दा इंडियन वायर » खानपान » हल्दी और शहद का मिश्रण के फायदे
खानपान

हल्दी और शहद का मिश्रण के फायदे

हल्दी और शहद

हल्दी और शहद के मिश्रण को अक्सर जीवन के लिए अमृत की उपाधि दी जाती है। इसका मुख्य कारण इसके अनेक गुण होते हैं जो खांसी, जुकाम, मुंहासे और गले की खराश जैसी समस्याओं का निवारण करते हैं।

इसके अनेक फायदों के कारण इसका सेवन जीवन काल को बढ़ाने में अत्यधिक लाभकारी होता है।

हल्दी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीवायरल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। वहीं दूसरी ओर, शहद अभी तक का सबसे शक्तिशाली प्राकृतिक एंटीबायोटिक है।

विषय-सूचि

खांसी में हल्दी और शहद की उपयोगिता

खांसी, ठन्डे मौसम के कारण उत्पन्न होने वाला शरीर का एक संक्रमण है। इसके अन्य कारणों में निमोनिया, श्वास नली में संक्रमण, अस्थमा आदि की समस्याएं शामिल हैं।

इन सभी कारणों से उभरी खांसी का इलाज करने के गुण हल्दी में होते हैं।

इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण मौजूद होते हैं जिसके कारण यह खांसी जुकाम का प्राकृतिक रूप से इलाज करने में सक्षम होता है।

हल्दी शहद पानी
हल्दी शहद पानी

आइये आपको कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं जो शहद और हल्दी के प्रयोग से खांसी जुकाम से छुटकारा दिलाते हैं।

  • एक बर्तन में आधा कप पानी लें। इसमें एक चम्मच हल्दी चूर्ण और एक चम्मच काली मिर्च डाल लें। इस मिश्रण को 2-3 मिनट के लिए उबालें, अपनी इच्छा अनुसार आप इसमें दालचीनी भी डाल सकते हैं। इसमें एक बड़ा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें। आपकी हालत में सुधार आने तक इसे दिन में दो बार लें।
  • एक कप पानी लें और इसमें एक चम्मच हल्दी और एक चम्मच अजवाईन डालकर हर्बल टी बना लें। पानी आधा हो जाने तक इस मिश्रण को उबाल लें। इस मिश्रण में 1 बड़ा चम्मच शहद डाल लें। आपकी हालत में सुधार आने तक इसे दिन में दो बार लें।
  • एक कप उबलता हुआ दूध लें। इसमें 1 बड़ा चम्मच हल्दी चूर्ण और 1 बड़ा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें। इसका गर्म ही सेवन कर लें। इसके एंटीबैक्टीरियल एंटीवायरल गुणों से खांसी ठीक हो जाती है।
  • साबुत हल्दी लेकर उसे भून लें। अब इसे पीस लें। इसमें पानी और 1 चम्मच शहद डालकर आपकी अवस्था में सुधार होने तक इसे दो बार रोज़ पीयें।
  • थोडा पानी लें और उसमें 1 बड़ा चम्मच हल्दी डालकर उबाल लें। इस मिश्रण को 10 मिनट के लिए ठंडा होने दें और फिर इसे छान लें। अब इसमें कुछ नीम्बू और शहद डालें और आपकी चाय तैयार है।

इसके इस्तेमाल के दौरान सावधानी

  • साबुत हल्दी के स्थान पर करी पाउडर का उपयोग न करें
  • हमेशा आर्गेनिक या प्राकृतिक शहद का ही इस्तेमाल करें

 शहद और हल्दी के फेस मास्क

हल्दी कई प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों का एक महत्त्वपूर्ण भाग होता है। इसे चेहरे पर लगाने से अलग सा निखार आता है और चेहरे पर मौजूद बाल भी हट जाते हैं।

इसे काफी समय से नयी दुल्हन की सुन्दरता में निखार लाने के लिए उपयोग में लाया जाता रहा है।

इसमें कई एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऐजिंग गुण होते हैं जिसके कारण ये एक अच्छे फेस मास्क की तरह काम करता है

ये मुंहांसे और फुंसी से निजात पाने में भी काफी उपयोगी होते हैं।

इसके अलावा, चेहरे पर शहद लगाना भी बहुत फायदेमंद होता है।

हल्दी शहद मास्क
हल्दी शहद मास्क

शहद और हल्दी से बनने वाले फेस मास्क कुछ इस प्रकार हैं

1. हल्दी, शहद और दूध का फेस मास्क

अपने मुँह को अच्छी तरह फेशिअल क्लेंज़र से साफ़ कर लें ताकि उसपर धूल और मेकअप न रह जाये। अपने चेहरे को अब गर्म पानी से धो लें ताकि यह साफ़ हो जाये, फिर पोंछ लें।

  • हल्दी का चूर्ण लें
  • इसमें 1 चम्मच शहद डालें
  • 1 चम्मच दूध डालकर एक छोटे बर्तन में इसे अच्छी तरह मिला लें

इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगायें और 10-15 मिनट तक लगा रहने दें। फिर सूखे हुए पेस्ट को ठन्डे पानी और माइल्ड फेशिअल क्लेंज़ेर से धो लें और पोंछ लें। अपने चेहरे की चमक बढाने के लिए इसे कुछ दिन तक दोहराएं।

2. नीम्बू, हल्दी और शहद का फेस मास्क

  • 1 बर्तन में हल्दी चूर्ण लें
  • इसमें 1 चम्मच शहद डाल लें
  • इसमें आधा चम्मच नीम्बू का रस डाल लें

इन सभी चीजों को साथ में मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बनाते समय ध्यान रखें कि ये अधिक पतला न हो जाये, यदि यह पतला हो जाये तो इसमें थोडा चावल का आटा डालकर इसे गाढा कर लें।

अपने चेहरे को क्लेंज़ेर से साफ़ कर लें और अपने चेहरे को सुखा लें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगायें और इसे 10-15 मिनट तक लगा रहने दें जब तक ये पूरी तरह सूख न जाये, फिर इसे गर्म पानी से धो लें। ऐसा करने से आपके चेहरे पर तुरंत निखार आता है।

अपने चेहरे की चमक बढाने के लिए इसे कुछ दिन तक दोहराएं।

3. हल्दी, शहद और ओटमील का फेस मास्क

  • एक बर्तन में हल्दी चूर्ण लें
  • इस बर्तन में थोडा शहद डाल लें
  • थोडा सा ओटमील डाल लें

इन सभी चीजों को मिलाकर पेस्ट बना लें। अपने चेहरे को क्लेंज़र से साफ़ करें। चेहरे पर इस पेस्ट को लगायें और 20 मिनट के लिए छोड़ दें, फिर गर्म पानी से धो लें। यदि ओटमील आपके चेहरे पर चिपक रहा हो तो स्क्रब का इस्तेमाल करें।

कुछ हफ़्तों तक इसका नियमित इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा में निखार आ जाता है

टिप्स

  • यदि आप इस बात से चिंतित हैं कि आपकी त्वचा पीली पड़ जाएगी तो फेस मास्क की पतली सी परत चेहरे पर लगा कर 5 मिनट के बाद हटा लें। हालांकि, आप हल्दी की बहुत कम मात्रा इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसका अधिक असर नहीं होगा आपके चेहरे पर।
  • चेहरे से पीलापन हटाने के लिए स्क्रब का इस्तेमाल करें
  • हल्दी से आपके नाख़ून भी पीले पड़ जाते हैं। इन्हें साफ़ करने के लिए नीम्बू का इस्तेमाल करें। नेल ब्रश की मदद से अपने नाखूनों पर नीम्बू का रस लगा लें इससे वह साफ़ हो जायेंगे। यदि आप इससे बचना चाहते हैं तो ग्लव्स का इस्तेमाल करें।
  • अतिरिक्त नीम्बू का रस आपके त्वचा में जलन पैदा कर सकता है जिससे मुंहासे भी हो सकते हैं इसलिए इसे कम मात्रा में इस्तेमाल करें
  • अच्छे परिणाम के लिए सदैव आर्गेनिक या कच्चा शहद ही प्रयोग करें

हल्दी और शहद का पेय

हल्दी में एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो आपके पेट को साफ़ रखते हैं और पाचन सम्बन्धी समस्याओं से निजात दिलाते हैं

यह मिश्रण पेट की कई समस्याओं का समाधान करता है जैसे कि पेट का अलसर, गैस की परेशानी, पेट में गड़बड़ी आदि। यह आपके लिवर के लिए भी अत्यधिक फायदेमंद होता है

आइये इससे बनने वाले कुछ पेयों के बारे में जानते हैं

1. हल्दी, शहद और अदरक का पेय

  • 2 बड़े चम्मच हल्दी डालें
  • आधा कप शहद डालें
  • 2-4 चम्मच बारीक कटा हुआ या किसा हुआ अदरक बर्तन में डालकर अच्छी तरह मिला लें
  • किसे हुए नीम्बू के कुछ छिलके डालें
  • 2 चुटकी काली मिर्च डालें

इस मिश्रण को चखकर देखें। यदि आपको ऐसा लगता है कि किसी चीज़ की कमी है तो उसे बढ़ा लें। थोडा सा गर्म पानी लें और इस मिश्रण को उसमें डालकर पी लें। यह आपकी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।

इसे दिन में एक बार लें। यह आपकी सुबह की चाय के स्थान पर भी लिया जा सकता है।

2. शहद हल्दी बूस्टर पेय

  • हल्दी को पीसकर एक बर्तन में रख लें
  • 1/4 कप कच्चा शहद डालें
  • 1 बड़ा चम्मच नीम्बू के छिलके डालें
  • एक चुटकी पिसे हुए पेपरकॉर्न डालें
  • 2 बड़े चम्मच कच्चा सेब का सिरका डालें और अच्छी तरह मिला लें

इस मिश्रण को आप कई दिन तक रख सकते हैं। इसका सेवन करने के लिए इस मिश्रण को गर्म पानी में डालें और पी लें।

शहद और हल्दी की जुकाम में उपयोगिता

जब आप कुछ ठंडा खा लेते हैं या मौसम में परिवर्तन होता है तब जुकाम हमें घेर लेता है। ये इम्यून सिस्टम कमज़ोर होने के कारण होता है और यदि इसके शुरुआती लक्षणों से निजात पा लिया जाये तो इससे बचा जा सकता है जैसे कि रूखी त्वचा, धब्बे, सांस की बदबू, थकान और मूड बदलना। 

आइये आपको जुकाम के कुछ आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बताते हैं

1. हल्दी, शहद और मिर्च

  • कुछ पेपरकॉर्न लें(12-15) और उन्हें पीस लें
  • इसको थोड़े शहद और हल्दी में डालकर रातभर रख दें

इसे सुबह खा लें और मिर्च चबा लें। इससे बंद नाक में आराम मिलता है।

2. शहद और हल्दी

  • एक बर्तन में आधा कप शहद डाल लें
  • साबुत हल्दी लेकर उसे भूल लें और फिर पीस लें। लगभग 3 बड़े चम्मच हल्दी एक बर्तन में डाल लें।
  • 2 बड़े चम्मच अदरक का चूर्ण डाल लें
  • आधा चम्मच लौंग डाल लें

इन सभी चीजों को मिलाकर एक जार में रख लें। इसे आप बढ़ो और बच्चो दोनों को ही दे सकते हैं। 

3. हल्दी, दूध और पेपरकॉर्न

  • 1 कप उबलता हुआ दूध लें
  • 1 बड़ा चम्मच हल्दी चूर्ण डाल लें
  • 1 बड़ा चम्मच शहद डाल लें
  • कुछ पिसे हुए पेपरकॉर्न डालकर अच्छी तरह मिला लें

इसका सेवन गर्म ही करना चाहिए। यह जुकाम, खांसी और गले की खराश से राहत देता है।

हल्दी और शहद की गले की खराश में उपयोगिता

गले की खराश के कई कारण हो सकते हैं। इसमें मौसमी परिवर्तन और आपका खानपान शामिल है। इसका इलाज यदि शुरुआत में ही कर लिया जाये तो आपको फायदा प्राप्त होगा। 

गले में खराश खांसी जुकाम के प्रथम लक्षण होते हैं। हल्दी और शहद में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होने के कारण यह निवारण के लिए उपयोगी माने जाते हैं।

आइये कुछ घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं

  • एक छोटा बर्तन लें और उसमें थोडा शहद डाल लें। अब इसमें हल्दी डालें और अच्छी तरह मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। ध्यान रखें कि उसमें गाठें न पड़ें। लगभग 1 सेंटीमीटर की छोटी बॉल बना लें। इस बॉल को अपने मुँह में रख लें और चबाएं या गुटकें नहीं बल्कि इसे घुलने दें। यह आपके संक्रमण के शुरुआत में काफी सहायक होती है।
  • एक गिलास गर्म पानी लें और उसमें जीरा मिला लें। इसके ठंडा हो जाने के बाद इसमें शहद डाल लें। 
  • हल्दी को जलाने पर निकलने वाले धुए को इनहेल करने से आराम मिलता है
  • 1 कप उबलता हुआ दूध लें। इसमें एक बड़ा चम्मच हल्दी चूर्ण डालें, 1 बड़ा चम्मच शहद डालें, कुछ पिसे हुए पेपरकॉर्न डालें और अच्छी तरह मिला लें। इसके एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण खांसी में आराम देते हैं।
  • थोडा गर्म पानी लें और उसमें शहद मिला लें, इसमें 1 बड़ा चम्मच हल्दी और थोडा नीम्बू का रस डालें। इसे कुछ समय के लिए उबालें फिर इसे छान कर गर्म ही पी लें।
  • हल्दी से गार्गल करने से गले की खराश में राहत मिलती है। आधा चम्मच नमक डालें, 1/4 चम्मच हल्दी गर्म पानी में डालें और इससे दिन में दो बार गार्गल करें।

शहद और हल्दी की फुंसी के लिए उपयोगिता

फुंसी और मुंहासे की समस्या से जवान से लेकर बूढ़े लोगों तक सभी परेशान हैं। इसका कारण त्वचा की गन्दगी और मौसम का मिजाज़ हो सकता है। 

लोग अनेकों सौंदर्य प्रसाधनों से इसका समाधान करते हैं लेकिन आयुर्वेदिक इलाज इसके लिए अधिक लाभकरी हो सकता है। हल्दी और शहद हर प्रकार के त्वचा के लोगों के लिए फायदेमंद होता है। हल्दी के एंटीओक्सीडैन्ट गुण और शहद के मॉइस्चराइजिंग गुण फुंसी से निजात दिलाते हैं और दाग धब्बों से भी बचाते हैं।

आइये कुछ घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं

  • हल्दी में पानी मिलाकर इसका पेस्ट बनाया जा सकता है। इसे मुंहासों पर सीधा लगा लें या फिर संवेदनशील त्वचा पर लगायें ताकि बैक्टीरिया संक्रमण पैदा न करें। हल्दी त्वचा से अतिरिक्त तेल भी निकाल देती है।
  • एक बर्तन में लगभग 4 बड़े चम्मच हल्दी ले लें और इसमें 1 बड़ा चम्मच दूध डाल लें। इसमें 4 बड़े चम्मच कच्चा आर्गेनिक शहद डालें। इसके बाद इस मिश्रण का अच्छी तरह पेस्ट बना लें। फिर इस पेस्ट को फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। अपने चेहरे को क्लेंज़ेर से साफ़ कर लें और चेहरे को तौलिये से पोंछ लें। थोडा सा ठंडा पेस्ट लें और इसे चेहरे पर लगाकर इससे 10 मिनट तक मालिश करें। इसे रातभर लगा रहने दें। यह पेस्ट कड़क होकर आपके चेहरे पर मास्क बन जाता है। मुँह पानी से धो लें और इस मास्क को हटा लें।
  • एक बर्तन में 8 बड़े चम्मच हल्दी लें, इसमें 5 बड़े चम्मच ओलिव ओइल डाल लें। इन चीजों को मिलाकर इसका पेस्ट बना लें। अपने चेहरे को क्लेंज़ेर से साफ़ करें, फिर पोंछ लें। थोडा सा पेस्ट चेहरे पर लगाकर 10 मिनट तक मालिश करें। इसे रातभर लगा रहने दें। यह पेस्ट कड़क होकर आपके चेहरे पर मास्क बन जाता है। मुँह पानी से धो लें और इस मास्क को हटा लें।
  • एक बर्तन में थोडा सा हल्दी चूर्ण लें, इसमें एक चम्मच शहद डाल लें। आधा चम्मच नीम्बू का रस डालें। इन सभी को मिलाकर पेस्ट बना लें। ध्यान रहे कि ये पेस्ट पतला न हो, यदि ऐसा हो तो इसमें चावल का आटा डाल लें। अपने चेहरे को क्लेंज़ेर से साफ़ कर लें और पोंछ लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगायें और 10-15 मिनट तक लगा रहने दें जब तक ये सूख न जाये, फिर इसे गर्म पानी से धो लें। 
  • थोड़ी सी हल्दी, थोडा सा चन्दन पाउडर और शहद या पानी मिलाकर अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें। अपने चेहरे को अच्छी तरह साफ़ कर लें फिर इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर 10 मिनट तक सूखने दें। फिर इस पेस्ट को हटा दें और चेहरे को गर्म पानी से धो लें।

हल्दी के चिकित्सीय गुण

हल्दी में अनेक चिकित्सीय गुण होते हैं। उनमें से कुछ निम्न हैं:

1. पाचन की समस्याएं

हल्दी खाने में इसलिए डाली जाती है ताकि ये पाचन सम्बन्धी समस्याओं को दूर रख सके। इससे गैस आदि की समस्या भी नहीं होती है।

हल्दी से आपके लिवर में बाईल का उत्पादन बढ़ जाता है जिससे आपकी वासा को पचाने की क्षमता बढ़ जाती है। इससे पेट दर्द, अलसर और पेट की गड़बड़ी में भी आराम मिलता है।

2. गठिया में राहत

हल्दी में मौजूद कर्कुमिन के एंटीओक्सीडैन्ट गुणों के कारण यह एक शक्तिशाली एंटीओक्सीडैन्ट होती है और शरीर में मौजूद एंटीओक्सीडैन्ट एंजाइम को बूस्ट करने में उपयोगी होती है। 

एंटीओक्सीडैन्ट्स शरीर को फ्री रेडिकल से बचाते हैं जो एजिंग और गठिया के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। ऐसा पाया गया है कि जो लोग नियमित रूप से हल्दी का सेवन करते हैं उन्हें गठिया की समस्या में आराम मिलता है।

3. मधुमेह को संतुलित करे

हल्दी शरीर की इन्सुलिन की मात्रा को संतुलित करता है। ये ग्लूकोज़ की मात्रा को संतुलित करते हुए दवाइयों की प्रभावशीलता बढाता है। हालांकि, इसके सेवन से पहले चिकित्सक से परामर्श ले लें क्योंकि ये ब्लड प्रेशर गिरा भी देता है।

4. कोलेस्ट्रोल का स्तर गिराए

कई शोधों में पाया गया है कि हल्दी शरीर का कोलेस्ट्रोल कम करने में लाभदायक होती है। अधिक कोलेस्ट्रोल होने से हृदय रोग की समस्या उत्पन्न हो जाती है। 

5. कैंसर को रोके

हल्दी प्रोस्टेट कैंसर को रोकने में उपयोगी होता है। ये मौजूदा कैंसर को कम करते हुए सेल्स का विकास घटा देता है। हालांकि, यह उसका पूर्णतः इलाज नहीं करता है लेकिन फायदेमंद होता है।

6. इम्युनिटी बढ़ाये

हल्दी शरीर के इम्यून सिस्टम को उत्तेजित करके शरीर को स्वस्थ रखती है

इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीओक्सीडैन्ट्स पाए जाते हैं और ये एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल गुणों से भरपूर होती है। 

7. वज़न नियंत्रित करे

हल्दी आपके शरीर का वासा तोड़ने में लाभदायक होता है और आपके वज़न को घटाने में उपयोगी होता है

हल्दी शरीर में ऐसे पदार्थ को बढ़ावा देता है जो डाइटरी फैट को कम करता है। आपको प्रतिदिन 1 चम्मच हल्दी का सेवन करना चाहिए।

8. अल्झाइमर से बचाए

हल्दी मस्तिष्क में अल्झाइमर के विकास को कम कर देता है। ये सम्पूर्ण मस्तिष्क के स्वास्थ्य को भी संतुलित रखता है और ऑक्सीजन के संचार को संयमित रखता है।

9. लिवर रोग से बचाए

हल्दी से लिवर में कुछ ऐसे एंजाइम का उत्पादन होता है जो रक्त की शुद्धि करते हैं। ये रक्त का संचार सुधारता है और लिवर को स्वस्थ रखता है।

10. दन्त रोग

हल्दी का माउथवाश इस्तेमाल करने से मुँह के कीटाणु ख़त्म हो जाते हैं लेकिन ये मुँह का प्लाक कम नहीं करता है




फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!