दा इंडियन वायर » लोग » बोमन ईरानी की जीवनी
लोग

बोमन ईरानी की जीवनी

Boman Irani Biography

बोमन ईरानी भारतीय फिल्मो के जाने माने अभिनेता है। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से बहुत सी जनता का प्यार पाया है। बोमन ने ना केवल एक अभिनेता के रूप में काम किया है बल्कि उन्होंने सबसे पहले एक फोटोग्राफर का काम किया था। इसके बाद उन्होंने निर्माता का काम भी किया है और साथ ही उन्हें आवाज़ कलाकार के रूप में भी जाना जाता है।

बोमन ईरानी द्वारा अभिनय किए गए फिल्मो की बात करे तो उन्होंने ‘डरना मना है’, ‘बूम’, ‘मुन्नाभाई एम. बी. बी. एस’, ‘मैं हूँ ना’, ‘वीर – ज़ारा’, ‘नो एंट्री’, ‘शादी से पहले’, ‘हे बेबी’, ‘किस्मत कनेक्शन’, ‘दोस्ताना’, ‘3 इडियट’, ‘हाउसफुल’, ‘डॉन 2’, ‘हाउसफुल 2’, ‘कॉकटेल’, ‘जॉली एल एल बी’, ‘पीके’, ‘दिलवाले’, ‘हाउसफुल 3’, ‘संजू’, ‘टोटल धमाल’, ‘झलकी’, ‘पीएम नरेंद्र मोदी’, ‘ड्राइव’ जैसी फिल्मो में अपने अभिनय को दर्शाया है।

बोमन ने अपने अभिनय की वजह से कई सारे अवार्ड्स को अपने नाम किया है। उन्होंने बहुत ही कम समय में अपना नाम सफल अभिनेताओं के बीच दर्ज किया है।

बोमन ईरानी का प्रारंभिक जीवन

बोमन ईरानी का जन्म 02 दिसंबर 1959 को बॉम्बे में हुआ था। बोमन ने पारसी परिवार में जन्म लिया था। उन्होंने अपने स्कूल की पढाई ‘सट. मैरी’स स्कूल’, मुंबई से पूरी की थी। इसके बाद बोमन ने अपनी आगे की पढाई के लिए ‘मिथिभाई कॉलेज’, मुंबई में दाखिला लिया था। इस कॉलेज से बोमन ने पॉलीटेक्निक के विषय में डिप्लोमा प्राप्त किया था।

बोमन ने अपनी पढाई पूरी करने के बाद दो साल तक ‘ताज महल पैलेस एंड टावर’ में वेटर का काम किया था। इसके बाद वहां से बोमन ने फ्रेंच रेस्टुरेंट रेनदेज़्वोस में काम करना शुरू किया था। इस होटल में भी बोमन ने वेटर का काम ही किया था। बोमन ने अपने वेटर के काम के दौरान मिले टिप्स के पैसो से एक कैमरा खरीदा था क्योंकि उन्हें तस्वीर खींचने का बहुत शौक था। उन्होंने काफी लम्बे समय तक फोटोग्राफी का काम भी किया था।

व्यवसाय जीवन

बोमन ईरानी का शुरुआती व्यवसाय जीवन

बोमन के पिताजी की एक नमकीन की दूकान थी जिसे बोमन ने कई सालो तक सम्हाला था। बोमन को तस्वीरें खींचने के साथ साथ अभिनय का भी बचपन से ही शौक था। उन्होंने साल 1981 से 1983 तक ‘हंसराज सिद्धि’ में अभिनय सीखा था। इसके बाद उन्होंने थिएटर में अपने अभिनय को दर्शाना शुरू किया था। बोमन ईरानी ने ‘फॅमिली टाइस’, ‘महात्मा वर्सेज गाँधी’, ‘रौशनी’ जैसे प्लेस में अभिनय किया है।

साल 2000 में बोमन ने टीवी विज्ञापनों में अभिनय की शुरुआत की थी। उन्हें फैंटा, सेट, क्रैकजैक बिस्किट्स जैसी कई सारे टीवी विज्ञापनों में देखा गया था। इसके बाद उन्होंने अपने अभिनय को फिल्मो में दर्शाने का फैसला लिया था और फिल्मो में अभिनय करने के लिए ऑडिशन देना शुरू किया था।

बोमन ईरानी का फिल्मो का शुरुआती सफर

बोमन ने सबसे पहले साल 2001 में फिल्म ‘एवरीबॉडी सेस आई एम फाइन’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘मिस्टर मित्तल’ नाम का एक छोटा सा किरदार अभिनय किया था। इसके बाद साल 2002 में बोमन को फिल्म ‘लेट्स टॉक’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘निखिल’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘राम माधवानी’ थे।

साल 2003 की शुरुआत बोमन ने फिल्म ‘डरना मना है’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘राम गोपाल वर्मा’ थे और फिल्म में बोमन ने होटल के मालिक का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उस साल की बोमन की दूसरी फिल्म का नाम ‘बूम’ था जिसमें उन्होंने एक कैमिओ किरदार दर्शाया था।

उसी साल बोमन ने अपना पहला मुख्य किरदार दर्शाया था। इस फिल्म का नाम ‘मुन्ना भाई एम बी बी एस’ था और फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार हिरानी’ थे। फिल्म में बोमन ने ‘डॉ. जे. सी. अस्थाना’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को बोमन के साथ संजय दत्त, ग्रेसी सिंह, अरशद वारसी और सुनील दत्त ने दर्शाया था। फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म को बॉक्स ऑफिस में ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया गया था।

साल 2004 में बोमन ने फिल्म ‘मैं हूँ ना’ में अभिनय किया था। इस फिल्म की निर्देशक ‘फराह खान’ थीं और फिल्म में बोमन ने कॉलेज के प्रिंसिपल का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म को भी दर्शको ने बहुत पसंद किया था और क्रिटिक्स ने भी बोमन के अभिनय की सराहना की थी।

उसी साल उन्होंने फिल्म ‘लक्ष्य’ में अभिनय किया था। फिल्म में बोमन के किरदार का नाम ‘मिस्टर संजीव शेरगिल’ था और फिल्म के निर्देशक ‘फरहान अख्तर’ थे। इसके बाद उसी साल बोमन ने फिल्म ‘वीर- ज़ारा’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘यश चोपड़ा’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘जहांगीर हयात खान’ नाम के किरदार को दर्शाया था। यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस में बॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में शामिल हुई थी।

साल 2005 की शुरुआत बोमन ने फिल्म ‘पेज 3’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘मधुर भंडारकर’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘दीपक सूरी’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद बोमन को फिल्म ‘वक़्त: द रेस अगेंस्ट टाइम’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘नातू’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘विपुल शाह’ थे।

बोमन का फिल्मो का सफल सफर

उसी साल बोमन को फिल्म ‘नो एंट्री’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अनीज़ नज़्मी’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘मिनिस्टर पि. के गुप्ता’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘मैंने गाँधी को नहीं मारा’, ‘होम डिलीवरी: आपको…. घर तक’, ‘कल: यस्टरडे और टुमारो’, ‘ब्लफ्फ़मास्टर’, ‘मिस्टर प्राइम मिनिस्टर’ और ‘बीइंग सिरस’ में अपने अभिनय को दर्शाया था।

साल 2006 में बोमन ने सबसे पहले फिल्म ‘शादी से पहले’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘डॉ. रुस्तम’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘सतीश कौशिक’ थे। इसके बाद बोमन को फिल्म ‘प्यारे मोहन’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘टोनी अलियास ढोलकीआ’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

उसी साल बोमन ने सुपरहिट फिल्म ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार ईरानी’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘लकी सिंह’ नाम के किरदार को दर्शाया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को संजय दत्त, बोमन ईरानी, विद्या बालन और अरशद वारसी ने दर्शाया था। यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस में सुपरहिट रही थी। इसके बाद उसी साल बोमन को फिल्म ‘खोसला का घोसला’ और ‘डॉन- द चेस बिगिन्स अगेन’ में अभिनय करते हुए देखा गया था।

साल 2007 की बात करे तो उस साल बोमन ने सबसे पहले फिल्म ‘एकलव्य: द रॉयल गार्ड’ में अभिनय किया था। इसके बाद बोमन को फिल्म ‘हनीमून ट्रेवल्स प्राइवेट लिमिटेड’ में देखा गया था। इस फिल्म की निर्देशक ‘रीमा खगति’ थी और फिल्म में बोमन ने ‘ऑस्कर फर्नांडेस’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद बोमन ने फिल्म ‘हे बेबी’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘भारत साहनी’ है और फिल्म के निर्देशक ‘साजिद खान’ थे।

साल 2008 में बोमन ने फिल्म ‘लव स्टोरी 2050’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘हैरी बवेजा’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘प्रोफेसर यतिन खन्ना’ और ‘अंकल या’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल बोमन ने सुपरहिट फिल्म ‘दोस्ताना’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘तरुन मनसुखानी’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘एम मुरली’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

बोमन ने फिल्म ‘सॉरी भाई!’ में भी अभिनय किया था जिसमे उनके किरदार का नाम ‘नविन’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘ओनिर’ थे।

साल 2009 की बोमन की ब्लॉकबस्टर फिल्मो की बात करे तो उस साल उन्हें फिल्म ‘3 इडियट’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘राजकुमार हिरानी’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘वीरू सहस्त्रबुद्धि’ उर्फ़ ‘वायरस’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस में ताबड़ तोड़ कमाई की थी।

उसी साल उन्होंने कुछ और फिल्मो में भी अभिनय किया था। उन फिल्मो के नाम ‘लक बया चांस’, ‘लिटिल जीजू’, ’99’, ‘कम्बक्क़त इश्क़’, ‘परफेक्ट मिसमैच’, ‘फ्रूट एंड नट्स’, ‘दरबार’, ‘फ्रंट पेज’ और ‘मुंगीलाल रॉक्स’ हैं।

साल 2010 में उन्होंने फिल्म ‘तीन पत्ती’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने कैमिओ किरदार दर्शाया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘हम तुम और घोस्ट’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘कपूर’ नाम के किरदार को दर्शाया था और फिल्म के निर्देशक ‘कबीर कौशिक’ थे।

उस साल बोमन ईरानी ने ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘हाउसफुल’ में भी अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘साजिद खान’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘बटुक पटेल’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में अपना नाम ब्लॉकबस्टर फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 2011 की बात करे तो उस साल बोमन ने फिल्म ‘गेम’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अभिनव देओ’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘ओ. पि. रामसाय’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उसी साल उन्होंने फिल्म ‘डॉन 2: द किंग इस बैक’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘वरदान’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2012 में बोमन को तीन बड़ी फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था। उस साल की उनकी पहली बड़ी फिल्म का नाम ‘हाउसफुल 2’ था जिसके निर्देशक ‘साजिद खान’ थे। इस फिल्म में भी उन्होंने ‘बटुक पटेल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उस साल की उनकी दूसरी हिट फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर’ थी। इस फिल्म में बोमन ने ‘हरकिशन सनन’ नाम के कैमिओ किरदार को दर्शको के बीच पेश किया था।

उसी साल बोमन को फिल्म ‘कॉकटेल’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘होमी अदजानिआ’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘रणधीर कपूर’ उर्फ़ ‘रैंडी’ नाम का किरदार अभिनय किया था।

साल 2013 से साल 2015 तक बोमन को कई फिल्मो में देखा गया था। उनमे से सफल फिल्मो के नाम ‘जॉली एल एल बी’, ‘यंगिस्तान’, ‘भूतनाथ रिटर्न्स’, ‘हैप्पी न्यू ईयर’, ‘पी के’, ‘बंगाल टाइगर’ और ‘दिलवाले’ हैं।

साल 2016 में बोमन ने फिल्म ‘हाउसफुल 3’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘साजिद- फरहाद’ थे ओर फिल्म में बोमन ने ‘बटुक पटेल’ नाम का किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म ‘हाउसफुल’ का तीसरा भाग था जिसे दर्शको ने बहुत पसंद किया था। फिल्म ने भी अपना नाम बॉक्स ऑफिस में सफल फिल्मो की सूचि में दर्ज किया था।

साल 2018 की शुरुआत बोमन ने फिल्म ‘परमाणु: द स्टोरी ऑफ़ पोखरन’ के साथ की थी। इस फिल्म के निर्देशक ‘अभिषेक शर्मा’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘हिमांशु शुक्ला’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘संजू’ में देखा गया था जहाँ उन्होंने रूबी के पिता का किरदार दर्शाया था।

साल 2019 में बोमन ने फिल्म ‘टोटल धमाल’ में अभिनय किया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘इंद्रा कुमार’ थे और फिल्म में बोमन ने कमिश्नर शमशेर ‘डॉन’ सिंह नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें उसी साल फिल्म ‘पी एम नरेंद्र मोदी’ में भी देखा गया था जिसमे उन्होंने ‘इंडस्ट्रियलिस्ट रतन टाटा’ का किरदार दर्शाया था।

उसी साल बोमन को फिल्म ‘मेड इन चाइना’ में भी देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘मिखिल मुशैल’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘डॉ. वरधू’ नाम का किरदार अभिनय किया था। उस साल की बोमन की आखरी फिल्म का नाम ‘ड्राइव’ था। इस फिल्म के निर्देशक ‘तरुण मांशुकनी’ थे और फिल्म में बोमन ने ‘इरफ़ान’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म को एक सीरीज की तरह दर्शाया गया था।

पुरस्कार और उपलब्धियां

  • साल 2004 में फिल्म ‘मुन्ना भाई एम बी बी एस’ के लिए ‘बेस्ट परफॉरमेंस इन ए कॉमिक रोल’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2010 में फिल्म ‘3 इडियट’ के लिए दो बार ‘बेस्ट विलन’ और एक बार ‘बेस्ट एक्टर इन सपोर्टिंग रोल’ का अवार्ड मिला था।
  • साल 2013 ‘ शिरीन फरहाद की तोह निकल पड़ी’ के लिए ‘बेस्ट एक्टर’ का अवार्ड मिला था।

बोमन ईरानी का निजी जीवन

बोमन ईरानी ने ‘ज़ेनोबिआ’ से शादी की थी। उन दोनों के दो बेटे हैं जिनका नाम ‘दनेश ईरानी’ और ‘कयोज़े ईरानी’ है। बोमन को हिंदी भाषा के अलावा अंग्रेजी, गुजराती और मराठी भाषा भी अच्छे से बोलनी आती है। बोमन ईरानी ने टीवी सीरियल की अभिनेत्री ‘सनाया ईरानी‘ का फोटोशूट किया था और उनका पहला पोर्टफोलिओ बनाया था।

बोमन के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में धंसक, बिरयानी और प्रॉन्स पसंद है। बोमन के पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन और शाहरुख खान हैं। उनके पसंदीदा निर्देशक राजकुमार हिरानी, फराह खान और श्याम बेनेगल हैं।

आप अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 86

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!