दा इंडियन वायर » खानपान » मौसंबी के जूस से होने वाले 19 फायदे
खानपान

मौसंबी के जूस से होने वाले 19 फायदे

sweet lime juice benefits in hindi

मौसंबी का जूस भारत में लोगों का पसंदीदा है, खासकर गर्मी के मौसम में लोग मोसंबी के जूस को बहुत तरजीह देते हैं। मोसंबी के जूस में विटामिन सी और पोटेशियम प्रचुर मात्रा है। स्वादिष्ट, और ताज़ा होने के अलावा, यह जूस अपने ठंडे होने और विभिन्न औषधीय गुणों के कारण जाना जाता है।

मौसंबी का जूस हर जगह आसानी से उपलब्ध हो जाता है। सड़क के किनारे ठेले पर कई विक्रेता कई स्थानों पर मोसंबी का जूस बेचते हैं। नींबू के विपरीत, मोसंबी के जूस का स्वाद अम्लीय नहीं होता है, बल्कि स्वाद में यह मीठा होता है। इसका उपयोग जूस के अलावा अन्य रेसिपी में भी किया जाता है।

मौसंबी के जूस के फायदे (Sweet Lime Juice Benefits)

मौसंबी के जूस से कई सारे लाभ होते हैं, एक ही आर्टिकल में उन सभी गुणों और लाभों को बता पाना थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन इस आर्टिकल में हमने मौसंबी के जूस से होने वाले सभी फायदों को आपतक पहुँचाने की कोशिश की है तो चलिए फिर जानते हैं मौसंबी जूस के फायदे।

कब्ज को रखे दूर:

मोसंबी जूस में उपस्थित एसिड आंत से विषैले तत्वों को बाहर निकालता है। मोसंबी के जूस में काला नमक डाल कर पीने से कब्ज और अपच में तत्काल राहत मिलती है। इसमें पोटेशियम की प्रचुर मात्रा होने के कारण यह पेट में गड़बड़ी, पेचिश के मामले में भी अति प्रभावी है।

अल्सर के उपचार में सहायक:

पेप्टिक अल्सर खुले घाव हैं जो पेट या ऊपरी आंत के अंदरूनी परत पर होते हैं, और पेट के दर्द का कारण बनते हैं। मौसंबी में मिलने वाला अम्ल पेट में क्षारीय प्रतिक्रिया को बढ़ावा देकर पेप्टिक अल्सर से राहत देता है, क्षारीय प्रतिक्रिया से गैस्ट्रिक अम्लता कम हो जाती है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, आप मोसम्बी और नींबू के रस का मिश्रण पी सकते हैं। गर्म पानी में मौसंबी का जूस डाल के पीने से सांस की दुर्गंध दूर हो जाती है।

वजन घटाने में सहायक:

आप सोच रहे होंगे मौसंबी का जूस वजन घटाने में कितना सहयक होगा तो आपको बता दें कि इसमें वसा और कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। अतिरिक्त कैलोरी जलने के लिए जूस में शहद की कुछ बुँदे डालके सेवन करना और भी फायदेमंद रहेगा।

यूरिन इन्फेक्शन के उपचार में सहायक:

मोसंबी के जूस में पोटेशियम की प्रचुरता होती है और यह यूरिन संबंधी विकारों जैसे  सिस्टिटिस के इलाज में मदद करता है। सिस्टिटिस को (यूटीआई) के रूप में भी जाना जाता है। सिसटाइटिस में तत्काल राहत के लिए उबला हुआ मोसंबी का रस, ठंडा होने के बाद कुछ घंटों के भीतर लिया जाना चाहिए। पोटेशियम गुर्दे और मूत्राशय से विषैले तत्व निकाल यूरिन इन्फेक्शन को रोकता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है:

मौसंबी के जूस के सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है और रक्तचाप सामान्य बना रहता है।

शारीरिक गंध का उपचार:

मोसंबी जूस को पानी में मिलाकर स्नान करने से शरीर की गंध और पसीने से निपटने में सहायता मिलती है।

सूजन और दर्द में कारगर:

शरीर के जिस हिस्से में दर्द या सूजन हो वहां मोसंबी का रस और अरंडी के तेल का मिश्रण लगाने से सूजन और दर्द कम हो जाता है।

डायबटीज़ में फायदेमंद:

डायबटीज़ के उपचार में भी मौसंबी बहुत फायदेमंद साबित हुआ है। बेहतरीन परिणाम के लिए 2 चम्मच मौसंबी के जूस में 4 चम्मच आंवला का जूस और 1 चम्मच शहद मिलाकर इसका सेवन कीजिए।

स्कर्वी के इलाज में सहायक:

स्कर्वी की समस्या विटामिन सी कारण उत्पन्न होती है। और विटामिन सी की कमी को सूजे हुए मसूड़ों और फाटे हुए होठ आदि से पहचाना जा सकता है। मौसंबी में पाया जाने वाला विटामिन सी इन सभी समस्याओं को दूर कर सकता है।

पाचन में सहायक:

मौसंबी की अच्छी खुशबू की वजह से लार ग्रंथिया एक्टिव हो जाती हैं लार ग्रंथिया पाचन में सहयाक होती है। मौसंबी में मौजूद फ्लवोनोइड्स बाइल के सिक्रेशन को बढ़ाकर पाचन प्रक्रिया को आसान बनाता है। इसलिए इसका सेवन पेट की सभी समस्याओं का निदान कर सकता है।

इम्यून सिस्टम को रखे तंदरूस्त:

रोजाना मौसंबी के जूस के सेवन से शरीर में रक्त संचार अच्छे से होता है और ह्रदय भी अपना काम ठीक ढंग से करता है जिसके कारण इम्यून सिस्टम स्ट्रांग बनता है।

प्रेगनेंसी में फायदेमंद:

प्रेगनेंट महिलाओं को अक्सर मौसंबी के जूस के सेवन की सलाह दी जाती है। इसमें कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है जो माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

ठंड से बचाता है:

मौसंबी में पाया जाने वाला विटामिन सी सामान्य कोल्ड और कफ से शरीर की रक्षा करता है।

आँखों के लिए बेहतरीन:

मौसंबी के एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण के कारण मौसंबी के जूस के सेवन से यह हमारे आँखों को विभीन प्रकार के इन्फेक्शन से बचाता है।

कॉपर से फायदा:

मौसंबी जूस में कॉपर की मात्रा पायी जाती है।  जूस में पाया जाने वाला यह कॉपर शरीर में मिलेनिन के निर्माण में सहायक होता है, जो बालों को बेहतर कलर प्रदान करता है।

फटे होंठो का उपचार:

मौसंबी के जूस से दिन में 2 से 3 बार होंठो की मालिश करने से होठ नरम बने रहते हैं और फटते नही हैं।

त्वचा की समस्याओं को दूर रखता है:

मौसंबी के जूस में पाए जाने वाले विटामि और मिनरल्स के अलावा इसके एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक गुण त्वचा को किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचाते हैं और खून को साफ़ करते हैं।

दाग धब्बों से सुरक्षा:

मौसंबी का जूस दाग, धब्बों  और मुहांसो से त्वचा की रक्षा करता है, सोते वक्त मौसंबी का जूस प्रभावित जगह पर लगाकर सुबह गर्म पानी से धो लेने से सभी समस्याओं से निजात मिल जाती है।

हेयर वाश की तरह प्रयोग:

शैम्पू और कंडीशनर के बाद, बालों को मौसंबी के जूस से धुलने से बाल स्वस्थ व चमकदार बनते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 92

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

इस लेख से सम्बंधित अपने सवाल और सुझाव आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

गरिमा सिंह

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]