Sun. Jun 23rd, 2024
    भारत के बैंक

    तकनीकी जितनी सुविधा मुहैया कराती है, उतनी ही परेशानी भी खड़ी कर सकती है। हाल ही में जारी हुई एक रिपोर्ट में सामने आया है कि एसबीआई, आईसीआईसीआई व एक्सिस बैंक समेत तमाम बड़ी बैंकों के ग्राहकों का डाटा फर्जी एप के माध्यम से चुराया गया है।

    ये एप गूगल के प्ले स्टोर में मौजूद हैं। इनके तहत धोखे से इन बैंकों का डाटा चोरी कर लिया जाता है, जिसका उपयोग बाद में उस ग्राहक के खाते को चपत लगाने में किया जाता है।

    इन सभी एप में संबन्धित बैंकों के ‘लोगो’ का भी बखूबी इस्तेमाल होता है, जिसके चलते एक आम ग्राहक को असली एप और नकली एप में फर्क कर पाना बड़ा मुश्किल हो जाता है। आईटी विशेषज्ञों ने बताया है कि इन एप में मालवेयर भी मौजूद रहते हैं, जो न सिर्फ ग्राहकों के खाते की जानकारी चुराते हैं, बल्कि ग्राहकों के क्रेडिट व डेबिट कार्ड से संबन्धित अति संवेदनशील जानकारी भी चुरा लेते हैं।

    रिपोर्ट के अनुसार जो लोग इससे प्रभावित हैं, उन लोगों ने इन एप के जरिये अपनी बैंक संबधित जानकारी को इसमें प्रविष्ट किया है, जिसके बाद इन ग्राहकों को नुकसान हुआ है।

    इन एप के जरिये लोगों को फौरन लोन, रिवार्ड, कैशबैक आदि ऑफर का लालच दिया जाता है।

    रिसर्च करने वाली एजेंसी का मानना है कि इस तरह की फर्जी एप का होना कोई नयी बात नहीं है, लेकिन वर्तमान में ग्राहक द्वारा जरा सी चूक हो जाने पर ग्राहक को बहुत बड़ा नुकसान झेलना पड़ रहा है।

    इनमें से कुछ एप को तो हूबहू संबन्धित बैंक की एप की ही तरह डेवलप किया गया है, जबकी कुछ एप बेहद खतरनाक हैं। विशेषज्ञों के अनुसार यूजर को इनसे बचने के लिए एंटीवायरस का इस्तेमाल करना चाहिए।

    यह भी पढ़ें: इन एसबीआई ग्राहकों की नेटबैंकिंग हो सकती है बंद

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *