दा इंडियन वायर » धर्म » विद्यां ददाति विनयं
धर्म

विद्यां ददाति विनयं

*विद्या ददाति विनयं *
*विनयाद् याति पात्रताम्।*
*पात्रत्वाद्धनमाप्नोति *
*धनाद्धर्मं ततः सुखम्॥*

हिन्दी भावार्थ

विद्या विनय देती है, विनय से पात्रता आती है, पात्रता से धन की प्राप्ति होती है, धन से धर्म और धर्म से सुख की प्राप्ति होती है॥

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!