दा इंडियन वायर » धर्म » Page 3

Category - धर्म

धर्म

भजन: माँ शारदे वंदना, हे शारदे माँ

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ अज्ञानता से हमें तार दे माँ । हे शारदे माँ, हे शारदे माँ अज्ञानता से हमें तार दे माँ । तू स्वर की देवी, ये संगीत तुझसे, हर शब्द तेरा...

धर्म

वैष्णव जनातो

वैष्णव जन तो हिन्दू भजन है, जिसे 15 वीं शताब्दी में गुजराती भाषा में कवि नरसिंह मेहता ने लिखा था। कविता एक वैष्णव जन (वैष्णववाद का अनुयायी) के जीवन, आदर्श और...

धर्म

शिव तांडव

शिव तांडव (Shiv Tandav) जटाटवीगलज्जल प्रवाहपावितस्थले गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजंगतुंगमालिकाम्‌। डमड्डमड्डमड्डमनिनादवड्डमर्वयं चकार चंडतांडवं तनोतु नः शिवः शिवम...

धर्म

मधुराष्टकम्

मधुराष्टकं में श्रीकृष्ण के बालरूप को मधुरता से माधुरतम रूप का वर्णन किया गया है। श्रीकृष्ण के प्रत्येक अंग, गतिविधि एवं क्रिया-कलाप मधुर है, और उनके संयोग से...

धर्म

श्री राम रक्षा स्तोत्रम्

विनियोग: अस्य श्रीरामरक्षास्त्रोतमन्त्रस्य बुधकौशिक ऋषिः । श्री सीतारामचंद्रो देवता । अनुष्टुप छंदः। सीता शक्तिः । श्रीमान हनुमान कीलकम । श्री...

धर्म

रघुपति राघव राजा राम

रघुपति राघव राजा राम एक उल्लेखनीय भजन है जो महात्मा गांधी द्वारा व्यापक रूप से लोकप्रिय किया गया था। मूल संस्करण (raghupati raghav raja ram original lyrics)...

धर्म

छोटी छोटी गैया, छोटे छोटे ग्वाल

छोटी-छोटी गैया, छोटे-छोटे ग्वाल छोटो सो मेरो मदन गोपाल छोटी-छोटी गैया, छोटे-छोटे ग्वाल छोटो सो मेरो मदन गोपाल आगे चले गैया, पीछे चले ग्वाल आगे चले गैया, पीछे...

धर्म

भजन: अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम। कौन कहता हे भगवान आते नहीं, तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं। कौन कहता है भगवान खाते नहीं, बेर शबरी के जैसे...

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!