Mon. Oct 3rd, 2022

    आज हर देशवासी खुश है क्योंकि भारतीय वायु सेना ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए हमारे जवानों का बदला जो ले लिया है। बारह मिराज 2000 जेट्स ने हवा में हमला किया और 350 आतंकवादी एक ही बार में मारे गए। इस हमले ने LOC के पार तीन अल्फा कंट्रोल रूम और कई आतंकवादी लॉचपैड्स को सफलतापूर्वक नष्ट कर दिया।

    इस कदम को सर्जिकल स्ट्राइक 2 माना जा रहा है और फ़िलहाल देश में जश्न का माहौल है। चाहे आम जनता हो, राजनेता हो, कलाकार या खिलाड़ी, हर कोई भारतीय वायु सेना के इस कदम की सराहना कर रहा है और उन्हें सलामी दे रहा है। इस कदम से बाकी देशो को भी ये सन्देश मिल गया होगा कि भारत कोई अत्याचार नहीं सहेगा।

    जब 14 फरवरी को जम्मू और कश्मीर के पुलवामा ज़िले में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने 49 सीआरपीएफ जवानों को बिस्फोट के जरिये उड़ा दिया था तब पूरा देश आक्रोश में आ गया था। उस वक़्त, ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन (AICWA) ने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकारों और अभिनेताओं पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी।

    पीएम नरेंद्र मोदी को संबोधित एक नोटिस में, AICWA के अध्यक्ष सुरेश श्यामलाल गुप्ता ने स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि कैसे वह पूरी फिल्म एसोसिएशन और मीडिया बिरादरी की ओर से पाकिस्तानी अभिनेताओं को वीज़ा जारी करने पर पूरी तरह से प्रतिबंद की मांग करते हैं। उनके मुताबिक, “हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि भारत सरकार ठोस कार्रवाई करे और यह सुनिश्चित करे कि पाकिस्तान जैसे आतंकवादी फंडिंग वाले राष्ट्रों पर कड़े प्रतिबंध लगाए जाएं।”

    इस दौरान, यहां तक कि पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने भी भारतीय कंटेंट के ऊपर रोक लगा दी है। उन्होंने एक बयान में कहा-“सिनेमा प्रदर्शकों एसोसिएशन ने भारतीय कंटेंट का बहिष्कार किया है, कोई भी भारतीय फिल्म पाकिस्तान में रिलीज़ नहीं होगी। साथ ही, पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी (पीईएमआरए) को मेड-इन-इंडिया विज्ञापनों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।”

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.