दा इंडियन वायर » खानपान » पालक का जूस पीने के फायदे
खानपान

पालक का जूस पीने के फायदे

पालक का जूस पीने के फायदे

पालक का हरी सब्ज़ियों में एक महत्वपूर्ण स्थान है। पालक अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होता है। पालक में कैरोटिन, एमिनो ऐसिड, आयरन, मैगनीशियम, विटामिन्स, पोटैशियम आदि पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं।

जिस प्रकार पालक हमारे लिए स्वास्थ्य वर्धक होता है, ठीक उसी प्रकार पालक का जूस भी अनेक लाभदायक गुणों से भरपूर होता है। इस लेख में हम पालक के जूस के फायदों के विषय में एक विस्तृत चर्चा करेंगे।

पालक जूस पीने के फायदे

1. पाचन संबंधी समस्याओं से निजात

पालक के जूस में फाइबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। यह फाइबर पाचन संबंधी समस्याओं से निजात दिलाता है। फाइबर आँतों की दीवारों को चिकना कर देता है और मल को मुलायम कर देता है। इस प्रकार क़ब्ज़ की समस्या से निजात मिलती है।

इसके अतिरिक्त पालक में अनेक ऐसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो पेट में हो रहे छालों का भी उपचार करते हैं। यह एसिडिटी से भी राहत देते हैं।

 

2. रक्त के प्रवाह को सामान्य रखना

पालक का जूस विटामिन सी से भरपूर होता है। यह शरीर के ऊतकों में से हानिकारक कणों को निकाल देता है।

रक्त भी एक प्रकार का ऊतक है। यह रक्त से वसा के हानिकारक कणों का निष्कासन कर देता है। इस प्रकार यह रक्त को अधिक गाढ़ा होने से बचाए रखता है इससे शरीर में रक्त का प्रवाह सामान्य बना रहता है।

3. एनीमिया से बचाव

पालक का जूस अनेक पोषक तत्वों के साथ-साथ विटामिन सी से भी भरपूर होता है। विटामिन सी लाल रक्त कणिकाओं को बनाने के लिए प्रेरित करता है।

इस प्रकार रक्त में लाल रक्त कणिकाओं की संख्या बढ़ जाती है और व्यक्ति की रक्ताल्पता या एनीमिया से रक्षा होती है।

4. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

पालक का जूस एंटीऑक्सीडेंट और फोलिक एसिड से भरपूर होता है। इस प्रकार यह शरीर के हानिकारक तत्वों से लड़ने में सक्षम होता है।

5. आँखों के लिए

पालक के जूस में विटामिन ए की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। ये दोनों तत्व आँखों के लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं। जिन लोगों को वर्णाधता या रात का अंधापन और मोतियाबिंद की समस्या है, उनके लिए पालक का जूस अत्यंत लाभदायक है।

इसके अतिरिक्त भी हम पालक के जूस का सेवन कर सकते हैं क्योंकि यह आँखों की रोशनी बढ़ाता है।

6. कैंसर विरोधी गुण

पालक हरा होता है क्योंकि इसमें क्लोरोफिल की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। इस प्रकार जब हम पालक का जूस बनाते हैं तो उसमें भी क्लोरोफिल की एक पर्याप्त मात्रा होती है। यह क्लोरोफिल शरीर के लिए अत्यंत लाभकारी होता है क्योंकि यह कैंसर से लड़ता है।

पालक के जूस में पाया जाने वाला क्लोरोफिल कैंसर बनाने वाली कोशिकाओं को बढ़ने या विभाजित होने से रोकता है। इस प्रकार शरीर की कैंसर से रक्षा होती है।

7. त्वचा के लिए

आजकल काम की अधिकता, तनाव और प्रदूषण के कारण हमारी त्वचा अपनी चमक व निखार खो देती है। इसके अतिरिक्त समय के साथ साथ चेहरे पर झुर्रियां और धब्बे भी पड़ जाते हैं। इनका इलाज करने के लिए हम अनेक प्रकार के उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं जोकि केमिकल से भरपूर होते हैं। ये केमिकल हमारी त्वचा को बहुत ही नुक़सान पहुँचाते हैं।

यदि हम वास्तव में अपनी त्वचा को कोमल, मुलायम और चमकदार रखना चाहते हैं तो हमें पालक का सेवन करना चाहिए। पालक के जूस में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो त्वचा में नमी बनाए रखते हैं। पालक में पाए जाने वाले विटामिन्स त्वचा को चमकदार और मुलायम रखने में सहायक होते हैं।

8. सामान्य रक्तचाप की दर के लिए

चूँकि पालक के जूस में ऊतक को साफ़ रखने वाले गुण पाए जाते हैं तो यह रक्त से अतिरिक्त वसा के कणों को निकाल देता है। यह रक्त की सांद्रता को कम कर देता है।

ऐसा होने पर नसों में रक्त का प्रवाह सामान्य बना रहता है और उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप से छुटकारा मिलता है।

9. बालों के लिए

आज कल बालों की समस्याएं अत्यंत साधारण हो गई हैं। लगभग हर व्यक्ति बालों की समस्या से जूझ रहा है।

ऐसे में वह अपने बालों के लिए केमिकल युक्त उत्पादों का प्रयोग करता है। ये उत्पाद उसको फ़ायदे से ज़्यादा नुक़सान पहुँचाते हैं।

यदि हम अपने बालों को स्वस्थ और मज़बूत बनाना चाहते हैं तो हमें प्राकर्तिक तत्वों का इस्तेमाल करना चाहिए।

हम पालक के जूस का सेवन कर सकते हैं। एक गिलास पालक के जूस में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। ये हमारे बालों को स्वस्थ और मज़बूत रखने में सहायक होती है।

10. गठिया व जोड़ों के दर्द के लिए

पालक में क्षरीयता की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। यह हड्डियों में दर्द, जोड़ों में दर्द और गठिया में चमत्कारिक रूप से लाभ पहुँचाता है। जिन लोगों को हड्डियों से सम्बंधित समस्यायें हैं, उन्हें प्रतिदिन एक गिलास पालक के जूस का सेवन करना चाहिए।

11. गर्भवती महिलाओं के लिए

पालक का जूस अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यह गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत लाभकारी होता है।

पालक के जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्व भ्रूण के विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान निभाते हैं।

पालक का जूस गर्भावस्था में भ्रूण के लिए आवश्यक पोषक तत्वों को भ्रूण तक पहुँचाता है। इस प्रकार भ्रूण का एक निश्चित विकास होता रहता है। (यह भी पढ़ें: गर्भावस्था में केला खाना)

12. ऑस्टियोपोरोसिस के लिए

पालक के जूस में विटामिन सी और कैल्शियम की एक प्रचुर मात्रा पाई जाती है। कैल्शियम हमारी हड्डियों की सेहत के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। इस प्रकार जिन लोगों को हड्डियों से संबंधित समस्याएं हैं, उन्हें पालक के जूस का सेवन करना चाहिए।

पालक के जूस में पाया जाने वाला कैल्शियम ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

 

13. शरीर में अल्कलाइन का स्तर संतुलित रखना

पालक का जूस शरीर में पाए जाने वाले अनेक प्रकार के ऊतकों की सफ़ाई करता है। यह रक्त के माध्यम को अम्लीय होने से बचाता है। इस प्रकार यह रक्त का माध्यम क्षारीय बनाए रखता है।

पालक का जूस कैसे बनाएं?

  • पालक का जूस बनाने के लिए सबसे पहले पालक के पत्तों को अलग कर लें।
  • इन पत्तों को अच्छे से धो लें।
  • इसके बाद इन्हें छोटा-छोटा काटकर मिक्सर में डाल लें। इसमें थोड़ा सा पानी डाल लें।
  • इसके बाद इन्हें अच्छे से मिलाएं।
  • आप इसमें कुछ बूंदें नींबू के रस की भी मिला सकते हैं।

About the author

नायला हाशमी

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]