गुरूवार, नवम्बर 21, 2019

गाजर का जूस पीने के 10 जबरदस्त फायदे

Must Read

पाकिस्तान में छात्रों का 29 नवंबर को देशव्यापी प्रदर्शन, बेहतर शिक्षा और शैक्षिक माहौल की मांग

पाकिस्तान में प्रगतिशील व वामपंथी छात्र संगठनों ने बेहतर शिक्षा और बेहतर शैक्षिक माहौल की मांग के साथ 29...

वीएफआई के खिलाफ कार्रवाई करेगा बेसलाइन वेंचर्स

बेसलाइन वेंचर्स भारतीय वॉलीबाल महासंघ (वीएफआई) के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है। कंपनी ने यह...

बांग्लादेश कप्तान मोमिनुल हक ने कहा, दिन-रात टेस्ट से पहले अभ्यास मैच अच्छा होगा

बांग्लादेश के कप्तान मोमिनुल हक ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का समर्थन करते हुए गुरुवार को कहा कि दिन-रात...

गाजर खाना सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर, विटामिन ए और मिनरल्स पाए जाते हैं जो रक्त शुद्ध करने में और शरीर को मजबूती प्रदान करने में सहायक होता है।

गाजर के स्थान पर यदि हम गाजर के रस का सेवन करें तो वह भी हमारी नेत्र सम्बंधित परेशानी को दूर कर सकता है क्योंकि उसमें भी गाजर के समान ही पोषण पाया जाता है।

गाजर के रस का सेवन गाजर की तुलना में ज्यादा आसान होता है और इसमें गाजर का सम्पूर्ण पोषण भी होता है।

गाजर का जूस पीने के फायदे (carrot juice benefits in hindi)

यहाँ गाजर के रस के सेवन से होने वाले फायदों का वर्णन किया गया है। आइये देखते है।

गाजर का जूस मेटाबोलिज्म की दर को बढाता है (carrot juice for metabolism in hindi)

गाजर के जूस से बायल (एन्जाईम) सीक्रीशन बढ़ जाता है। बायल सीक्रीशन के बढ़ने से मेटाबोलिज्म की दर बढ़ जाती है। बायल एक ऐसा पेय है जो फैट को तोड़ता है। एक शोध के अनुसार बायल के बढ़ने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है और शरीर का वज़न कम करने में मदद मिलती है।

गाजर के जूस में कैलोरीज की मात्रा बहुत कम होती है जिससे वज़न नियंत्रित रहता है। अन्य पेय पदार्थों का उपयोग बंद कर इसका सेवन करना सेहत के लिये अत्यधिक फायदेमंद हो सकता है।

गाजर का जूस त्वचा रोग दूर करता है (carrot juice benefits for skin in hindi)

यदि आपकी त्वचा बहुत नर्म है और इस पर त्वचा रोग बहुत जल्दी होता है तो गाजर के जूस का सेवन आपके लिए अत्यंत लाभकारी साबित हो सकता है।

गाजर के अन्दर मौजूद विटामिन सी में त्वचा रोग को ठीक करने की क्षमता होती है। यह त्वचा को किसी भी प्रकार की एलर्जी या त्वचा रोग से बचाता है। गाजर में मौजूद बीटा-कैरोटीन त्वचा की सूजन को कम करता है जो ठीक होने की प्रक्रिया को गतिमान कर देता है।

गाजर का रस आँखों की रौशनी तेज़ करता है (carrot juice benefits for eyes in hindi)

गाजर खाना सेहत के लिए अत्यंत लाभदायक माना जाता है, विशेषकर, आँखों के लिए क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है जो हमारी आँखों के लिए अतिआवश्यक होता है।

अक्सर, यह पाया जाता है कि विटामिन ए की कमी के कारण लोगों की आँखों की रौशनी कमज़ोर हो जाती है और उन्हें नेत्र सम्बन्धी अनेकों समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हालांकि, जो लोग नियमित रूप से गाजर का सेवन करते हैं उन्हें आँखों की कोई समस्या नहीं होती है।

विटामिन ए आँखों की सतह की रक्षा करता है और आँखों के रौशनी तेज़ करता है। गाजर का रस पीने से मोतियाबिंद और अंधेपन जैसी बीमारियाँ दूर रहती हैं। गाजर में ल्यूटिन नाम का एंटीओक्सीडैन्ट पाया जाता है जो आँखों को तेज़ रौशनी से बचाता है। (आँखों की रौशनी बढ़ाने के उपाय)

गाजर का जूस इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करता है (carrot juice for immunity in hindi)

अक्सर साधारण खांसी जुखाम भी ठीक नहीं होता है और काफी समय तक खिंच जाता है और हमारी दिनचर्या को प्रभावित करता है। इसका मुख्य कारण हमारा कमज़ोर इम्यून सिस्टम होता है।

यदि हम अपने प्रतिदिन के आहार में गाजर के रस को शामिल कर लें, तो हमारा इम्यून सिस्टम काफी मज़बूत हो जायेगा और निरंतर काम करेगा। इसका कारण गाजर के रस में मौजूद एंटीओक्सीडैन्ट्स होते हैं जो रेडिकल्स से लड़ते हैं और हमें बिमारियों से बचाते हैं।

गाजर का जूस कम करता है कैंसर का खतरा (carrot juice benefits for cancer in hindi)

कैंसर होने का मुख्य कारण सेल्स का मल्टीप्लाई होना होता है। गाजर के रस में मौजूद एंटीओक्सीडैन्ट्स सेल्स को मल्टीप्लाई होने से रोकते हैं और कैंसर के खतरे को कम करते हैं।

