8 महीनों के संघर्ष के बाद ‘नो फादर्स इन कश्मीर’ को अंततः मिली रिलीज़ डेट

no fathers in kashmir release date
स्रोत: ट्विटर

अश्विन कुमार द्वारा निर्देशित फिल्म ‘नो फादर्स इन कश्मीर‘ की रिलीज़ डेट अंततः निश्चित हो गई है। सोनी राज़दान, अंशुमान झा, कुलभूषण खरबंदा, और ज़ारा वेब जैसे कलाकारों से सजी यह फिल्म 5 अप्रैल 2019 को रिलीज़ की जाएगी।

8 महीनों से यह फिल्म सेंसर बोर्ड में फंसी हुई थी।

अश्विन कुमार, को पहले उनकी लघु फिल्म, ‘लिटिल टेररिस्ट’ के लिए ऑस्कर के लिए नामित किया गया है और कश्मीर पर अपनी फिल्मों के लिए दो राष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं। यह फिल्में ‘इंशाल्लाह फुटबॉल’ और ‘इंशाल्लाह कश्मीर’ थीं।

‘नो फादर्स इन कश्मीर’ इस श्रृंखला की तीसरी फिल्म है।

आशा, शांति और मानवता के विषय उनकी सभी फिल्मों के माध्यम हैं। इसके लेखक और निर्देशक होने के अलावा, अश्विन फिल्म के प्रमुख पात्रों में से एक हैं और इसमें सोनी राजदान, कुलभूषण खरबंदा, अंशुमान झा और माया सराओ जैसे कलाकार शामिल हैं।

एक बोल्ड टैगलाइन के साथ “हर कोई सोचता है कि वे कश्मीर को जानते हैं” को पढ़कर निश्चित रूप से इस फिल्म से उम्मीदें लगाईं जा सकती हैं।

काफी समय से फिल्म सीबीएफसी और एफसीएटी के दो शीर्ष निकायों के बीच संघर्ष कर रही थी। इससे पहले CBFC ने इसे U सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया था जिसके बाद मेकर्स सर्टिफिकेशन के लिए FCAT गए थे।

सोनी राजदान की बेटी और अभिनेत्री आलिया भट्ट ने भी सीबीएफसी से अपनी मां की फिल्म ‘नो फादर इन कश्मीर’ को पारित करने का अनुरोध किया था।

आलिया ने लिखा था कि, “माँ की फ़िल्म ‘नो फ़ादर्स इन कश्मीर’ के लिए उत्साहित हूँ। फ़िल्म निर्माण समूह ने एक ईमानदार प्रेमकहानी बनाने के लिए बहुत मेहनत की है। आशा करती हूँ कि CBFC बैन हटा देगी। यह फ़िल्म सहानुभूति और करुणा के बारे में है। चलो प्रेम को एक मौका दें।”

यह भी पढ़ें: आमिर खान के द्वारा किये गए ऐसे चुनौतीपूर्ण किरदार जो बॉलीवुड के और किसी ‘खान’ के बस की बात नहीं

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here