Sun. Apr 14th, 2024
    अश्वगंधा और दूध के फायदे

    आयुर्वेद के मुताबिक अश्वगंधा को दूध के साथ लेना बहुत फायदेमंद होता है।

    आयुर्वेद में किसी भी जड़ी बूटी को किसी ‘अनुपान’ यानी साधन के साथ लिया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि अनुपान जड़ी बूटी के असर को बेहतर बनाता है।

    उसी प्रकार दूध को अश्वगंधा का अनुपान कहा गया है। इसी कारण से अश्वगंधा और दूध साथ लेने की बात कही जाती है।

    इस लेख में हम अश्वगंधा और दूध के फायदे और अश्वगंधा और दूध के सेवन करने के तरीके पर चर्चा करेंगे।

    विषय-सूचि

    दूध के औषधीय गुण

    आयुर्वेद के प्राचीन लेख चरक संहिता के मुताबिक दूध हमारे दिमाग और शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दूध स्वाद में मीठा, ठंडा, कोमल और प्रसन्न होता है।

    दूध के गुणों को शरीर के स्वास्थ्य के लिए बहुत उत्तम माना जाता है।

    दूध को शरीर के लिए सबसे बेहतर अनुपान माना जाता है। यह खून, हड्डियां, कोशिकाओं, और अन्य अंगों के लिए बहुत फायदेमंद है। (पढ़ें: दूध पीने के फायदे)

    अश्वगंधा और दूध क्यों पीना चाहिए?

    अश्वगंधा
    अश्वगंधा

    जैसा कि हमनें बताया कि आयुर्वेद के मुताबिक दूध सबसे उत्तम अनुपान है। ऐसे में किसी भी जड़ी बूटी के साथ इसे लिया जाना चाहिए।

    दूध और औषधि का मिश्रण शरीर में ज्यादा असरदार होता है और इसका प्रभाव बहुत जल्द दिखने लगता है।

    आयुर्वेद के लेख चरक संहिता में दूध और अश्वगंधा को साथ लेने की बात कही गयी है। इस लेख में ‘कार्य कारण सिद्धांत’ के नाम से इस बारे में जानकारी दी गयी है।

    आयुर्वेद में कहा गया है, ‘सर्वदा सर्व भावनाम सामन्यम वृद्धि कारनाम।’ इसका अर्थ है कि शरीर में यदि किसी पदार्थ की मात्रा बढ़ रही है, तो उससे सम्बंधित बाहरी पदार्थों की भी मात्रा बढ़ रही है।

    अश्वगंधा और दूध में ऐसी ही विशेषतायें हैं।

    अश्वगंधा और दूध दोनों ही ओजस को पोषकता पहुंचाते हैं। दोनों एक दूसरे को ऊर्जा देते हैं।

    जब कोई व्यक्ति इन्हें साथ लेता है, तब उसके शरीर में मौजूद कोई भी रोग दूर हो जाता है। इनका मिश्रण तीनों दोष में भी सहायक है।

    इन्हीं कारणों से अश्वगंधा को दूध के साथ लिए जाने की सलाह दी जाती है।

    • टीबी जैसी बिमारी में अश्वगंधा और दूध साथ लेने से आराम मिलता है।
    • अश्वगंधा और दूध साथ लेने से शरीर हष्ट पुष्ट बनता है।
    • आयुर्वेद के साधु सुश्रुत ने कहा था कि अश्वगंधा को दूध के साथ लेने से वत्त दोष में आराम मिलता है।

    अश्वगंधा और दूध के फायदे

    आगे बढ़ने से पहले आपको बता दें कि दूध को गर्म ही पीना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्म दूध आसानी से पच जाता है और यह कफ और वत्त दोष को ख़त्म कर देता है।

    इसके अलावा जब आप दूध को अश्वगंधा के साथ लें, उससे पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें।

    • अश्वगंधा और दूध बांझपन के लिए

    बांझपन की समस्या में दूध के साथ अश्वगंधा का सेवन करें।

    दो ग्राम अश्वगंधा चूर्ण को दिन में दो बार लें। इसी गर्म दूध और थोड़ी से मिश्री के साथ लें।

    • अश्वगंधा और दूध कमजोरी के लिए

    जैसा हमनें बताया कि अश्वगंधा और दूध साथ लेने से शरीर हष्ट पुष्ट बनता है। यदि आप कमजोर हैं, तो आपको इसका नियमित सेवन करना चाहिए। (पढ़ें: वजन बढ़ाने के तरीके)

    इसके लिए दो ग्राम अश्वगंधा के चूर्ण को 125 ग्राम त्रिकाटू पाउडर के साथ लें। त्रिकाटू में सुखी असर्क, काली मिर्च और लम्बी मिर्च होती है, जो काफी फायदेमंद होती है। इन्हें दिन में दो बार दूध के साथ लें।

    • अश्वगंधा और दूध ऑस्टियोपोरोसिस में

    ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या काफी गंभीर होती है।

    इसके लिए दो ग्राम अश्वगंधा चूर्ण को एक ग्राम अर्जुन छाल पाउडर के साथ दिन में दो बार लें। इनका सेवन दूध के साथ करें। (पढ़ें: अर्जुन की छाल की चाय के फायदे, विधि)

    • अश्वगंधा और दूध अस्थिसंधिशोथ में

    इसके लिए दो ग्राम अश्वगंधा चूर्ण, एक ग्राम मुलेठी को गर्म दूध के साथ लें।

    • अश्वगंधा और दूध बच्चों के लिए

    बच्चों में पोषकता की कमी होने पर उन्हें यह दें।

    इसके लिए आप अश्वगंधा की चाय बनाएं। अश्वगंधा की चाय बनाने के लिए आधा ग्लास पानी लें और आधा ग्लास दूध एक बर्तन में लें। इसमें एक ग्राम अश्वगंधा चूर्ण डालें और इसे उबाल लें। इसमें चीनी मिला लें और इसका सेवन करें।

    •  अधिक रक्त चाप के लिए दूध और अश्वगंधा

    उक्त रक्तचाप को सामान्य करने के लिए दो ग्राम अश्वगंधा चूर्ण को 125 ग्राम मोटी पिसती के साथ दिन में दो बार लें। इनका सेवन दूध के साथ करें।

    • साधारण जीवन में भी कर सकते हैं अश्वगंधा और दूध का सेवन

    यदि आपको कोई बिमारी या समस्या नहीं है, तब भी आप अश्वगंधा को दूध के साथ ले सकते हैं।

    इसके लिए रोजाना दिन में दो बार गर्म दूध में अश्वगंधा चूर्ण मिलाकर लें।

    अश्वगंधा और दूध का सेवन का तरीका

    अश्वगंधा दूध
    अश्वगंधा दूध

    सामग्री:

    • 4 कप दूध
    • 10 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण
    • 1 चम्मच चीनी

    कैसे बनाएं?

    • 4 कप दूध को 10 ग्राम अश्वगंधा में मिलाकर एक बर्तन में लें।
    • इस मिश्रण को धीमी आंच पर रखें और इसे तब तक हिलाएं जब तक एक गाढ़ा मिश्रण बन जाए। इसके बाद इसे आंच से हटा लें।
    • इसे अब 5 मिनट ठंडा होने दें।
    • इसके बाद एक चम्मच चीनी मिलाएं और सेवन करें।

    इस अश्वगंधा और दूध की विधि को खाली पेट लेना चाहिए। खाली पेट लेने से इसका अवशोषण आसानी से हो सकेगा।

    इस विषय में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट के जरिये हमसे पूछ सकते हैं।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    40 thoughts on “अश्वगंधा और दूध के फायदे और सेवन करने का तरीका”
    1. ashwagandha aur doodh roj pena chahiye. mera vajan ye peene se badh gaya hai aur shareir acha dikhta hai.

    2. मैं कई सालों से अश्वगंधा और दूध ले रहा हूँ. गर्म दूध के साथ अश्वगंधा पीने से शरीर में ताकत आती है. यदि आप दुबले पतले हैं और आप वजन कम है, तो आप रोजाना रात को सोने से पहले गर्म दूध में अश्वगंधा मिलाकर पी लें. अश्वगंधा की जानकारी देने के लिए धन्यवाद. यदि आपकी कोई मंशा है तो आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं. मेरी भी एक वेबसाइट है, जहाँ मैं स्वास्थ्य से सम्बंधित जानकारी देता हूँ, या फिर आप मुझे फोन पर संपर्क कर सकते हैं. मेरा नंबर 7214567845 है.
      इस आर्टिकल के बारे में मैं इतना ही कहूँगा कि अश्वगंधा और दूध पीने के फायदे जो आपने बताये हैं, वे बहुत अच्छे हैं.

      1. सर मेरे शरीर का ग्रोथ काफी कम है क्या अश्वगंधा के सेवन से ये बढ़ सकता है।

      2. Bhi hight bhadane ke lia….btay or weight gain bhi krna h…tho plz dono ke lia koi best tarika btay…..

    3. ashwagandha aur doodh ke fayde ka ye article bahut accha hai aur helful bhi. thanks pankaj.

    4. अग्निवेश अश्वगंधा चूर्ण को दूध के साथ पीने से क्या फायदे हैं.

      1. हाँ अगर आप अश्वगंधा को दूध के साथ सेवन करते हैं तो यह लगभग डो हफ़्तों में आपकी हाइट में थोडा इम्प्रूवमेंट दिखाएगा।

    5. Mai aswgandha powder milk k sath leti Hu raat me khana khane k baad …kya isse koi Nuksaan to nhi h……Kya aswagandha powder k sewan se hight v increase hoti h…plz rply

    6. अशवगंधा को रात में सोने से पहले खाली पेट या खाना खाकर ले

    7. अशवगंधा को रात में खाली पेट या खाना खाकर ले

    8. अश्वगंधा कितने दिनों तक लेना चाहिए

    9. Sir mujhe ghabrahat bechaini hoti hai aor vtaminb12kam hai aor bp bhi jyada rahati hai kya asvagandha lene se labh hoga

    10. इसका सेवन करने से अनावश्यक पेट तो नहीं बढ़ जाएगा??? क्योंकि देखने में आया है कि जब शरीर दुबला पतला होता है और आप मोटे होने के लिए उपाय करते हैं तो शरीर तो कम ठीक होता, लेकिन आपका पेट तेजी से निकलने लगता है। इसके बारे में थोड़ा जानकारी दीजिये।

    11. क्या अश्वगंधा को भोजन के साथ ले सकते है ?

    12. meri baat ka jawab jarur dena plz.
      kya asvagandha or satavri ko saat lene se vajan badta hai kya. .
      or vajan badane ke liye ishe kese le or kab le plz. jawab do
      9617345091

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *