Sun. Jul 21st, 2024
    डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिका और चीन व्यापार युद्ध को बढ़ावा देने के लिए एक-दूसरे के देश से आयातित उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगा रहे हैं। डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका चीनी आयातित उत्पादों पर 267 डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगा देगा। डोनाल्ड ट्रम्प ने पत्रकारों से कहा कि चीन व्यापार सौदे के लिए तैयार नहीं है।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि चीन कहता है वह समझौता चाहता है लेकिन अभी वह डील के लिए तैयार नहीं है। कारणवश दोनों राष्ट्रों के मध्य कई बैठकों को रद्द किया गया है।

    पिछले माह डोनाल्ड ट्रम्प ने चीनी आयातित सामान पर 200 मिलियन डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगाया था और चीन को धमकी देते हुए कहा था कि नियमों का उल्लंघन करने पर दोबारा शुल्क लगाया जायेगा। इसकी प्रतिक्रिया में चीन ने अमेरकी आयातित उत्पादों पर 60 मिलियन डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगाया था।

    दो आर्थिक महाशक्तियों के मध्य बढ़ते व्यापार युद्ध के कारण अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने साल 2018-19 की वैश्विक आर्थिक वृद्धि में कटौती की थी।

    डोनाल्ड ट्रम्प के बयान के बाबत चीनी  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि व्यापार युद्ध वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए मुनासिब नहीं है और न ही इससे किसी राष्ट्र का फायदा हो सकता है। चीन अपने हितों का संरक्षण करेगा।

    अमेरिका व्यापार और तकनीक के क्षेत्र में परिवर्तन के लिए चीन पर दबाव बनाना चाहता है। डोनाल्ड ट्रम्प ने इससे पूर्व धमकी भरे लहजे में कहा था कि अमेरिका चीनी आयातित उत्पादों पर 500 बिलियन डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगाएगा।

    अमेरिका ने भारत को भी अमेरिकी उत्पाद हार्ले डैविडसन पर लगे 100 फीसदी टैरिफ को हटाने के लिए चेताया था। डोनाल्ड ट्रम्प ने जी-7 की बैठक में भी अमेरिका फायदा उठाने वाले राष्ट्रों को भी धमकी दी थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *