Fri. Jun 14th, 2024
    सोमी खान हुई बिग बॉस 12 से बाहर

    बिग बॉस 12” का आखिरी निष्कासन हो गया है और निष्कासित प्रतियोगी का नाम है जयपुर की सोमी खान। उन्होंने इस शो में अपनी बहन सबा खान के साथ विचित्र जोड़ी के रूप में प्रवेश किया था। घर से निकलने के बाद, उन्होंने हिंदुस्तानटाइम्स.कॉम से अपने अनुभव साझा किये।

    बिग बॉस 12 का सफर कैसा रहा?

    मैं ये शो तो नहीं जीती मगर मैं खुश हूँ कि मैं इतना आगे तक आ पाई। पहले मैं ये शो दर्शक के तौर पर देखती थी मगर अब घर में रहने के बाद मुझे काफी कुछ जानने को मिला। यह बहुत वास्तविक है और मेरे लिए बहुत बड़ा अवसर था। मेरी ज़िन्दगी बदल गयी है।

    अपने बदलाव की बात की, बिग बॉस के घर में रहते वक़्त आपने क्या सीखा?

    मैंने सीखा कि हमें कभी कभी खुद के बारे में भी सोचना चाहिए। मैंने सीखा कि अपनी बात लोगो के सामने कैसे रखनी है बिना ये सोचे कि सामने वाला इंसान मेरे बारे में क्या सोचेगा। खुद के लिए खड़े रहना आ गया है। अलग अलग पृष्ठभूमि के लोगो को जानने के बारे में मिला। इस घर में रहने के दौरान, मैंने मानसिक और भावनात्मक विकास का अनुभव किया है। अपने लिए नाम और शोहरत कमाई। लोग अब मुझे जानते हैं।

    आप अपनी बहन सबा खान के साथ जोड़ी में आई थी। उनके जाने के बाद क्या हुआ?

    भले ही हम जोड़ी में आये हो मगर हमें पता था कि हमारा सफर अलग अलग होगा। उनके जाने के बाद, मेरा समर्थन करने वाला कोई नहीं था। हम दोनों एक ही थे। अपनी बहन के सिवाय किसी भी इंसान को बेहतर समर्थन मिल ही नहीं सकता। मुझे एक-दो दिन का वक़्त लगा संभलने में फिर मैं समझ गयी थी कि मुझे आगे बढ़कर खुद के लिए लड़ना होगा।

    क्या आपको लगता है कि दीपक ठाकुर के साथ आपके खट्टे-मीठे रिश्ते की वजह से ही आपको इतनी लोकप्रियता मिली?

    मैं ये नहीं कहूँगी कि मुझे लोकप्रियता दिलाने में उसने मेरी मदद की। हम दोनों का एक ही साथ इस घर में सफर शुरू हुआ था। उन्होंने पहले फिल्मों में गाने गाये हुए हैं इसलिए लोग उन्हें पहले से ही जानते थे। मुझे लगता है कि उन्हें दीपक का मुझे चाहना अच्छा लगता था। उन्हें हम दोनों को साथ देखना अच्छा लगता था। मैं स्वीकार करती हूँ कि उन्हें हम दोनों में ही दिलचस्पी थी। लोगों ने मुझे आगे बढ़कर प्रदर्शन करते देखा है और इसलिए मुझे देखना चाहते थे।

    आपकी दीपक, रोमिल और सुरभि तीनो से ही अच्छी दोस्ती है। अगर किसी एक को चुनने के लिए कहा जाये तो आप किसे चुनेंगी?

    हम दोस्तों में चुन ही नहीं सकते हैं। सभी हमारे लिए उतने ही जरुरी हैं। हमारा हैप्पी क्लब था जो शो के अंत तक अनहैप्पी(उदास) बन गया। मगर हमने हमेशा एक दूसरे का साथ दिया है। सुरभि और रोमिल में भाई-बहन का रिश्ता था मगर उन दोनों में लड़ाई हो गयी। मेरी बात की जाये तो, मैंने रिश्तों को ध्यान में रखकर ये खेल खेला है। सब मेरे हैं और मैं किसी एक को नहीं चुन सकती।

    जसलीन मठारू ने ये कहा था कि हैप्पी क्लब तुम्हे पाल रहे हैं…

    मुझे नहीं पता उनकी दिक्कत क्या है। मैं इस शो में 13 हफ्ते रही हूँ। उनके सफर से लम्बा सफर था मेरा। यह मेरा व्यक्तिगत प्रदर्शन था। हैप्पी क्लब चार लोगों की वजह से बना था, किसी एक की वजह से नहीं। टीम ने हमेशा एक दूसरे का समर्थन दिया। हैप्पी क्लब का पता नहीं मगर मैं इस शो में सारी रुकावटों को पार करके एक मजबूत खिलाड़ी के रूप में इतना आगे आ पाई।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *