Sun. Nov 27th, 2022
    राजकुमार हिरानी मीटू, विंता नंदा

    फिल्म निर्माता राजकुमार हिरानी पर एक महिला द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाया गया है, महिला ने उनके साथ 2017 की फिल्म ‘संजू’ में काम किया था। हिरानी ने आरोपों का स्पष्ट रूप से खंडन किया है।

    उनके वकील आनंद देसाई ने हफ़पोस्ट इंडिया द्वारा एक विस्तृत जाँच में निदेशक के खिलाफ आरोपों को सार्वजनिक किए जाने के तुरंत बाद जारी बयान में आरोपों को “झूठा, शरारती, निंदनीय, प्रेरित और अपमानजनक करार दिया है।

    महिला, जो खुद को “एक सहायक” कहती है, ने आरोप लगाया कि हिरानी ने मार्च और सितंबर 2018 के बीच एक से अधिक बार उसका यौन शोषण किया था।

    हालांकि लोग अब भी लोग इस खबर से चौके हुए हैं। विंता नंदा, जिन्होंने अभिनेता आलोक नाथ पर बलात्कार के आरोप लगाए थे, अपने फेसबुक पोस्ट में, हिरानी पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों पर भी प्रतिक्रिया दी है।

    ट्विटर पर विंता ने लिखा है कि “#MeToo का नवीनतम वक्तव्य बहुत परेशान करने वाला है। वह कौन है जिस पर महिलाएं भरोसा कर सकती हैं? अब इन शब्दों से निपटा नहीं जा सकता। वकील कहते हैं कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप झूठे, शरारती, निंदनीय, प्रेरित और बदनाम करने वाले हैं।”

    महिला ने 3 नवंबर, 2018 को हिरानी के संजू सह-निर्माता विधु विनोद चोपड़ा को एक ईमेल में अपने आरोपों को विस्तृत रूप से बताया था। उन्होंने हफपोस्ट इंडिया के लेख में यह भी बताया कि विधु की पत्नी और फिल्म पत्रकार अनुपमा चोपड़ा के साथ ही हिरानी के सह-लेखक अभिजीत जोशी को मेल भी लिखा था।

    महिला ने कहा कि 9 अप्रैल, 2018 को, निर्देशक ने पहले उसके साथ अश्लील टिप्पणी की और बाद में उसके घर कार्यालय में यौन उत्पीड़न किया।

    यह भी पढ़ें: मराठी सिखने के बावजूद ठाकरे के मराठी वर्जन के लिए क्यों नहीं प्रयोग की गई नवाज़ुद्दीन की आवाज़

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *