शुक्रवार, फ़रवरी 28, 2020

विधानसभा चुनाव प्रचार में योगी आदित्यनाथ की बढ़ी मांग, इस महीने 20 दिनों तक यूपी से बाहर हैं योगी

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस महीने 20 दिनों तक उत्तर प्रदेश से बाहर है। भाजपा नेताओं का कहना है कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छतीसगढ़ में चल रहे विधानसभा चुनावों में योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद दुसरे नंबर पर है।

हिंदूवादी विचारधारा, राजनीति में नवीनता का मूल्य और भीड़ खींचने की क्षमता के कारण विधानसभा क्षेत्रों में उनकी काफी मांग है।

आदित्यनाथ ने नवम्बर में 3 राज्यों में अब तक 26 रैलियां की है। छतीसगढ़ में 6 रैलियां, मध्य प्रदेश में 9 रैलियां और 11 रैलियां राजस्थान में कर चुके हैं। मध्य प्रदेश और छतीसगढ़ में चुनाव समाप्त हो चुके हैं जबकि अभी तेलंगाना और राज्यस्थान में मतदान बाक़ी है।

ये भी पढ़ें: राजस्थान चुनाव: योगी आदित्यनाथ होंगे भाजपा के स्टार प्रचारक, 8 दिन में करेंगे 21 रैलियां

इन विधानसभा चुनावों के मद्देनजर चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों शिवराज सिंह चौहान, वसुंधरा राजे सिंधिया और रमण सिंह ने जहाँ अपना फोकस विकास पर रखा वही आदित्यनाथ ने अपने तीखे भाषणों के जरिये हिंदुत्व की भावना को जगा कर भाजपा के लिए विकास + हिंदुत्व का समीकरण पेश कर विपक्ष के लिए मुश्किलें कड़ी करने की कोशिश की।

मध्य प्रदेश में जब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का कांग्रेस को जीतने के लिए 90 फीसदी मुसलमान वोट की जरूरत  वाला वीडियो वायरल हुआ तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने ‘कमलनाथ जी आप अपना अली रखिये, हमारे पास बजरंग बली है’ जैसे बयानों के जरिये कांग्रेस के कथित सेक्ल्युलरवाद का जवाब दिया।

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश चुनाव: आरएसएस के खिलाफ मुसलमानो को आगाह करते कमलनाथ के वीडियो को बीजेपी नें किया शेयर

आदित्यनाथ के हिंदूवादी भाषणों कि चर्चा तेलंगाना तक होती है। एआइएमआईएम नेता ओवैसी ने कहा था ‘लोग कहते हैं कि मैं भड़काऊ भाषण देता हूँ। क्या आपने उनके भाषण सुने है ? क्या आपने उनके भाषणों पर किसी भाजपा नेता को आलोचना करते देखा है?’

दूसरी तरफ मुख्यमंत्री के अपने राज्य से अनुपस्थित रहने पर समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री की अनुपस्थिति में राज्य का शासन और प्रशासन बुरी तरह से ढह गया है। वो पूछते हैं, ‘ये राम राज्य का उदहारण है?

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -