दा इंडियन वायर » दूरसंचार » एयरटेल व वोडाफोन चाहती हैं 2020 में हो 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी
दूरसंचार व्यापार

एयरटेल व वोडाफोन चाहती हैं 2020 में हो 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी

5जी

देश अब 5जी सुविधा के स्वागत की तैयारी में लगा है। हाल ही में हुई इंडियन मोबाइल कॉंग्रेस के कार्यक्रम में सभी टेलीकॉम ऑपरेटरों ने अपने 5जी नेटवर्क का दमखम पेश किया था। वहीं अगले साल देश में संभावित तौर पर शुरू होने वाले 5जी नेटवर्क की तैयारी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियाँ भी करने में लगी हुईं है।

एप्पल और आईफोन अगले साल यानि 2019 तक अपने 5जी आधारित स्मार्टफोन बाज़ार में उतार सकते हैं। वहीं विश्व की मुख्य चिपसेट निर्माता कंपनी क्वालकॉम भी अब 5जी सुविधा के अनुरूप अपनी चिप व प्रॉसेसर का उत्पादन करने में लगी है।

ऐसे में देश की जनता को अब देश में 5जी सुविधा के शुरू होने का इंतज़ार है। 5जी नेटवर्क को लेकर रिलायंस जियो अपनी मजबूत उपस्थिती के लिए पहले से ही दावा कर चुकी है।

यह भी पढ़ें: रिलायंस जियो 2020 तक कर सकता है 5जी सेवा की शुरुआत

अनुमान है कि 5जी नेटवर्क स्पेक्ट्रम की नीलामी वर्ष 2019 तक हो जाएगी, जबकि एयरटेल व वोडाफोन-आइडिया चाहती हैं कि यह नीलामी वर्ष 2020 तक ही हो।

5जी स्पेक्ट्रम के लिए TRAI द्वारा निर्धारित कीमतों पर रिलायंस जियो ने अपनी हामी भर दी है, जबकि नीलामी 2020 के पहले होने की दशा में एयरटेल और वोडाफोन अपनी को इस नीलामी से अलग कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: एयरटेल ने भारतीय मोबाइल कॉंग्रेस में एयरटेल 5जी को किया पेश

वहीं स्पेक्ट्रम नीलामी को लेकर सर्वोच्च न्यायालय ने सुझाव दिया है कि सरकार के पास जो भी स्पेक्ट्रम है, उनकी नीलामी जल्द से जल्द की जाये। इसी के साथ केंद्र ने भी स्पेक्ट्रम को जल्द से जल्द बेंचने के लिए हामी भरी है।

एयरटेल और वोडाफोन का मानना है कि वर्तमान में टेलीकॉम सेक्टर में चल रहे आर्थिक संकट के चलते यदि यह नीलामी 2020 तक होती है, तो इन कंपनियों को नीलामी में शामिल होने के लिए पर्याप्त धन मिल जाएगा।

वहीं दूरसंचार विभाग (डॉट) ने इशारा किया है कि सरकार वर्ष 2019 की शुरुआत में ही 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी कर सकती है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!