दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » आँखों की रौशनी बढ़ाने के 15 घरेलु उपाय और नुस्खे
स्वास्थ्य

आँखों की रौशनी बढ़ाने के 15 घरेलु उपाय और नुस्खे

आखों की रौशनी बढाने के उपाय

आँखें हमारे शरीर का सबसे महत्त्वपूर्ण और उपयोगी अंग होती हैं। ये आपको देखने की क्षमता प्रदान करने के साथ आपको बिना चीजों को छुए उन्हें महसूस करने की शक्ति भी देती हैं। इसलिए यह अतिआवश्यक हो जाता है कि आप इनकी सही तरीके से रक्षा और देखभाल करें।

हालाँकि, आपकी उम्र, आपके जीन और इलेक्ट्रॉनिक्स का आपकी आँखों पर असर पड़ता है लेकिन इसके साथ ही आप क्या भोजन गृहण करते हैं ये भी बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। ये आपके रेटिना और कॉर्निया को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

आइये हम जानते हैं कि वे ऐसे कौनसे भोजन हैं जिनसे हमारी आँखों की रौशनी सुधारी जा सकती है।

आँखों की रौशनी बढ़ाने के उपाय

पालक बढ़ाये आँख की रौशनी

पालक में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आँखों के लिए अत्यधिक लाभकारी होते हैं। इनमें विटामिन ए, ई, बी, सी, आयरन और जिंक जैसे मिनरल्स के साथ फाईटोन्यूट्रियन्ट्स जैसे ल्यूटिन और ज़ेकैक्टीन शामिल हैं।

कैरोटीनॉड्स, ल्यूटिन और ज़ेकैक्थिन में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसलिए, रोजाना पर्याप्त मात्रा में पालक खाने से मैक्यूलर डिएनेरेशन और मोतियाबिंद को रोकने में मदद मिल सकती है। चूंकि इसमें जिंक होता है, पालक कॉर्निया को स्वस्थ रखने में भी लाभदायक होता हैं।

अपनी स्मूथी में पालक मिलाकर आप इसे पौष्टिक बना सकते हैं। इसके स्वाद को अच्छा करने के लिए आप इस स्मूथी में फल आदि डाल सकते हैं। पालक की डाल और इसका सूप अत्यंत लज़ीज़ होते हैं। इसके अतिरक्त अपने सैंडविच में पालक डालकर आप इसे कुरकुरा भी बना सकते हैं।

सेम और फलियाँ आँख के लिए फायदेमंद

सेम और फलियाँ, दोनों ही जिंक और बायोफ़्लवोनोइद्स का एक अच्छा स्रोत माने जाते हैं। ये आपकी आँखों के रेटिना को सुरक्षित रखते हैं और साथ ही मोतियाबिंद के खतरे को कम करते हैं।

आप अपनी आंखों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए पर्याप्त मात्रा में दाल, राजमा, चना, हरी मटर और स्प्राउट का सेवन कर सकते हैं।

आँख की रौशनी के लिए फायदेमंद खट्टे फल

हमारी आँखों का मेटाबोलिक स्तर काफी ज्यादा होता है और इनको निरंतर रूप से एंटीओक्सीडैन्ट्स चाहिए होते हैं ताकि वे मेटाबोलिज्म के दौरान बनने वाले विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल सकें।

संतरे, नीम्बू, बेरी और कीवी ऐसे खट्टे फल हैं जिनमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो हमारी इम्युनिटी को बढ़ा देता है। यह एक एंटीओक्सीडैन्ट है जो आँखों को ऑक्सीजन द्वारा नुक्सान होने से रोकता है। इसके अतिरिक्त विटामिन सी आँखों की कोशिकाओं को स्वस्थ भी रखता है।

सूरजमुखी के बीज आँखों के लिए फायदेमंद

ये बीज आपकी आखों के लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं। इनमें प्रचुर मात्रा में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। विटामिन ई, प्रोटीन और स्वास्थवर्धक वासा से युक्त ये बीज आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य में योगदान देते हैं।

ये बीज सूजन दूर करते हैं और मेटाबोलिज्म के दौरान शरीर में पैदा होने वाली गन्दगी को साफ़ कर देते हैं। आप इन्हें नाश्ते में, सलाद में या स्मूथी में ले सकते हैं और इनके लाभों का अनुभव कर सकते हैं।

नजर तेज करने के लिए खाएं ब्रोक्कोली

ब्रोक्कोली एक ऐसी सब्जी जिससे अनेकों फायदे होते हैं। इसमें मौजूद विटामिन ए, ई, सी और ल्यूटिन इसे आपकी आँखों के लिए सर्वश्रेष्ठ भोजन बना देते हैं।

ये आपकी आँखों की द्रष्टि के लिए सर्वोच्च है और आँखों को फोटोडैमेज या ओक्सीडैमेज से बचाता है। आप इसे भुनी हुई ब्लैंचेड ले सकते हैं।

लाल शिमला मिर्च भी है आँखों की रौशनी बढ़ाने का उपाय

लाल शिमला मिर्च विटामिन ए, ई, सी, ज़ेकैक्थिन और ल्यूटिन का एक बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है। ये विटामिन और फाईटोन्यूट्रियन्ट्स आंखों को धब्बेदार अवस्था से बचाने के लिए और ऑक्सीडेटिव क्षति को रोककर रेटिना का स्वास्थ्य अच्छा बनाए रखने में मदद करते हैं।

आप लाल शिमला मिर्च को कच्चे, ब्लैंचेड, या सॉटेड तरीके से ले सकते हैं।

ओएस्टर

ओएस्टर में प्रचुर मात्रा में जिंक पाया जाता है जो नेत्रों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए जाना जाता है। आप किसी भी अच्छे रेस्टोरेंट में जाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

साबुत अनाज

साबुत अनाज खाना सेहत के लिए अत्यधिक फायदेमंद होता है। इसमें श्रेष्ठ मात्रा में फाइबर, फाईटोन्यूट्रियन्ट्स, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। 

इसमें मौजूद जिंक और विटामिन ई आँखों के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। ये आँखों को सूजन और ओक्सीडेटिव क्षति से बचाते हैं और दृष्टि को तेज़ करते हैं।

नेत्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए क्विनिनो, साबुत दाल, जई और ब्राउन राइस का सेवन करें। 

गोभी (केल)

केल अर्थात गोभी में प्रचुर मात्रा में विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर और ल्यूटिन पाया जाता है। अत्यधिक रोशनी और ऑक्सीडेटिव नुकसान को रोकने में ल्यूटिन लाभकारी होता है और उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन और मोतियाबिंद से आंखों को बचाता है।

लगभग 100 ग्राम केल आपको 11 मिलीग्राम ल्यूटिन प्रदान करता है। आप केल को सलाद, सूप, सैंडविच, रैप और सैंडविच में ले सकते हैं।

नट्स

नट्स स्वास्थवर्धक वासा और विटामिन ई का अच्छा स्रोत होते हैं और ये सूजन रोकने में लाभकारी होते हैं। अध्ययनों में यह भी पुष्टि की गई है कि विटामिन ई से समृद्ध नट्स का सेवन करने से उम्र से संबंधित मोतियाबिंद को रोकने में मदद मिल सकती है।

आपकी दृष्टि को सुधारने और सुरक्षा में मदद करने के लिए आपको हर दिन एक मुट्ठी भर मिश्रित नट्स लेना चाहिए। हालांकि, आनन्द की इन छोटी पोटलियों से सावधान रहें कि आप इन्हें कहीं हद्द से ज्यादा न ले लें।

डेरी

दूध और योगर्ट आँखों की दृष्टि में सुधार के लिए सर्वश्रेष्ठ माने जाते हैं। कैल्शियम और फोस्फोरौस में भरपूर होने के साथ ही इसमें जिंक और विटामिन ए की भी प्रचुर मात्रा पायी जाती है।

विटामिन ए आपकी आँखों के कॉर्निया की रक्षा करता है तो वहीं जिंक आपके लीवर से आँखों तक विटामिन ए को पहुँचाता है। जिंक आपको अँधेरे में देखें में होने वाली समस्या को भी दूर करता है और मोतियाबिंद के खतरे को भी दूर रखता है।

आप सुबह या रात में सोने से पहले दूध का सेवन कर सकते हैं और योगर्ट को नाश्ते की तरह खाना खाने के बाद ले सकते हैं। (पढ़ें दूध पीने के फायदे)

अंडे

अण्डों में आवश्यक अमीनो एसिड और पानी के घुलनशील और वसा-घुलनशील विटामिन दोनों की ही प्रचुर मात्रा पायी जाती है। अंडे के योल्क में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा थोड़ी अधिक होती है लेकिन यह ल्यूटिन और ज़ेकैक्टीन का एक बहुत अच्छा स्रोत होता है, जो इसे पीला रंग प्रदान करता है।

अपनी आँखें स्वस्थ रखने के लिए एक या दो उबले हुए अंडे खाएं। इनको आप अन्य भोजन में मिलकर भी ले सकते हैं, ये आपके खाने का स्वाद भी बढाते हैं।

शकरकंद

शकरकंद में आँखों की रौशनी बढाने के अनमोल गुण पाए जाते हैं। इसमें मौजूद पीला पदार्थ इसको ज़ेक्सैथीन और ल्यूटेन द्वारा दिया जाता है। शकरकंद में एंटीओक्सीडैन्ट्स होते हैं जो सूजन भगाने में मदद करते हैं और विषैले पदार्थों को भी हटा देते हैं।

आप इसको उबाल कर या भून कर खा सकते हैं और इसके लाभों का अनुभव कर सकते हैं। ये खाने में भी स्वादिष्ट होता है। इसके अतिरिक्त आप इसको दूध में डालकर इसकी खीर भी बना सकते हैं

फैटी फिश

फैटी फिश ओमेगा -3-फैटी एसिड की समृद्ध स्रोत होती है और ओमेगा -3s, ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड के अनुपात को संतुलित करता है जिससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है।

जब सूजन का स्तर कम होता है, तो आपके शरीर और मस्तिष्क के कार्यों में सुधार होता है, जिससे आपकी इम्युनिटी बढ़ जाती है। इसके अलावा, रेटिना के पास का क्षेत्र डीएचए से भरपूर होता है जो ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक प्रकार है। इसलिए मछली, सैल्मन, ट्यूना, और मैकेरल जैसे उपभोक्ता आपकी आंखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं।

यदि आप मछली खाने वाले नहीं हैं, तो आप अपने डॉक्टर से बात करने के बाद मछली के तेल की खुराक ले सकते हैं। फैटी मछली का उपभोग करने का सबसे अच्छा तरीका ग्रिल करना होता है। तलना से इसकी पोषण मात्रा कम हो सकती है।

गाजर बढ़ाये आँखों की रौशनी

गाजर ऐसी पौष्टिक सब्जी है जो किसी भी पकवान को एक अद्भुत रंग प्रदान करती है। वे बीटा कैरोटीन, एक एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ए के अग्रदूत के साथ भरी हुई होती है।

वैज्ञानिकों ने पाया है कि गाजर का सेवन करने वाले लोगों में नाइट विजन सुधर जाता है और दृष्टि को तेज़ करने में मदद मिलती है। गाजर ऑक्सीडेटिव क्षति और सूजन को रोकने में भी मदद करते हैं जो दृष्टि की समस्याओं के दो प्रमुख कारण हैं।

आपको इंटरनेट पर गाजर सूप के लिए कई रेसिपी मिल जाएँगी। आप इसे किसी सब्जी में डालकर भी पका सकते हैं लेकिन कच्चे गाजर में सबसे अधिक पोषण पाया जाता है।

जब भूख लगे तब आप इसे खा सकते हैं या सलाद में भी मिला सकते हैं लेकिन याद रखें कि अत्यधिक मात्रा में न लें क्योंकि उससे विटामिन ए की अधिकता नुकसानदायक हो सकती है। इसके अलावा पानी भी अधिक मात्रा में पीयें। (गाजर का जूस पीने के फायदे)

अलसी

अलसी में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं। अलसी में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 मौजूद होता है, जो आँखों में लाभदायक होता है। आँखों के लिए अलसी के तेल का इस्तेमाल करें। लगातार इसका इस्तेमाल करनें से आँखें मजबूत बनती हैं।

अलसी को आप कई रूप में खा सकते हैं। बेहतर परिणाम के लिए सुबह खाली पेट अलसी खाएं।

About the author

दिव्या

6 Comments

Click here to post a comment

  • meri ankhon ki roshni bahut kam hai. mere chashma bhi chadha hai. chasme ki power 0.2 hai. mujhe aankh ki roshni badhaane ke liye kya karna chahiye.? main gajar ka juice peeta hoon.

  • meri aankh mein dard hota hai padhte samay. kabhi kabhi aankh lal bhi ho jaati hai. mujhe kya karna chahiye?

  • main jab bhi 2 ghante se zyaada padh leta hoon to meri aankhen dard karne lag jaati hain mere exams paas hain agar main nahin pdha to fail ho jaaunga please help

  • ये जानकारी देने के लिए बहुत धन्यवाद ये जानकारी बहुत उपयोगी है

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!