जॉन अब्राहम ने पुलवामा हमले के मसले पर कंगना को किया सपोर्ट, बोले युद्ध आतंकवाद के खिलाफ होना चाहिए किसी देश के नहीं

Must Read

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...
साक्षी सिंह
Writer, Theatre Artist and Bellydancer

कंगना रानौत के बॉलीवुड को राजनीतिक मुद्दों पर न बोलने के लिए क्रिटिसाइज करने के एक दिन बाद ही जॉन अब्राहम ने कहा है कि आतंक के खिलाफ युद्ध होना चाहिए एक देश या फिर धर्म के खिलाफ नहीं।

उन्होंने यह भी कहा कि अभिनेता को केवल ट्रेंड करने के लिए राजनीतिक मुद्दों पर नहीं बोलना चाहिए। उन्हें तभी बोलना चाहिए जब वह देश के राजनैतिक मुद्दों के बारे में ठीक से जानते हों।

अभिनेता से भारत-पाक के बीच पुलवामा आतंकी हमलों के बाद बढ़ रहे तनावों के बारे में पूछा गया और इसपर उन्होंने कहा कि, “युद्ध आतंकवाद के खिलाफ होना चाहिए किसी देश या धर्म के खिलाफ नहीं। मेरा दृष्टिकोण बहुत ही सीधा है। हो सकता है लोग मुझपर निशाना साधें पर मैं कोने में बैठकर यह नहीं सोचता कि लोग इसे पसंद करेंगे, चलो ऐसा कहते हैं कि युद्ध होना चाहिए।

आतंकवाद के खिलाफ युद्ध होना चाहिए और इसका मतलब यह नहीं है कि आपको किसी देश के खिलाफ लड़ना है। इसका मतलब यह नहीं है कि आपको रूढ़िवादी बनना है।”

जब उनसे यह पूछा गया कि,”क्या एक्टर्स को राजनीतिक टिप्पड़ी करना जरूरी है? जॉन ने कहा, “हाँ, यदि वह इसके बारे में जानते हैं। कंगना इन मुद्दों के बारे में अच्छी तरह जानती हैं और उनकी आवाज़ मज़बूत है। मुझे लगता है कि यदि आप राजनैतिक रूप से सजग हैं तो आपको अपनी आवाज़ जरूर उठानी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि, “यदि आपको इसके बारे में कुछ भी नहीं पता तो आपको इससे दूर ही रहना चाहिए। लेकिन आप बेवकूफ़ाना तौर पर प्रतिभावान नहीं हो सकते हैं। आप मुर्ख नहीं हो सकते हैं जो अपने देश के बारे में कुछ भी न जानता हो।

यदि आपको नहीं पता कि बिहार से सीरिया तक क्या हो रहा है तब आपको चुप रहकर मुस्कुराना चाहिए और वह चीज़ें दिखानी चाहिए जिसपर आपने काम किया है। बात मत करिये।”

जॉन अब्राहम ने अपनी आने वाली फिल्म ‘रोमियो अकबर वाल्टर’ के ट्रेलर लांच के मौके पर यह बातें की हैं। रोब्बी ग्रेवाल द्वारा निर्देशित इस फिल्म में मौनी रॉय, जैकी श्रॉफ और सिकंदर खेर मुख्य भूमिकाओं में हैं।

46 वर्षीय अभिनेता ने बताया है कि फिल्म में जो भी लोग काम कर रहे हैं सब देश में क्या हो रहा है इस बात से अवगत हैं। उन्होंने कहा कि, “हमने कश्मीर में शूटिंग की है। हम जमीनी समस्याओं के बारे में जानते हैं।

जब आप एक परिस्थिति से वाकिफ हैं तो आप उसपर कुछ बोल सकते हैं। लेकिन फिर भी सही समय पर बोलना जरूरी होता है। यह प्रभाव डालने के लिए नहीं होना चाहिए। या फिर ट्रेंड में आने के लिए। मैं ट्रेंडिंग के व्यवसाय में नहीं हूँ। मैं ट्रेंड नहीं करना चाहता।”

जॉन की नई फिल्म 5 अप्रैल को आने वाली है।

यह भी पढ़ें: बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: लुका छुप्पी, सोनचिड़िया, टोटल धमाल, गली बॉय, उरी, जानिये किसने कमाया कितना?

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी और लोगों से सवाल पूछने...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -