गुरूवार, अक्टूबर 24, 2019

भाजपा-शिवसेना के बीच सीटों का 50-50 बंटवारा, घोषणा अगले हफ्ते

Must Read

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है।...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते...

लोकसभा और विधानसभा चुनावों में सीटों के बंटवारे को लेकर भारतीय जनता पार्टी और अन्य पार्टियों में फैसला साफ होता दिख रहा है। भाजपा प्रमुख अमित शाह हाल में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलने उनके घक मतोश्री पहुंचे। वहां जाने का उनका मकसद सीटों के बंटवारे को लेकर बात साफ करना था। बताया जा रहा है इस बंटवारे की औपचारिक घोषणा सोमवार या मंगलवार तक कर दी जाएगी। ऐसा करके बीजेपी अपने साथी पार्टियों को भी बराबरी का सम्मान और मौका दे रही है।

इसके कुछ दिनों पहले ही भाजपा मुख्य बिहार के मुख्यमंत्री और गठबंधन में साथी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के नेता नीतीश कुमार के घर उनसे मिलने पहुंचे थे। दोनों सही पार्टियां सीटों के बराबर हुए बंटवारे से सहमत है।

नाम न बताने की शर्त पर एक भाजपा नेता ने बताया कि “गठबंधन में साथ दी रही पार्टियों को केवल सम्मान देना ही काफी नहीं है, बल्कि लोगों को दिखाना भी पड़ रहा है।”

उन्होंने यह भी बताया कि बीते कुछ दिनों में प्रधानमंत्री मोदी को लेकर शिवसेना का रुख आलोचक का रहा है, ऐसे में इन्हें शांत करने के लिए कुछ तो करना ही था। उन्होंने कहा कि भाजपा मुख्य का आगे से जाकर शिवसेना के प्रमुख से मिलने पर लोगों व कार्यकर्ताओं में यह संदेश पहुंचेगा कि शिवसेना अभी भी गठबंधन में शामिल है। दूसरी बात कि शिवसेना भी इससे सम्मान के तौर पर लेगी और राम मंदिर, कर्ज माफी व किसानों के मुद्दे पर थोड़ी शांत रहेगी।

सीट बंटवारे का फार्मूला लोकसभा चुनाव के लिए 50-50 का है। फिलहाल विधानसभा चुनाव में किसके हिस्से क्या आएगा इसका गणित अभी भी चालू है। हालांकि उम्मीद है वहां भी दोनों पार्टियां बराबर की हिस्सेदार होंगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है। यहां जिला पंचायत सीटों के...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते हुए बुधवार को सभी कंपनियों...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -