दा इंडियन वायर » मनोरंजन » मणिकर्णिका बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: फ़िल्म को हिट होने के लिए चाहिए 58 करोड़ और
मनोरंजन

मणिकर्णिका बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: फ़िल्म को हिट होने के लिए चाहिए 58 करोड़ और

मणिकर्णिका, सेलेब रिव्यु, बॉक्स ऑफिस कलेक्शन

समीक्षकों और दर्शकों की सकारात्मक प्रतिक्रिया के बावजूद ‘मणिकर्णिका‘ बॉक्स ऑफिस पर स्लो है। किन्ही जगहों पर फ़िल्म अच्छी चल रही है और किन्ही जगहों पर अच्छी नहीं चल रही है।

फ़िल्म ने सोमवार को 5.10 तथा मंगलवार को 4.75 करोड़ रुपये कमाए हैं और इसी के साथ फ़िल्म का कुल कलेक्शन 52.40 करोड़ रूपये हो चूका है।

फ़िल्म को हिट होने के लिए 120 करोड़ रूपये कमाने की जरूरत है। हालाँकि ‘मणिकर्णिका’ वीक डेज में उम्मीद पर खरी नहीं उतर रही है। इसके साथ ही फ़िल्म विवादों के घेरे में भी आ चुकी है।

लेखक अपूर्व असरानी ने कंगना रानौत पर एक नया हमला किया है। इन दोनों के बीच ‘सिमरन’ के समय से ही मनमुटाव चल रहा है। 

मणिकर्णिका के निर्माण के दौरान पर्दे के पीछे चल रहे नाटक के बारे में बात करते हुए अपूर्व ने एक ट्वीट में लिखा है कि सब कुछ होने के बावजूद भी यह एक ‘फ्लॉप फिल्म’ है।

उन्होंने लिखा है कि, “आप एक वरिष्ठ निर्देशक की परियोजना हथिया सकते हैं एक और निर्देशक को काम पर रख सकते हैं  लेकिन फिल्म पूरी होने के बाद उसे भी बाहर कर देते हैं।

और फिल्म निर्देशक के रूप में सारा श्रेय ले सकते हैं यहां तक ​​कि व्यापार और प्रेस भी आपकी बुराई और धोखाधड़ी का समर्थन करता है … लेकिन फिर भी आप एक फ्लॉप फिल्म बनाते हैं।”

इसके साथ अपूर्व ने #InstantKarmasGonnaGetYou का हैसटैग भी जोड़ा है।”

अपूर्व के ट्वीट का जवाब देते हुए, सोनी राजदान ने पूछा कि ‘केतन’ (जिस वरिष्ठ निर्देशक का जिक्र कर रहे थे) ने उनके ‘जुनून प्रोजेक्ट’ को सालों पहले हाईजैक कर लिया गया था, तो उन्होंने आपत्ति क्यों नहीं जताई? इसपर अपूर्वा ने जवाब दिया कि, “उन्होंने लिखा, लेकिन कोई भी उनके लिए खड़ा नहीं हुआ।”

अपूर्व के इस ट्वीट पर हजारो कमेंट्स आए कुछ कंगना के पक्ष में थे और कुछ विपक्ष में।

रानी लक्ष्मीबाई के जीवन पर आधारित मणिकर्णिका ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में लगभग 40 करोड़ से ज्यादा रुपये कमाए हैं। कंगना ने कथित तौर पर फिल्म के निर्देशक के रूप में पदभार संभाला, मूल फिल्म निर्माता, राजा कृष्ण जगरलामुदी, जिन्हें कृष के रूप में जाना जाता है, को मतभेदों पर प्रोजेक्ट छोड़ने के लिए कहा गया था।

इसी तरह की स्थिति ‘सिमरन’ के साथ भी हुई थी, जब अपूर्वा ने आरोप लगाया था कि कंगना ने उनकी पटकथा पर कब्जा कर लिया था और सेट पर निर्देशक हंसल मेहता के निर्देशन को कमजोर कर दिया था।

यह भी पढ़ें: गणितज्ञ शकुंतला देवी की बायोपिक में सान्या मल्होत्रा की माँ बन सकती हैं विद्या बालन

About the author

साक्षी सिंह

Writer, Theatre Artist and Bellydancer

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]