Sat. Dec 10th, 2022
    राजकुमार राव

    राजकुमार राव जैसे ही बड़े परदे पर अपने हुनर का परचम लहराने में कामयाब हो पाए, वैसे ही उनकी तुलना बॉलीवुड के किंग खान से होने लगी। जैसे जैसे उनकी फिल्में दर्शकों के दिल में जगह बनाने लगी, तो लोगो को लगा कि अब बॉलीवुड से तीनो खान-शाहरुख़ खान, सलमान खान और आमिर खान का दौर चला गया है। मगर राज को ऐसा लगता है कि वे इन तीनो के सुपर स्टारडम के आस पास भी मौजूद नहीं हैं।

    राज के बारे में कहा जाता है कि वे नए जनरेशन के सबसे काबिल एक्टर में से एक हैं, हालांकि, उनका कहना है कि उनकी तुलना तीनो खानों से करना सही नहीं है।

    PTI को राज ने बताया-“मुझे नहीं लगता कि हमें सुपरस्टार और मुझ जैसे एक्टर की तुलना करनी चाहिए। जिस तरह की फिल्में आमिर सर, शाहरुख़ सर और सलमान सर ने की हैं, वे शानदार है। आप यह नहीं कह सकते कि वे सिर्फ इसलिए अच्छे नहीं हैं क्योंकि उनकी एक फिल्म नहीं चली।”

    “वे किसी कारण से ही सुपरस्टार हैं और हम सब उन्हें प्यार करते हैं। मैं खुद खानों का फैन हूँ। हमें तुलना नहीं करनी चाहिए। हम काफी नए हैं और खुद को साबित करने के लिए और लम्बा रास्ता चलना है। मुझे नहीं लगता कि जिस तरह का सुपर स्टारडम इन सुपरस्टार ने देखा है, वो फिर कभी वापस आएगा।”

    अभिनेता का मानना है कि उनके सुपरस्टारडम के आसपास सामूहिक उन्माद एक ऐसी चीज है जिसके लिए सभी कलाकार तरसते हैं, लेकिन इसे दोहराया नहीं जा सकता।

    उनके मुताबिक, “मैं चाहता हूँ हमारी सारी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर अच्छे से चले। मगर जितना पागलपन इन्होने देखा है, वो ऐसी चीज़ है जो मुझे लगता है कि कभी वापस नहीं आएगा। ये बहुत मुश्किल है। लोगो इन एक्टर्स को प्यार करते हैं, जैसे लोग प्रतिक्रिया देते हैं, चिल्लाते हैं, गले लगाते हैं, रोते हैं…ये सब बहुत बड़ा है।”

    राज को फिल्म ‘न्यूटन’, ‘ट्रैप्ड’, ‘स्त्री’, ‘बरेली की बर्फी’ से दर्शकों का बहुत प्यार मिला है मगर उन्हें लगता है कि वे अगले बड़े बॉलीवुड सुपरस्टार की रेस से बाहर हैं। उनके मुताबिक, “मैं जो कर रहा हूँ, वो करके मैं खुश हूँ और अगर वो मुझे वहां ले जाता है तो अच्छा है। मगर मैं आपको बता दूँ कि मैं यहाँ पर भी खुश हूँ।”

    2018 में एक्टर की पांच फिल्में रिलीज़ हुई मगर सबसे ज्यादा कमाल अमर कौशिक निर्देशित फिल्म ‘स्त्री’ ने किया। उन्हें अपने अभिनय के लिए, फिल्म ‘ओमरता’ और ‘लव सोनिया’ से भी बहुत सराहना मिली।

    https://www.instagram.com/p/BsDVbFbhRoT/?utm_source=ig_web_copy_link

    राज ने कहा-“दर्शकों ने इन कहानियों को किसी और चीज़ से ज्यादा प्यार किया। आज लोग उस कंटेंट के बारे में अधिक चिंतित हैं जो वे देख रहे हैं। मैं हमेशा नई चीज़े दिखाने की कोशिश करता हूँ। अपनी पहली फिल्म ‘लव सेक्स और धोखा’ के समय से ही, मैं एक अभिनेता के रूप में एक्सपेरिमेंट करने और उन्हें आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहा हूँ। मुझे खुशी है कि लोग इसे स्वीकार कर रहे हैं। यह मान्यता का अहसास है क्योंकि ये उस तरह की फिल्में हैं जो मैं पहले कर रहा था और आज वे अच्छा कमा भी रही हैं।”

    राज ने बताया कि वे आज भी सारी स्क्रिप्ट पढ़ते हैं और उन्ही फिल्मों को हां कहते हैं जिनकी कहानी उन्हें पसंद आती है। और साथ ही ये भी बताया कि हर एक्टर को स्क्रिप्ट पढ़ते में अपना समय व्यतीत करना चाहिए और उसे समझना चाहिए। वे कई फिल्ममेकर के साथ काम करना चाहते थे जिनके साथ अब उन्हें काम करने का मौका मिल रहा है।

    उनकी फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा‘ कल ही बड़े परदे पर रिलीज़ हुई है। फिल्म पर बात करते हुए उन्होंने कहा-“किरदार से ज्यादा कहानी अनोखी थी इसलिए मैंने फिल्म की। ये समाज के प्रासंगिक मुद्दों के बारे में बताती है। मुझे किरदार भी अच्छा लगा। पहले मैं कहानी को देखता हूँ और फिर किरदार की बारी आती है।”

    फिल्म में दो लड़कियों की प्रेम कहानी के बारे में दिखाया गया है। ये फिल्म एलजीबीटी समुदाय के बारे में बात करती है। उन्होंने बताया कि ये एक ड्रामा और फैमिली फिल्म है। आप किसी को उनके यौन पसंद के आधार पर नहीं आंक सकते।यह उनका जीवन है और वे अपने सहयोगियों के रूप में किसे चाहते हैं, यह एक सामान्य बात है।

    इस साल राज की झोली में कई दिलचस्प फिल्में हैं। वे कंगना रनौत के साथ ‘मेन्टल है क्या’ और मौनी रॉय के साथ ‘मेड इन चाइना’ में दिखेंगे। उन्होंने अनुराग बसु और हंसल मेहता के साथ भी फिल्में साइन की है।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *