Wed. Oct 5th, 2022

    Category: धर्म

    आरती: माँ सरस्वती जी

    ॐ जय सरस्वती माता, जय जय सरस्वती माता सदगुण वैभव शालिनी, सदगुण वैभव शालिनी त्रिभुवन विख्याता, जय जय सरस्वती माता ॐ जय सरस्वती माता, जय जय सरस्वती माता सदगुण वैभव…

    भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ

    शिव शंकर को जिसने पूजा, उसका ही उद्धार हुआ । अंत काल को भवसागर में, उसका बेडा पार हुआ ॥ भोले शंकर की पूजा करो, ध्यान चरणों में इसके धरो…

    वैष्णव जनातो

    वैष्णव जन तो हिन्दू भजन है, जिसे 15 वीं शताब्दी में गुजराती भाषा में कवि नरसिंह मेहता ने लिखा था। कविता एक वैष्णव जन (वैष्णववाद का अनुयायी) के जीवन, आदर्श…

    शिव तांडव

    शिव तांडव (Shiv Tandav) जटाटवीगलज्जल प्रवाहपावितस्थले गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजंगतुंगमालिकाम्‌। डमड्डमड्डमड्डमनिनादवड्डमर्वयं चकार चंडतांडवं तनोतु नः शिवः शिवम ॥1॥ जटा कटा हसंभ्रम भ्रमन्निलिंपनिर्झरी । विलोलवी चिवल्लरी विराजमानमूर्धनि । धगद्धगद्ध गज्ज्वलल्ललाट पट्टपावके किशोरचंद्रशेखरे…

    मधुराष्टकम्

    मधुराष्टकं में श्रीकृष्ण के बालरूप को मधुरता से माधुरतम रूप का वर्णन किया गया है। श्रीकृष्ण के प्रत्येक अंग, गतिविधि एवं क्रिया-कलाप मधुर है, और उनके संयोग से अन्य सजीव…

    श्री राम रक्षा स्तोत्रम्

    विनियोग: अस्य श्रीरामरक्षास्त्रोतमन्त्रस्य बुधकौशिक ऋषिः । श्री सीतारामचंद्रो देवता । अनुष्टुप छंदः। सीता शक्तिः । श्रीमान हनुमान कीलकम । श्री सीतारामचंद्रप्रीत्यर्थे रामरक्षास्त्रोतजपे विनियोगः । अथ ध्यानम्‌: ध्यायेदाजानुबाहुं धृतशरधनुषं बद्धपदमासनस्थं, पीतं…

    रघुपति राघव राजा राम

    रघुपति राघव राजा राम एक उल्लेखनीय भजन है जो महात्मा गांधी द्वारा व्यापक रूप से लोकप्रिय किया गया था। मूल संस्करण (raghupati raghav raja ram original lyrics) रघुपति राघव राजाराम…

    12 ज्योतिर्लिंग कहां कहां है?

    एक ज्योतिर्लिंग या ज्योतिर्लिंगम, सर्वोच्च भगवान शिव का एक भक्ति प्रतिनिधित्व है। ज्योति का अर्थ है ‘चमक’ और शिव की ‘छवि या संकेत’; इस प्रकार ज्योतिर लिंगम का अर्थ है…