Sun. May 19th, 2024
    अरुंधति भट्टाचार्य

    विप्रो ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की पूर्व चेयरमैन अरुंधति भट्टाचार्य को बोर्ड के लिए अपना स्वतंत्र निदेशक चुना है। अरुंधति विप्रो में यह पद 1 जनवरी 2019 से संभालेंगी।

    इसके संबंध में अरुंधति भट्टाचार्य ने मीडिया को बयान देते हुए कहा है कि “मैं विप्रो लिमिटेड के बोर्ड में बतौर स्वतंत्र निदेशक शामिल होने के लिए प्रसन्न हूँ। विप्रो एक ऐसा संगठन है जिसने देश ही नहीं विदेशों में भी अपने कार्य के प्रति समर्पण व अपनी समयसीमा का हमेशा खयाल रखा है। मैं विप्रो के साथ जुड़कर कंपनी के विकास में अपना योगदान देने के लिए तैयार हूँ।”

    विप्रो ने अरुंधति भट्टाचार्य को 5 वर्षों के लिए अपने बोर्ड के लिए स्वतंत्र निदेशक चुना है, हालाँकि अभी इस नियुक्ति को बोर्ड के सदस्यों से मंजूरी मिलना बाकी है।

    वहीं विप्रो के चेयरमैन अज़ीम प्रेमजी ने कहा कि “मैं वित्त क्षेत्र के अनुभव को लेकर पूरी तरह से आवस्त हूँ। इसी के साथ उन्हे तकनीक के विकास के बारे में बेहतर समझ है, ऐसे में उनके जुडने से विप्रो को अत्यधिक फायदा होगा।”

    हाल ही में अरुंधति भट्टाचार्य को रिलायंस के बोर्ड में बतौर अतिरिक्त स्वतंत्र निदेशक नियुक्त किया गया है। ऐसे में अरुंधति रिलायंस और विप्रो दोनों ही कंपनियों के बोर्ड में बतौर स्वतंत्र निदेशक अपनी सेवाएँ देंगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *