मंगलवार, दिसम्बर 10, 2019

कोलकाता के बाद, अब ममता बनर्जी नयी दिल्ली में विपक्षियों के साथ मिलकर करेंगी “महागठबंधन 2.0” रैली

Must Read

बी प्रैक ने महेश बाबू की फिल्म के लिए रिकॉर्ड किया तेलुगू गाना

सिंगर बी प्रैक ने महेश बाबू की फिल्म के लिए अपना पहला तेलुगू गाना 'सूर्योदय चंद्रुडिवो' रिकॉर्ड किया है।...

आईआईटी-मद्रास के 831 छात्रों की हुई कैंपस प्लेसमेंट

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (आईआईटी-एम) के छात्रों को कैंपस प्लेसमेंट के पहले चरण के दौरान 184 कंपनियों द्वारा कुल...

दक्षिण अफ्रीका का मदद करने को तैयार हैं गैरी कर्स्टन

पूर्व सलामी बल्लेबाज और भारत को विश्व विजेता बनाने वाले कोच गैरी कस्टर्न ने कहा है कि वह जरूत...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

तीन हफ्ते पहले कोलकाता में महागठबंधन रैली करने के बाद, अब पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी नयी दिल्ली में भी अपनी ‘यूनाइटेड इंडिया रैली’ को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रही हैं। जंतर मंतर पर संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए हो रही रैली को “महागठबंधन 2.0” कहा जा रहा है। दिल्ली सीएम अरविन्द केजरीवाल विपक्षियों को इकठ्ठा करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

नयी दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले ममता ने कोलकाता में कहा-“नरेंद्र मोदी जानते हैं कि वे सत्ता में नहीं आ रहे हैं। उनकी एक्सपायरी डेट खत्म हो गयी है। 15 दिनों के अन्दर अंदर, हमारे पास चुनावी तारीख होगी। हम नयी सरकार देखना चाहते हैं, देश को बदलाव चाहिए, देश अखंड भारत देखना चाहता है, जहां लोकतंत्र और समावेशिता कायम रहेगी।”

अभी तक रैली में भाग लेने वाली किसी पार्टी का नाम तो सामने नहीं आया है मगर कोलकाता की रैली में भाग लेने वाली लगभग 20 राजनीतिक पार्टियाँ जंतर मंतर पर दिखाई दे सकती हैं। सूत्रों के अनुसार, “वहाँ पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, सेवारत मुख्यमंत्री और संसदीय दल के नेता होंगे।”

एचडी देवे गौड़ा, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, प्रफुल पटेल, डीएमके के कनिमोजहि, एनसीपी के नेता इस वक़्त नयी दिल्ली में ही मौजूद हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव बीमार हैं।

कांग्रेस की उपस्थिति को लेकर अभी भी शंका है क्योंकि रैली का सम्बोधन अरविन्द केजरीवाल कर सकते हैं। मगर इस “महागठबंधन 2.0” के पीछे काम करने वाले एक सूत्र ने बताया कि कांग्रेस से जरूर कोई ना कोई आएगा।

विपक्षियों के धरना की योजना का संकेत ममता बनर्जी ने तब दिया था जब उन्होंने इस महीने की शुरुआत में कोलकाता में अपनी एक बैठक को रद्द कर दिया। ये धरना कोलकाता पुलिस और सीबीआई के बीच हो रही लड़ाई को लेकर होने वाला था और बनर्जी ने कहा था कि विपक्षी जल्द संस्थाओं पर होने वाले हमले को लेकर दिल्ली में विरोध करेगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बी प्रैक ने महेश बाबू की फिल्म के लिए रिकॉर्ड किया तेलुगू गाना

सिंगर बी प्रैक ने महेश बाबू की फिल्म के लिए अपना पहला तेलुगू गाना 'सूर्योदय चंद्रुडिवो' रिकॉर्ड किया है।...

आईआईटी-मद्रास के 831 छात्रों की हुई कैंपस प्लेसमेंट

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (आईआईटी-एम) के छात्रों को कैंपस प्लेसमेंट के पहले चरण के दौरान 184 कंपनियों द्वारा कुल 831 छात्रों को नौकरियों के...

दक्षिण अफ्रीका का मदद करने को तैयार हैं गैरी कर्स्टन

पूर्व सलामी बल्लेबाज और भारत को विश्व विजेता बनाने वाले कोच गैरी कस्टर्न ने कहा है कि वह जरूत पड़ने पर दक्षिण अफ्रीका की...

दुष्कर्म की घटनाओं पर प्रधानमंत्री चुप क्यों? : राहुल गांधी

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां सोमवार को सवाल उठाया कि देश में दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप क्यों...

भारतीय जवानों को हनीट्रैप में फंसाने का प्रयास कर रही आईएसआई : रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) ने भारतीय सशस्त्र बलों के अधिकारियों को फंसाने के लिए हनीट्रैप को एक उपकरण के तौर पर...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -