दस्त रोकने के घरेलु उपाय और नुस्खे

दस्त रोकने के उपाय

दस्त या लूज मोशन मल के ढीले हो जाने के कारण होता है जिसकी वजह से आपको अनेक बार शौचालय जाना पड़ता है। ये आपकी आंत में संक्रमण होने के कारण या फिर कुछ गलत भोजन लेने के कारण हो जाता है।

यदि आप दिन में तीन से अधिक बार शौचालय का प्रयोग करते हैं तो ये आपके लिए चिंताजनक हो सकता है। शरीर से पानी निकल जाने के कारण आपको डिहाइड्रेशन की समस्या भी हो सकती है। 

आइये, आपको दस्त रोकने के कुछ आसान और घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं

1. गाजर

गाजर दस्त का इलाज करने के लिए अत्यधिक उपयोगी होती है। ये पेक्टिन का प्रचुर स्रोत होती है और आपके शरीर से अतिरिक्त पानी सोख लेने में सहायक होती है। आप ताज़ा गाजर का रस बनाकर दिन में कई बार इसका सेवन कर सकते हैं। आप इसको पका कर भी खा सकते हैं।

2. सौंफ

सौंफ में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण पाये जाते हैं। पीसी हुई सौंफ पानी या छांछ के साथ लेने से आपको दस्त से जल्दी राहत मिलती है।

3. सेब का सिरका

सेब का सिरका दस्त के लिए उपयोगी घरेलू उपाय होता है। ये पेक्टिक का उच्च स्रोत होता है और पेट की जलन से निजात दिलाता है। ये दस्त पैदा करने वाले बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ता है। (सम्बंधित: सेब का सिरका बनाने की विधि)

इसके सेवन के लिए एक गिलास पानी में सेब का सिरका मिला लें और हर आहार के बाद लें। (सम्बंधित: सेब का सिरका पीने के फायदे)

4. अदरक

अक्सर दस्त होने का कारण पाचन की समस्या होता है। ऐसे में अदरक अत्यधिक उपयोगी होता है।

इसके सेवन के लिए अदरक को गुड़ और सेंध नमक के साथ मिला लें और एक चम्मच खा लें। इससे आपको आराम मिलेगा। आप सूखे हुए अदरक का चूर्ण भी छाछ के साथ ले सकते हैं।

5. संतरे का छिलका

संतरे का छिलका दस्त के इलाज के लिए काफी समय से इस्तेमाल किया जाता रहा है

इसके लिए आप संतरे के छिलके को छोटे टुकड़ों में काट लीजिये और उसमें 1 लीटर उबलता हुआ पानी डाल दीजिये। इसको ढक कर रख दें और ठंडा होने दें।

इसका सेवन करने से पहले आप इसको मीठा करने के लिए इसमें शहद मिला सकते हैं। ये आपकी पाचन क्रिया को सुचारू रखता है।

6. लौकी

यदि आप दस्त की समस्या से ग्रस्त हैं तो लौकी का रस पीना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इससे आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होती है जिससे डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं होती है।

इसको बनाने के लिए लौकी को पीस कर उसका रस निकाल लें और दिन में 2-3 बार गिलास भरकर पीयें

7. पुदीना और शहद

पुदीने में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं और पाचन सम्बन्धी समस्याओं के समाधान में उपयोगी माना जाता है

आप ताज़ी पुदीने की पत्तियां चबा कर खा सकते हैं या फिर इसका रस निकालकर उसमें शहद और नींबू डालकर दिन में 2-3 बार पी सकते हैं।

8. बेल की पत्तियों का चूर्ण

बेल की पत्तियां और फल, दोनों ही दस्त के निवारण में अत्यधिक उपयोगी होते हैं। ये पेट की मांसपेशियों को आराम देकर दस्त से छुटकारा दिलाते हैं।

थोडा सा बेल की पत्तियों का चूर्ण शहद के साथ खाने से आपका पेट दर्द और दस्त ठीक हो जाते हैं। इस मिश्रण को आप दिन में 3-4 बार ले सकते हैं।

9. दही और हल्दी का मिश्रण

दही में एंटीबैक्टीरियल तो हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं और इन दोनों का मिश्रण दस्त से निजात पाने के लिए उपयोग किया जाता है। ये दस्त से जुड़ा हुआ दर्द दूर भागने में सहायक होता है।

इसको बनाने के लिए एक बर्तन में 2 बड़े चम्मच दही, 1/4 चम्मच हल्दी, करी पत्ते, एक चुटकी हींग और नमक डालकर 5 मिनट तक उबाल लें। इस मिश्रण के ठंडा हो जाने के बाद उसे पी लें। जल्दी राहत पाने के लिए इसे दिन में 2-3 बार पीयें

10. दालचीनी और शहद

दालचीनी और शहद काफी समय से इस्तेमाल किया जाने वाला उपाय है। दालचीनी पेट दर्द से राहत देता है और दस्त के कारण होने वाली समस्याओं को दूर करता है।

इसका सेवन करने के लिए दालचीनी पीस लें और रोज़ सुबह 1 बड़ा चम्मच दालचीनी गर्म पानी के साथ लें

11. ब्राउन राइस(चावल)

ब्राउन राइस में विटामिन बी पाया जाता है जो दस्त और उसके लक्षण को दूर कर देता है। ये शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकाल देता है।

ध्यान रखें कि इसका सेवन करने से पहले यह अच्छी तरह पक चुका हो ताकि इसे पचाना आसान हो सके। आप चावल के साथ दही और केला भी ले सकते हैं। (सम्बंधित: चावल खाने के फायदे)

12. आम की गुठली

आम की गुठली को फेंकने के बजाय इसे सुखाकर, पीसकर रख लेना चाहिए ताकि ये बाद में काम में ली जा सके

इस चूर्ण का 1 चम्मच शहद के साथ ले लें।

13. बेक्ड या पका हुआ सेब

सेब दस्त से निजात पाने के लिए प्राकृतिक और स्वास्थ्यवर्धक उपाय है। सेब में मौजूद पेक्टिन आंतों में अतिरिक्त पेय को निकाल देता है। नियमित रूप से रोज़ एक सेब खाने से आपको चमत्कारी लाभ हो सकते हैं

दस्त ठीक करने के लिए आप नियमित रूप से सेब खाएं। लेकिन एक दिन में इसे ज्यादा ना खाएं, क्योंकि सेब खाने के नुकसान भी बहुत हैं।

14. अमरुद

यदि आप दस्त की समस्या से पीड़ित हैं तो प्रतिदिन 1-2 अमरुद खाने से आपको फायदा मिलता है। अमरुद में मौजूद अस्त्रिन्जेंट पेट को बाँधने में उपयोगी होता है। इसमें डिसइन्फेक्टंत और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो दस्त के दौरान माइक्रोबियल ग्रोथ को रोक देते हैं

15. चोकर

1 बड़ा चम्मच बिना प्रसंस्कृत किया हुआ चोकर अपने आहार में शामिल करने से आपका पेट ठीक रहता है। आप इन्हें अपनी रोटी में डाल सकते हैं या फिर घर पर बने क्रैकर्स में।

16. स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी का सेवन करना दस्त के निवारण के लिए लाभदायक होता है। आप इसका काढ़ा बनाकर भी पी सकते। ये इस समस्या के निवारण अतिस्वादिष्ट तरीका होता है। 

17. ओआरएस

डब्ल्यूएचओ ने दस्त के इलाज के लिए ओआरएस या ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन की सिफारिश की है। इसे बनाना बहुत ही आसान होता है

इसे बनाने के लिए 1 लीटर पानी, 3/4 चम्मच नमक, 1 कप संतरे का रस और 1 चम्मच बेकिंग पाउडर मिला लें। बच्चों के लिए ये सबसे उचित उपाय माना जाता है। 

18. केले

दस्त का एक बहुत अच्छा इलाज केले का सेवन करना होता है। ये स्टार्च और पल्प युक्त होने के कारण पेट को बाँधने में मदद करता है।

आप इसको एक कटोरी दही के साथ भी खा सकते हैं। दही में ऐसा बैक्टीरिया होता है जो संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मार देता है और दस्त से निजात दिलाता है। 

19. हल्का जला हुआ टोस्ट

हल्का जला हुआ टोस्ट खाने से आपके शरीर को घुलनशील एवं अघुलनशील, दोनों ही प्रकार के फाइबर मिलते हैं जिससे आपके पेट की जलन ठीक रहती है और दस्त भी नहीं होते हैं। इसमें मौजूद चारकोल आपके शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। 

20. छाछ

थोडा सा नमक डालकर छाछ लेने से आपके पेट की समस्याएं दूर हो जाती हैं। जल्दी राहत पाने के लिए आप लगभग 4-5 गिलास छांछ ले सकते हैं। इसमें मौजूद बैक्टीरिया संक्रमण से लड़ता है।

आप इसमें करी के पत्तों का पेस्ट भी डाल सकते हैं जिससे आपके पेट की अवस्था सुधर जाती है। 

21. अनार

अनार में स्तम्मक गुण होते हैं जो पल भर में आपके पेट की अवस्था सुधार देते हैं। अनार का रस पीने से दस्त के कारण आने वाली कमजोरी ठीक हो जाती है। इसका छिलका भी अत्यधिक उपयोगी होता है।

आप इसके छिलके को सुखाकर रख सकते हैं ताकि बाद में इस्तेमाल किया जा सके। इसके 3-4 छिलके धीमी आंच पर 2 कप पानी में उबाल लें जब तक पानी की मात्रा आधी न रह जाये। 

22. कैमोमाइल टी

1 कप कैमोमाइल टी पी लेने से आपके पेट की परेशानी ठीक की जा सकती है। ये आसानी से मिल जाती हैं। आप इसकी मदद से काढ़ा भी बना सकते हैं।

इसके लिए 1 चम्मच कैमोमाइल की पत्तियां 1 कप पानी में 15 मिनट के लिए उबाल लें। इसे एक दिन में तीन कप पीने से दस्त रोकने में मदद मिलती है

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here