दा इंडियन वायर » शिक्षा » Bholi summary in hindi
शिक्षा

Bholi summary in hindi

Short Summary of Bholi in hindi

भोली ख्वाजा अहमद अब्बास (के.ए. अब्बास) का एक काम है। वह एक भारतीय फिल्म निर्देशक, पटकथा लेखक, उपन्यासकार और पत्रकार थे। उन्होंने हिंदी, उर्दू और अंग्रेजी भाषाओं में अपने काम किए। यह कहानी एक लड़की, भोली के बारे में है, जो सिर में एक खाट से गिर गई थी। इस प्रकार, उसके मस्तिष्क का कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और वह एक पिछड़ी हुई बच्ची बनकर रह गई। वह हकला गई और चेहरे पर भी पॉक-मार्क्स हो गए। सभी ने उसका मजाक बनाया। हालांकि, स्कूल जाने के दौरान उसकी जिंदगी बदल गई। एक दयालु शिक्षक ने उसे प्रोत्साहित किया और उसने हकलाने की अपनी समस्या पर काबू पा लिया।

इसके अलावा, जब उसे दहेज के बदले शादी करने के लिए कहा गया, तो उसने मना कर दिया। उसने कहा कि वह एक लालची व्यक्ति से शादी नहीं करेगी। इसके विपरीत, वह अपने बुढ़ापे में अपने माता-पिता की सेवा करेगी और उसी स्कूल में पढ़ाएगी जहाँ उसने बहुत सारी अच्छी चीजें सीखी हैं।

Bholi summary in hindi

यह कहानी एक लड़की भोली के बारे में है, जिसका असली नाम सुलेखा था। वह कुछ दिमागी क्षति से पीड़ित था और इस तरह हकलाने का काम करता था। इसके अलावा, उसे चेचक के रोग का सामना करना पड़ा, जिसने उसके चेहरे पर चोट के निशान छोड़ दिए। इससे वह बदसूरत लग रही थी। इस प्रकार, उसके सुस्त और बदसूरत चेहरे के कारण, लोगों ने उसका मजाक उड़ाया। साथ ही, लोगों ने उसे भोली कहा क्योंकि वह एक पिछड़ी हुई बच्ची थी। रामलाल के सात बच्चे थे- तीन बेटे और चार बेटियाँ। भोली सभी बेटियों में सबसे छोटी थी। भोली को छोड़कर बाकी सभी स्वस्थ और मजबूत थे। उन्हें उसकी शादी की भी चिंता होती। एक दिन, तहसीलदार साहब गाँव में खोले गए एक प्राथमिक विद्यालय के उद्घाटन समारोह में भाग लेने आए। उन्होंने रामलाल से अपनी बेटी को स्कूल भेजने के लिए कहा। हालाँकि, भोली की माँ उसके स्कूल भेजने के समर्थन में नहीं थी। फिर भी, वह मान गई।

सबसे पहले स्कूल के बारे में सुनकर भोली घबरा गई। हालांकि, जब उसे अच्छी तरह से देखभाल की गई, अच्छे कपड़े और अन्य चीजें दी गईं, तो वह मानने लगी कि उसे अपने घर से बेहतर जगह ले जाया जा रहा है। वह अपनी उम्र की लड़कियों को देखकर खुश थी। वह उनमें से एक को अपना दोस्त बनाना चाहती थी। हालाँकि, जब शिक्षक ने उसका नाम पूछा, तो वह हकला गई और सभी लड़कियाँ हँस पड़ीं। इससे वह बुरी तरह हतोत्साहित हुई। वह रो पड़ी। लेकिन शिक्षक एक दयालु महिला थी। उसने उसे बोलने के लिए प्रोत्साहित किया। इसके अलावा, उसने उससे कहा कि अगर वह रोज स्कूल आती है तो वह पूरी तरह से अपने हकलाने को दूर कर सकती है। इससे भोली में आशा और नए जीवन का संकेत जगा।

वर्षों बीत गए, गाँव एक छोटा शहर बन गया। इसके अलावा, थोड़ा प्राथमिक स्कूल एक हाई स्कूल में बदल गया। अन्य सुधार भी हुए हैं। भोली के लिए शादी का प्रस्ताव आया। यह एक लंगड़े बूढ़े व्यक्ति से था जिसके बच्चे भी बड़े हो गए थे। हालाँकि, रामलाल और उसकी पत्नी सहमत थे क्योंकि वह अच्छी तरह से सेटल था। भोली की बहनों को अपनी बहन की शादी में धूमधाम और भव्यता देखने को मिली। हालांकि, जब दूल्हा दुल्हन को माला पहनाने वाला था, तब एक महिला ने दुल्हन के चेहरे से घूंघट हटा दिया। बिसंबर ने बिना दहेज के ऐसी बदसूरत लड़की से शादी करने से इनकार कर दिया। रामलाल ने राशि का प्रबंधन किया।

हालांकि, भोली ने ऐसे लालची व्यक्ति से शादी करने से इनकार कर दिया। उसे हकलाने के बिना बोलने के लिए लोग चौंक गए। दूल्हा वापस लौट आया। भोली ने अपने पिता से कहा कि वह उनकी और माँ की उनके बुढ़ापे में सेवा करेगा। इसके अलावा, वह उसी स्कूल में पढ़ाएगी जहां से उसने बहुत सारी अच्छी चीजें सीखी हैं।

Bholi Summary Questions and Answers

प्रश्न 1।
भगवान ने इस दुनिया को बनाया लेकिन शिक्षक इंसान को बनाते हैं। भोली की शिक्षिका अपने जीवन के पाठ्यक्रम को बदलने में कैसे सफल हुई?
उत्तर:
शिक्षक वांछित प्रोत्साहन देता है, उसे प्यार से प्रेरित करता है। वह उसे एक बोल्ड और आत्मविश्वास से भरी लड़की में बदल देती है। वह अपनी शादी का विरोध करती है और एक वृद्ध, लालची, कायर और नासमझ व्यक्ति के साथ शादी करने से इंकार कर देती है। यह उसके जीवन को बदल देता है।

प्रश्न 2।
भोली पहली बार एक असमान मैच के लिए क्यों सहमत हुए?
उत्तर:
भोली अपने माता-पिता की खातिर राजी हो गई। उनका सम्मान दांव पर था।

प्रश्न 3।
बाद में भोली ने शादी को क्यों ठुकरा दिया? यह हमें उसके बारे में क्या बताता है?
उत्तर:
उसने दूल्हे को अस्वीकार कर दिया क्योंकि दूल्हा लालची, मतलबी और घृणित कायर साबित हुआ। उसने दहेज की मांग की थी क्योंकि उसके चेहरे पर चोट के निशान थे। वह अब एक गूंगी गाय नहीं रह गई, बल्कि अपने शिक्षकों के प्रयासों के कारण एक आत्मविश्वास से भरी लड़की बन गई।

प्रश्न 4।
भोली के माता-पिता ने उसे ‘गूंगी गाय’ क्यों माना?
उत्तर:
भोली का असली नाम सुलेखा था। वह एक साधारण लड़की थी। सभी ने उसे भोली, सिंपल कहा। वह एक धीमी शिक्षार्थी थी। वह अच्छी दिखने वाली लड़की नहीं थी। वह भी हकला गया।

प्रश्न 5।
भोली एक मुखर और निडर लड़की कैसे बनी?
उत्तर:
भोली को गाँव के स्कूल में भेजा गया जिसने उसे एक साहसिक लड़की में बदल दिया। उसके शिक्षक के प्रोत्साहन और स्नेह ने उसे एक नई आशा और नया जीवन दिया। वह एक तेज मुखर और निडर लड़की बन गई।

प्रश्न 6।
पहले दिन स्कूल में भोली का अनुभव क्या था? क्या उसे मजा आया? उचित उत्तर दीजिए।
उत्तर:
स्कूल में अपने पहले दिन, भोली ने नए परिवेश में अकेले और भयभीत महसूस किया। वह अपनी उम्र की कई लड़कियों को देखकर खुश थी। रंगीन चित्रों ने उसे इस दिन बहुत खुश किया। अपने शिक्षक की ‘भोली’ कहलाने वाली कोमल और सुखदायक आवाज़ ने उनके दिल को छू लिया।

प्रश्न 7।
भोली को उसके माता-पिता ने किस तरह का इलाज दिया? क्या यह उचित है?
उत्तर:
भोली अपने परिवार में चौथी संतान थी। वह अपने अन्य भाई-बहनों से अलग थी। उसका अस्त-व्यस्त चेहरा था। उसके काले पॉक-मार्क्स थे। वह एक धीमी शिक्षार्थी थी। वह हकलाती भी थी। उसे घर पर उचित उपचार नहीं दिया गया था। भोली को दिए गए उपचार को उचित नहीं ठहराया जा सकता है। परिवार में विकलांगों के साथ कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए।

प्रश्न 8।
भिशाल ने भोली से शादी करने से इनकार क्यों किया?
उत्तर:
भोली एक साधारण व्यक्ति थी। वह अच्छी दिखने वाली लड़की नहीं थी। उसके शरीर और चेहरे पर चोट के निशान थे। जब बिशम्बर भोली के लिए माला पहनाने वाला था, तो उसके चेहरे से निकला हुआ घूंघट पीछे हट गया। जब बिशम्बर ने उसके चेहरे पर चोट के निशान देखे, तो उसने उससे शादी करने से इनकार कर दिया।

प्रश्न 9।
भोली को कब एहसास हुआ कि वह अपने घर से बेहतर जगह जा रही है?
उत्तर:
भोली को पहनने के लिए एक नई पोशाक दी गई थी। पहले वह अपनी बहनों के इस्तेमाल किए हुए कपड़े पहनती थी। उसे स्नान कराया गया। उसके बाल तेल से सने हुए थे। इन असामान्य चीजों ने उसे महसूस कराया कि वह अपने घर से बेहतर जगह जा रही थी।

प्रश्न 10।
जब उसके पिता उसे स्कूल ले जाने के लिए हाथ से पकड़ा तो भोली ने कैसे प्रतिक्रिया दी? क्यों?
उत्तर:
भोली एक साधारण व्यक्ति थी। जब उसके पिता ने उसका हाथ पकड़ कर उसे बताया कि वे स्कूल जा रहे हैं, तो वह घबरा गई। उसे याद आया कि कैसे एक गाय को बिक्री के लिए घर से बाहर ले जाया गया था। उसे लगा कि उसे घर से घसीटा जा रहा है।

यह भी पढ़ें:

  1. The Book That Saved the Earth summary in hindi
  2. A Triumph of Surgery summary in hindi
  3. The Thief’s Story Summary in hindi
  4. The Midnight Visitor Summary in hindi
  5. A Question of Trust Summary in hindi
  6. Footprints Without Feet Summary in hindi
  7. The Making of Scientist Summary in hindi
  8. The Necklace Summary in hindi
  9. The Hack Driver Summary in hindi

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]