एक अध्ययन में यह पाया गया कि ल्यूकेमिया कोशिकाओं और गैर ट्यूमर नियंत्रण कोशिकाओं के उपचार में 72 घंटे के लिए गाजर का रस इस्तेमाल किये जाने से सेल्स की मृत्यु हुई और रोग की प्रगति को रोक दिया गया। इससे पता चलता है कि गाजर में ल्यूकेमिया के उपचार के लिए प्रभावी बायोएक्टिव रसायन शामिल होते हैं। युवा पुरुषों के एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि बीटा-कैरोटीन में समृद्ध आहार प्रोस्टेट कैंसर से बचाव कर सकता है।

गाजर के जूस के फायदे कोलेस्ट्रोल कम करने में (carrot juice decrease cholestrol in hindi)

यदि आप काफी समय से अपना कोलेस्ट्रोल कम करना चाह रहे हैं पर नहीं कर पा रहे है तो गाजर के रस का सेवन करना शुरू कर दे। इसमें आपका कोलेस्ट्रोल नियंत्रित रखने के ख़ास गुण पाए जाते हैं।

ऐसा इसलिए संभव हो पाता है क्योंकि गाजर और उसके रस में पोटैशियम की भरपूर मात्रा होती है जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित रखने में सहायक होती है। कोलेस्ट्रोल का स्तर गिरने  से आप अनगिनत बिमारियों से दूर रह सकते हैं। इनमें से मुख्य बीमारियों में हृदय रोग और ब्लड प्रेशर की समस्या होते है।

हालांकि, किसी भी प्रकार की दावा का सेवन बंद करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श ले लें।

गाजर का जूस पीने से मस्तिष्क में मजबूती आती है (carrot juice for brain in hindi)

गाजर के रस में बीटा कैरोटीन भी संज्ञानात्मक कार्य में सुधार कर सकता है और उम्र से संबंधित स्मृति समस्याओं और डेमनशिया के जोखिम को कम कर सकता है।

ओक्सीडेटिव तनाव मस्तिष्क के सेल्स के डैमेज होने के कारण होता है या फिर तब जब इन सेल्स अरे पुनर्जन्म नहीं हो पता। इसके कारण नर्व सेल्स कमज़ोर हो जाता है और हमारी स्मृति भी कमज़ोर होने लगती है। हालांकि, गाज़र के रस में मौजूद बीटा-कैरोटीन इस समस्या को दूर करता है और हमारे मस्तिष्क को तेज़ करता है

एक अध्ययन में, जिन कार्यकर्ताओं का नेतृत्व किया गया, उन्हें 12 सप्ताह की अवधि में 10 मिलीग्राम बीटा कैरोटीन के साथ इलाज किया गया। अध्ययन में पाया गया कि उपचार के बाद, बीटा-कैरोटीन प्राप्त करने वाले समूह में कम ऑक्सिडेटिव तनाव था।

गाजर का जूस पीने से स्वस्थ होती है गर्भावस्था (carrot juice in pregnancy in hindi)

गर्भावस्था एक स्त्री के लिए अत्यंत महत्त्वपूर्ण एवं जोखिम भरा समय होता है। इसमें ज़रूरी होता है कि महिलाएं अपना पूर्ण रूप से ध्यान रखें। ऐसा पाया गया है गाजर का रस गर्भवती महिलाओं के लिए अत्यंत लाभकारी होता है

इसमें मौजूद कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम और विटामिन ए गर्भवती महिलाओं को आवश्यक पोषण प्रदान करता है। 

कैल्शियम आपके भ्रूण को मजबूत हड्डियों और कार्टिलेज का विकास करने में मदद करता है, जबकि फोलेट जन्म के कारण आने वाली समस्याओं को दूर करता है।

ऑब्स्टेट्रिशियन और गायनकोलोलॉजिस्ट (एओओओजी) के अमेरिकन कॉलेज के अनुसार, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को प्रति दिन 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

गाजर के रस में विटामिन सी और विटामिन ए गर्भावस्था में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है।

ये विटामिन्स माता और भ्रूण, दोनों की ही रक्षा करते हैं और उनको इम्युनिटी प्रदान करते हैं ताकि वे संक्रमण से बच सकें। (सम्बंधित: गर्भावस्था में केला खाना)

ये भी पढ़ें:

  1. केले का जूस पीने के लाभ
- Advertisement -

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान में छात्रों का 29 नवंबर को देशव्यापी प्रदर्शन, बेहतर शिक्षा और शैक्षिक माहौल की मांग

पाकिस्तान में प्रगतिशील व वामपंथी छात्र संगठनों ने बेहतर शिक्षा और बेहतर शैक्षिक माहौल की मांग के साथ 29...

वीएफआई के खिलाफ कार्रवाई करेगा बेसलाइन वेंचर्स

बेसलाइन वेंचर्स भारतीय वॉलीबाल महासंघ (वीएफआई) के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है। कंपनी ने यह कदम वीएफआई के द्वारा करार...

बांग्लादेश कप्तान मोमिनुल हक ने कहा, दिन-रात टेस्ट से पहले अभ्यास मैच अच्छा होगा

बांग्लादेश के कप्तान मोमिनुल हक ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का समर्थन करते हुए गुरुवार को कहा कि दिन-रात टेस्ट मैच से पहले अभ्यास...

भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच को लेकर विराट कोहली ने कहा कि विदेशों में दिन-रात टेस्ट मैच से पहले अभ्यास मैच अच्छा होगा

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का कहना है कि विदेशों में दिन-रात टेस्ट मैच खेलने से पहले अभ्यास मैच खेलना सही होगा।...

पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य विमान के अनाधिकृत रूप से घुसने की चर्चा

पाकिस्तान में इस बात की चर्चा है कि अमेरिका के एक सैन्य विमान ने अनाधिकृत रूप से देश के हवाई क्षेत्र में प्रवेश किया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -