चावल खाने के 10 जबरदस्त फायदे

3
चावल खाने के फायदे
चावल
bitcoin trading

भोजन को स्वादिष्ट बनाने में चावल का एक विशेष योगदान होता है। अधिकतर पाया गया है कि लोग चावल खाना बहुत पसंद करते हैं।

चावल के विषय में अनेक मिथ्य भी हैं जो लोगों को चावल खाने से रोकते हैं।

इस लेख में हम चावल खाने के फायदे के बारे में चर्चा करेंगे।

हम आपको बताएंगे कि चावल किस प्रकार हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है?

पोषक तत्वों की दृष्टि से चावल का महत्व

100 ग्राम चावल में निम्नलिखित पोषक तत्व पाए जाते हैं-

  • 1 मिलीग्राम सोडियम
  • 35 मिलीग्राम पोटैशियम
  • 28 ग्राम कार्बोहाइड्रेट
  • 130 कैलोरी उर्जा
  • 0.1 ग्राम शुगर
  • 2.7 ग्राम प्रोटीन
  • 0.4 ग्राम फ़ाइबर
  • मैग्नीशियम 3%
  • आयरन 1%
  • कैल्सीयम 1%

इस प्रकार हम देख सकते हैं कि चावल हमारे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

विभिन्न प्रकार के चावल
विभिन्न प्रकार के चावल

चावल खाने के फायदे

1. कैंसर से सुरक्षा

अनेक वैज्ञानिक यह मानते हैं कि चावल में पाया जाने वाला फ़ाइबर शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को पनपने नहीं देता है।

ब्राउन राइस कैंसर के विरुद्ध लड़ने में सक्षम होता है। चावल में पाया जाने वाला फ़ाइबर आँतों व अन्य प्रकार के कैंसर से शरीर की रक्षा करता है।

इसके अतिरिक्त चावल में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट जैसे विटामिन सी और विटामिन ए भी पाए जाते हैं जोकि कोशिकाओं को अनियंत्रित होकर विभाजित होने से रोकते हैं।

इस प्रकार शरीर में कैंसर नहीं बन पाता है।

2. अल्ज़ाइमर को रोकने में सहायक

चावल में पाये जाने वाले तत्व न्यूरोट्रांसमीटर की गति को प्रोत्साहित करते हैं।

इस प्रकार शरीर में अल्ज़ाइमर रोग की संभावनाओं को कम किया जा सकता है।

चावल में अनेक ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो मस्तिष्क में न्यूरोप्रोटेक्टिव एन्जाइम के स्रावन को प्रोत्साहित करते हैं और तनाव के स्तर को कम करते हैं।

इसके अतिरिक्त चावल भ्रम या इलूज़न की स्थिति से भी छुटकारा दिलाता है।

3. शरीर को चुस्त व दुरुस्त रखने में

संतुलित आहार या सम्पूर्ण आहार के लिए चावल अत्यंत आवश्यक है।

अक्सर लोगों को यह कहते हुए सुना जाता है कि चावल खाने से मोटापा बढ़ता है जबकि यह बात पूर्णत: ग़लत है।

चावल में कोलेस्ट्राल और संतृप्त वसा की कोई मात्रा नहीं पायी जाती है। इस प्रकार चावल शरीर में अतिरिक्त वसा को नहीं जमने देता है।

इसके अतिरिक्त यदि चावल सलाद या अन्य लाभदायक वस्तुओं के साथ खाया जाए तो यह मोटापा कम करने में भी सहायक होता है।

4. उपापचयी क्रियाओं को सुदृढ़ करना

चावल शरीर की उपापचयी क्रियाओं को सुदृढ़ करता है। चावल में पाए जाने वाले पोषक तत्व जैसे विटामिन्स, राइबोफ्लेविन, फ़ाइबर, आयरन, थायमीन आदि भोजन के पाचन को सुचारु बनाते हैं।

इतना ही नहीं ये तत्व शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करते हैं जिससे कि शरीर की संक्रमण से रक्षा होती है।

चावल में फ़ाइबर की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जोकि कब्ज से छुटकारा दिलाने में सहायक होती है।

5. त्वचा से संबंधित समस्याओं से छुटकारा

चावल त्वचा से संबंधित समस्याओं से पूर्णत: छुटकारा दिलाता है।

चावल को पीसकर अनेक स्क्रब बनाए जाते हैं जोकि त्वचा को एक निखार देते हैं। ये त्वचा से जलन, धब्बे या खुजली को भी मिटाते हैं।

चावल में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण त्वचा का झुर्रियों से बचाव होता है।

अनेक आयुर्वेदिक दवाओं में भी चावल का प्रयोग किया जाता है और ये दवाएँ त्वचा के लिए लाभदायक होती हैं।

6. आईबीएस से राहत

चावल में पाया जाने वाला फ़ाइबर आँतों की दीवारों को चिकना बनाता है और मल को मुलायम कर देता है।

इस तरह व्यक्ति को आँतों की समस्या से निजात मिलती है।

यह आँतों में पाए जाने वाले बैक्टीरिया की वृद्धि को प्रोत्साहित करता है जिससे कि व्यक्ति को आईबीएस रोग से छुटकारा मिलता है।

7. शरीर को ऊर्जा देना

जैसा कि हम जानते हैं कि चावल में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की प्रचुर मात्रा पायी जाती है।

चावल में पाया जाने वाला कार्बोहाइड्रेट शरीर में ईंधन के रूप में कार्य करता है।

यह मस्तिष्क को सुचारु रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है और उपापचयी क्रियाओं को सुदृढ़ करने में सहायता करता है।

चावल में पाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट के तत्व कार्बनिक कणों में बदल कर शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं।

8. पाचन क्रिया को सुचारु बनाना

चावल में पाया जाने वाला फ़ाइबर कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

चीनी सभ्यता के अनुसार चावल व्यक्ति की भूख को बढ़ाता है जिससे कि पेट की बीमारियों से निजात मिलती है।

इसके अतिरिक्त चावल वज़न कम करने में सहायता करता है क्योंकि यह गुर्दे संबंधित समस्याओं से छुटकारा देता है।

लगभग 4% मूत्र शरीर की वसा से बना होता है और जब ये वसा शरीर से बाहर नहीं निकल पाती है तो यह वजन बढ़ाना शुरू कर देती है।

चावल में पाए जाने वाले पोषक तत्व इस वसा को शरीर से बाहर निकलने के लिए प्रेरित करते हैं जिससे कि शरीर का वज़न घटता है।

फ़ाइबर आँतों की दीवारों को चिकना व मुलायम कर देता है जिससे कि मल को बाहर निकलने में आसानी हो जाती है।

9. रक्तचाप नियंत्रित करने में

चावल में सोडियम की बहुत कम मात्रा पायी जाती है और कोलेस्ट्राल बिलकुल भी नहीं पाया जाता है।

ये दोनों तत्व धमनियों में जमा होकर उन्हें जाम कर देते हैं किन्तु चावल में ये नहीं पाए जाते हैं या कम पाए जाते हैं।

इस प्रकार चावल का सेवन करने से व्यक्ति का रक्तचाप नियंत्रित रहता है। उसे हृदय संबंधी समस्याओं की संभावनाओं से भी छुटकारा मिलता है।

चावल शरीर में रिलैक्सिन नामक हारमोन के स्रावन को प्रेरित करता है जिससे की तनाव का स्तर कम होता है।


इस प्रकार हम देख सकते हैं कि हमारे स्वास्थ्य के लिए चावल कितना महत्वपूर्ण है। चावल के अन्य भी बहुत से फ़ायदे हैं जैसे कि चावल सेक्स हार्मोन्स के उत्पादन को प्रेरित करता है और व्यक्ति की प्रजनन क्षमता का विकास करता हैं।

जिन व्यक्तियों को मधुमेह की समस्या है उन्हें सफ़ेद चावल की बजाए भूरे चावल का उपभोग करना चाहिए। भूरे चावल में कोलेस्ट्राल की बिलकुल भी मात्रा नहीं पायी जाती है जिससे कि यह शुगर के स्तर को संतुलित रखता है।

इस लेख में हमनें चावल खाने के फायदे जाने।

यदि आपके मन में इस विषय से सम्बंधित कोई सवाल है, तो आप उसे कमेंट के जरिये हमसे पूछ सकते हैं।

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here