खानपान

तरबूज के बीज के फायदे और उपयोग

हम सभी को तरबूज़ अच्छा लगता है और हम उसको खुशी से खाते हैं। होता यह है कि हम तरबूज का लाल वाला भाग तो खा लेते हैं लेकिन हम उसके बीजों को फेंक देते हैं। हम सोचते हैं कि यह बीज बेकार हैं जिनका कोई महत्व नहीं है, किन्तु यह बिलकुल गलत है।

यदि हम तरबूज के बीज के फायदे के विषय में जानेंगे तो हम उसे बिलकुल भी नहीं फेंकना चाहेंगे। इस लेख में हम तरबूज के बीजों से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे।

तरबूज के बीजों का महत्व

जिस प्रकार तरबूज अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होता है ठीक उसी प्रकार तरबूज़ के बीज भी हमारे लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं। तरबूज के बीज में नियासिन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, सोडियम आयरन, फैटी एसिड्स जैसे ओमेगा 3, ओमेगा 4, ओमेगा 6 व अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके अतिरिक्त एक कप तरबूज के बीज में छह 600 कैलोरी ऊर्जा होती है।

तरबूज के बीज

 

आगे इस लेख में हम तरबूज के बीज खाने के फायदे आपको बताएँगे। इसके बाद अंत में तरबूज के बीज के उपयोग और उन्हें सेवन करने के तरीके के बारे में चर्चा करेंगे।

तरबूज के बीज के फायदे

1. वजन बढ़ाने में

दुबले पतले लोगों को तरबूज के बीजों का सेवन करना चाहिए क्योंकि तरबूज में फैटी एसिड्स पाए जाते हैं जो वजन बढ़ाने में सहायता करते हैं।

यदि आपको अपना वजन बढ़ाना है तो आपको तरबूज के बीज के तेल और स्प्राउट्स का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा आप इन बीजों को भूनकर भी खा सकते हैं।

2. त्वचा के लिए

गर्मियों में धूप, धूल व प्रदूषण के कारण हमारी त्वचा पर दाग धब्बे पड़ जाते हैं। कभी कभी तो हमारे चेहरे पर अत्यधिक मुहाँसे भी निकल आते हैं जो हमारी सुंदरता को नष्ट कर देते हैं।

यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आप तरबूज के बीजों का सेवन कर सकते हैं। तरबूज के बीजों में विटामिन सी, सोडियम और पोटैशियम पाए जाते हैं जो रक्त को शुद्ध करते हैं। इस प्रकार त्वचा पर निखार आ जाता है।

इसके अतिरिक्त तरबूज के बीज शरीर में पानी की कमी को पूरा करते हैं जिससे पसीना बनता है। जब पसीना अधिक मात्रा में बन जाता है तो वह रोम छिद्रों को खुलने के लिए प्रेरित करता है। इस प्रकार रोम छिद्र खुलते हैं और अंदर की गंदगी बाहर निकल जाती है जिससे कि मुंहासों की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

3. ऊर्जा के लिए

जैसा कि हम जानते हैं कि एक कप तरबूज के बीज में 600 कैलोरीज ऊर्जा होती है। अतः हम शरीर में ऊर्जा के स्तर को संतुलित करने के लिए इनका सेवन कर सकते हैं।

यदि हमें थकान का अनुभव हो रहा है तो हमें तरबूज के बीजों को

खाना चाहिए। यह रक्त का प्रवाह नियमित करते हैं जिससे कि शरीर में ऊर्जा का संचार होता है।

4. शुगर के स्तर का नियमन

तरबूज के बीजों में मैग्नीशियम की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। यह उपापचय की क्रिया को सुदृढ़ करता है। उपापचय के बाद यह कार्बोहाइड्रेट के कणों को ग्लूकोस में बदलता है किंतु उन्हें अनियमित मात्रा में रक्त में प्रवाहित नहीं होने देता है।

इस प्रकार यह रक्त में शुगर का स्तर नियमित रखता है और शरीर की मधुमेह या अन्य रोगों से रक्षा होती है।

5. रोगों से सुरक्षा

तरबूज के बीजों में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। ये शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करते हैं। इस तरह शरीर की वाइरल, बैक्टीरियल या अन्य रोगों से रक्षा होती है।

तरबूज के बीच में मैग्नीशियम, सोडियम, पोटैशियम व अन्य ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो घाव या छालों के उपचार में सहायक होते हैं। इस प्रकार ये कैंसर बनाने वाली कोशिकाओं को नियंत्रित करते हैं।

6. ऑस्टियोपोरोसिस से राहत

एक कप तरबूज़ के बीज में 140% मैग्नीशियम पाया जाता है। इसके साथ ही इसमें पोटैशियम, आयरन, कैल्शियम व अन्य ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं जो हमारी हड्डियों के लिए आवश्यक होते हैं।

ये तत्व हमारी हड्डियों को मजबूत बनाते हैं और उन्हें टूटने या क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं। इस प्रकार कम उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

7. प्रोटीन का अच्छा स्रोत

हमारे शरीर के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है। प्रोटीन अमीनो एसिड का बना होता है जो शरीर की कोशिकाओं को बढ़ने के लिए प्रेरित करता है।

हम तरबूज के बीज के द्वारा अपने शरीर में प्रोटीन के स्तर की पूर्ति कर सकते हैं। इतना ही नहीं यह प्रोटीन कोरोनरी (दिल की बीमारी) से भी शरीर की रक्षा करता है।

8. अन्य लाभ

इस प्रकार हम देख सकते हैं कि तरबूज के बीज हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होते हैं। इसके अतिरिक्त इसके अन्य भी कई लाभ हैं जिससे कि हम स्वस्थ जीवन की ओर बढ़ते हैं।

तरबूज के बीज हमारी आँखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं क्योंकि यह विटामिन ए से भरपूर होता है।

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए तरबूज के बीज अत्यंत लाभकारी होते हैं। यह कामेच्छा (संभोग शक्ति)  को बढ़ाते हैं क्योंकि इनमें विटामिन ई पाया जाता है।

तरबूज के बीज निसंदेह स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होते हैं किन्तु अब बात आती है कि उनका सेवन कैसे किया जाए?

तरबूज के बीज अनेक प्रकार से खाए जा सकते हैं और यह आप पर निर्भर करता है कि आप को कौन सा तरीका पसंद है। आइए हम तरबूज के बीज को खाने के तरीकों पर चर्चा करते हैं।

तरबूज के बीज का सेवन करने के तरीका:

  • भून कर

यदि आपको फायदे के साथ साथ स्वाद भी चाहिए तो आप तरबूज के बीच को भूनकर खा सकते हैं। इसके लिए आपको तरबूज के बीजों को एक बर्तन में 40 मिनट तक पकाना होगा।

उसके बाद जब ये कुरकुरे हो जाए तो इन्हें बर्तन से बाहर निकाल लें। अब एक बर्तन में थोड़ा सा तेल डालें और इसमें इन बीजों को डालें और भून लें। इसके बाद इन्हें खाएं। यह अत्यंत स्वादिष्ट लगेंगे।

  • स्प्राउट्स के तौर पर

यदि आपको लगता है कि भूनने से तरबूज के बीज के पोषक तत्व कम हो जाते हैं तो आप उसे न भूनें। आप तरबूज के बीज को स्प्राउट्स के रूप में भी ले सकते हैं।

इसके लिए तरबूज के बीज को निकाल लें। इन्हें पानी में रखें और दो तीन दिन के लिए ऐसे ही छोड़ दें। उसके बाद इन्हें पानी से निकाल लें और धूप में सुखा लें। इस प्रकार यह स्वादिष्ट स्प्राउट्स के रूप में प्रयोग किए जा सकते हैं।

  • तरबूज के बीच का तेल

यदि आप सीधे तरबूज के बीज को नहीं खाना चाहते हैं तो आप तरबूज के बीज का तेल भी खा सकते हैं। यद्यपि हम घर पर तरबूज के बीज का तेल नहीं निकाल सकते हैं किंतु यह बाज़ार में आसानी से उपलब्ध होता है।

इसके अलावा यदि आपके मन में तरबूज के बीज से जुड़े अन्य कोई सवाल हो, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह पोस्ट आखिरी बार संसोधित किया गया May 13, 2018 18:11

नायला हाशमी

Recent Posts

अमेरिकी वैज्ञानिक डेविड जूलियस और अर्देम पटापाउटिन ने नोबेल मेडिसिन पुरस्कार 2021 जीता

अमेरिकी वैज्ञानिकों डेविड जूलियस और अर्डेम पटापाउटिन ने सोमवार को तापमान और स्पर्श के रिसेप्टर्स…

October 5, 2021

किसान संगठन को कृषि कानूनों पर रोक के बाद भी आंदोलन जारी रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने लगायी फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी…

October 5, 2021

केंद्र सरकार ने वन संरक्षण अधिनियम में कई संशोधन किये प्रस्तावित

केंद्र सरकार ने मौजूदा वन संरक्षण अधिनियम (एफसीए) में संशोधन के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा परियोजनाओं…

October 5, 2021

रूस और जर्मनी के बीच नॉर्ड स्ट्रीम 2 पाइपलाइन का निर्माण पूरा: यूरोपीय राजनीति में होंगे इसके कई बड़े परिणाम

जबकि ईरान-पाकिस्तान-भारत गैस पाइपलाइन, ईरान-भारत अंडरसी पाइपलाइन, और तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत पाइपलाइन पाइप अभी भी सपने बने…

October 4, 2021

पैंडोरा पेपर्स का सचिन तेंदुलकर सहित कई वैश्विक हस्तियों के वित्तीय राज़ उजागर करने का दावा

रविवार को दुनिया भर में पत्रकारीय साझेदारी से लीक पेंडोरा पेपर्स नाम के लाखों दस्तावेज़ों…

October 4, 2021

बढे बजट के साथ आज पीएम मोदी करेंगे एसबीएम-यू 2.0 और अमृत ​​2.0 का शुभारंभ

वित्त पोषण, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने गुरुवार को कहा…

October 1, 2021