाबी होंठों की कल्पना सभी करते हैं और इसके लिए कुछ घरेलू उपाय भी मौजूद हैं। इनमें से कुछ निम्न हैं:

  • थोडा सा बादाम का तेल और शहद मिला लें, इसे अपने होंठों पर लगायें, मसाज करें और रातभर लगा रहने दें
  • सूखे और फटे हुए होंठों से छुटकारा पाने के लिए वेसिलीन में ओलिव ओइल मिला लें और दिन में 3-4 बार लगायें
  • नीम्बू का रस और ग्लिसरीन का मिश्रण जब प्रतिदिन लगाया जाता है तो इससे होंठों का कालापन दूर हो जाता है

4. एसपीएफ युक्त उत्पादों का करें प्रयोग

सूरज के तेज़ किरणों से होंठ काले पड़ जाते हैं। यूवी किरणों का जो असर हमारी त्वचा पर होता है, वही दुष्प्रभाव ये होंठों पर भी डालता है। यही कारण है कि आपको हमेशा ऐसे उत्पादों का प्रयोग करना चाहिए जिनमें एसपीएफ होता है। आजकल कई ऐसे ब्रांड हैं जो होंठों के लिए ऐसे लिपस्टिक और ग्लॉस बनाने लगे हैं जिनमें एसपीएफ होता है।

5. हफ्ते में एक बार सफाई करें

हमारे त्वचा की कोशिकाएं नियमित रूप से पुरानी कोशिकाओं को हटाकर नयी कोशिकाओं का उत्पाद करते रहते हैं। इस प्रक्रिया के कारण ही हमारी त्वचा कोमल और खिली हुई रहती है लेकिन यह आवश्यक होता है कि हम सफाई करके पुरानी कोशिकाओं को हटा दें। यही प्रक्रिया हमारे होंठों में होती रहती है

आपके होंठ पुरानी कोशिकाओं की मौजूदगी से फटे हुए और कुंठित न लगें इसके लिए ज़रूरी है कि आप इनकी नियमित रूप से सफाई करते रहे। आप हर हफ्ते एक प्राकृतिक स्क्रब का इस्तेमाल करके अपने होंठों की सफाई कर सकते हैं। इसके लिए आप ओलिव ओइल और शक्कर को मिलाकर स्क्रब तैयार कर सकते हैं और इससे सफाई करें। इसे पानी से धोने के बाद आप होंठों पर बाम लगा सकते हैं।

6. होंठों को रखें हाइड्रेटेड

हमारे शरीर का अधिकांश हिस्सा पानी से बना होता है और यही पानी हमारी त्वचा को नमी प्रदान करता है। इसी कारण शरीर में पानी की मात्रा बनाये रखना आवश्यक होता है। 

आपके होंठों में पानी की कमी का असर सबसे पहले दिखता है इसलिए अपने होंठों को सुन्दर बनाये रखने के लिए दिनभर भरपूर मात्रा में पानी पीते रहना चाहिए। अपने आहार में ऐसे पदार्थों को शामिल करें जिनमें उच्च मात्रा में पानी होता है इससे आपके होंठ नमी से भरे रहेंगे।

7. लिपस्टिक का प्रयोग कम करें

लिपस्टिक मूल रूप से मोम, रंजक, खुशबू, तेल और अल्कोहल का मिश्रण होते हैं। जब शरीर को लम्बे समय तक रसायनों से संपर्क में लाया जाता है तो वे शरीर को नुक्सान पहुंचा सकते हैं

आवश्यक ये है कि आप लिपस्टिक का तभी उपयोग करें जब आपको इनकी अत्यधिक आवश्यकता हो क्योंकि इसमें ऐसे रसायन होते हैं जो आपके होंठों के लिए नुकसानदायक होते हैं। आप लिपस्टिक को शेया बटर, विटामिन ई या जोजोबा ओइल के साथ लगा सकते हैं जिससे ये आपके होंठों में नमी बनी रहेगी। 

8. होंठों के आस पास झुर्रियों से बचें

होंठों के आस पास झुर्रियाँ धूप में निकलने, उम्र बढ़ने या धूम्रपान करने से हो जाती हैं। इसलिए यदि आप धूम्रपान करते हैं तो तुरंत ऐसा करना छोड़ दें। किन्तु, यदि इसके अलावा आपकी झुर्रियों का कारण धूम्रपान नहीं है तो आप अपने चेहरे पर रेटिनॉल युक्त क्रीम लगाये रखें

9. शीत घावों से छुटकारा पाएं 

शीत घावों का कारण टाइप 1 दाद सिंप्लेक्स वायरस होता है। लेकिन चिंता की बात नहीं है क्योंकि दुनिया के लगभग 90% लोगों के अन्दर यह वायरस निष्क्रिय रूप में पाया जाता है और जब अत्यधिक धूप में लोग निकलते हैं तो यह वायरस अपना असर दिखाने लगता है।

इसे रोकने का सबसे अच्छा तरीका यह होता है कि हर समय एक व्यापक स्पेक्ट्रम स्क्रीन का उपयोग करें लेकिन यदि ये तब भी न ठीक हो तो नींबू आधारित मरहम या क्रीम का उपयोग करें।

About the author

दिव्या

5 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!