Wed. Nov 30th, 2022
    सोनू सूद, मणिकर्णिका

    सोनू सूद, जिन्होंने हाल ही में रणवीर सिंह और सारा अली खान के साथ रोहित शेट्टी की ‘सिम्बा’ में अभिनय किया है, ने सफलतापूर्वक हिंदी फिल्म उद्योग में अपने लिए जगह बनाई है। अभिनेता हाल ही में ‘मणिकर्णिका : क्वीन ऑफ झांसी’ की वजह से खबरों में हैं ।

    काफी समय तक चुप्पी बनाए रखने के बाद, अभिनेता ने हाल ही में खुलासा किया कि किस वजह से उन्हें कंगना रनौत की फिल्म से बाहर होना पड़ा। खबरों के अनुसार, कंगना रनौत की ”बॉसशिप” के कारण अभिनेता ने इस परियोजना को छोड़ दिया था।

    लेकिन अभिनेता ने अफवाहों को नकार दिया है और कथित तौर पर कहा कि उन्होंने एक बार फिर से शूटिंग और शेड्यूलिंग मुद्दों के कारण फिल्म छोड़ दी। अभिनेता ने कहा कि निर्देशक और कंगना के बीच अनबन थीं और वे फिल्म को फिर से शुरू करना चाहते थे।

    उन्होंने यह जानने का अनुरोध किया कि आप वास्तव में क्या नया चाहते हैं और वह कुछ दृश्यों को शूट करेंगे यदि उन्हें लगता है कि वे शूट करना महत्वपूर्ण हैं। लेकिन जब उन्होंने फिल्म देखी तो उन्हें लगा कि जिस तरह से इसे संपादित किया गया है, फिल्म में हमने जो दृश्य फिल्माए हैं वे फिल्म में गायब थे।

    यह भी पढ़ें: राकेश शर्मा की बायोपिक नहीं छोड़ रहे हैं शाहरुख़ खान, लेखक अंजुम राजबली ने की पुष्टि

    इस बात ने उन्हें वास्तव में परेशान कर दिया कि आपने उन दृश्यों की शूटिंग में बहुत मेहनत की और जब उन्होंने उन लोगों से पूछा तो उन्होंने कहा कि हम फिल्म के कुछ हिस्सों को फिर से फ़िल्माना चाहते हैं।

    फिल्म रानी लक्ष्मी बाई के जीवन और ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ उनकी लड़ाई पर आधारित है। फिल्म 25 जनवरी, 2019 को रिलीज़ होने की उम्मीद है।

    फ़िल्म मणिकर्णिका को सोनू सूद के द्वारा छोड़ दिए जाने पर अभिनेता जीशान अय्यूब ने सदाशिवराव भाऊ का किरदार ले लिया। लेकिन कोई यह सोच रहा हो कि एक अभिनेता का किरदार दुसरे अभिनेता को दिए जाने पर वह कोई ज़िम्मेदारी महसूस करता होगा तो अय्यूब ने कहा है कि उनके साथ ऐसा कभी नहीं हुआ।

    अय्यूब ने कहा कि, “मैं कोई दबाव महसूस नहीं करता क्योंकि मैं किसी भी विवाद का हिस्सा नहीं था। मैं साफ़-सुथरा था। मुझे कंगना का एक फ़ोन आया। वह चाहती थी कि मैं एक किरदार करूँ। मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी और अगले दिन ये विवाद शुरू हुए।”

    अय्यूब ने बताया कि वह रिप्लेस शब्द को पसंद नहीं करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि, “मुझे पता था कि सोनू सूद यह किरदार समय की कमी के चलते नहीं कर पा रहे थे। मैं करीब डेढ़ साल तक फ़िल्म का हिस्सा नहीं था। कुछ न कुछ जरूर हुआ होगा।”

    एक अभिनेता के तौर पर अय्यूब मानते हैं कि सोनू ने इस किरदार को अलग ढंग से किया होता। उन्होंने कहा कि, “मुझे लगता है कि सोनू इस किरदार को अलग ढंग से करते और मैंने बहुत अलग ढंग से किया है। मैंने वाही किया जो मुझसे कंगना ने करने के लिए कहा और यही अभिनय जगत की खूबसूरती है।”

    अय्यूब ने कहा कि अभिनय जगत में प्रतिस्पर्धा कहाँ से आती है यह उन्हें समझ में नहीं आता है क्योंकि हर कोई हर किरदार को अलग ढंग से करता है।

    कंगना के निर्देशन के बारे में पूछे जाने पर अय्यूब ने कहा कि उन्होंने इतनी देर तक शूटिंग नहीं की कि इस बारे में कुछ भी कह सकें। उन्होंने कहा कि, “कंगना को पता था कि उसे क्या चाहिए और एक निर्देशक के बारे में सबसे अच्छी बात यही होती है। सब कुछ साफ़ था। तीव्रता से लेकर उसे कितने शॉट्स चाहिए सब कुछ।”

    यह भी पढ़ें: निर्माता अतुल अग्निहोत्री ने शेयर किया भारत का पहला टीज़र, देखें सलमान, कैटरीना की पहली झलक

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *