दा इंडियन वायर » मनोरंजन » जानिए सबसे पहले 5 करोड़ कमाने वाली दिलीप कुमार और मधुबाला अभिनीत फिल्म “मुग़ल-ए-आज़म” के बारे में…
मनोरंजन

जानिए सबसे पहले 5 करोड़ कमाने वाली दिलीप कुमार और मधुबाला अभिनीत फिल्म “मुग़ल-ए-आज़म” के बारे में…

जानिए सबसे पहले 5 करोड़ कमाने वाली दिलीप कुमार और मधुबाला अभिनीत फिल्म "मुग़ल-ए-आज़म" के बारे में...

आज के वक़्त अगर किसी ए-सूची के अभिनेता की कोई फिल्म रिलीज़ हो तो वह पहले दिन ही 5-7 करोड़ रूपये और ज्यादा बड़ा अभिनेता हो तो उससे भी ज्यादा रूपये कमा लेती है मगर पुराने वक़्त में 5 करोड़ रूपये कमाना बहुत बड़ी बात थी जिसे माइलस्टोन माना जाता था और आज हम आपको बताएँगे उसी फिल्म के बारे में जिसने पहले बार ये माइलस्टोन अपने नाम किया।

5 करोड़ रूपये कमाने वाली पहली भारतीय फिल्म थी भारत की सबसे बड़ी फिल्म, निर्देशक के आसिफ की “मुग़ल-ए-आज़म” जिसमे पृथ्वीराज कपूर, दिलीप कुमार और मधुबाला ने अहम किरदार निभाया था। फिल्म में सलीम (दिलीप) और अनारकली (मधुबाला) की प्रेम-कहानी दिखाई जिसमे विलन की भूमिका निभाता है सलीम का पिता और मुग़ल सम्राट अकबर (पृथ्वीराज)।

इस महाकाव्य फिल्म को पूरे होने में 9 साल लगे थे। के आसिफ ने पहले फिल्म को ब्लैक एंड व्हाइट में रिलीज़ करने की योजना बनाई थी, लेकिन भारतीय सिनेमा में रंगीन फिल्मों की शुरुआत हो गई थी, जिसके बाद उन्होंने प्रतिष्ठित गीत ‘प्यार किया तो डरना क्या की’ की शूटिंग रंगीन प्रारूप में की लेकिन बाकी की फिल्म के साथ ऐसा नहीं कर सके क्योंकि उन पर निर्माता और वितरकों का दवाब था। 1960 में बहुत धूमधाम के साथ फिल्म रिलीज हुई। फिल्म ज्यादातर ब्लैक एंड व्हाइट ही थी जिसमे उस गीत सहित कुछ ही दृश्य रंगीन थे।

उस वक़्त वीएफएक्स भी नहीं था इसलिए सलीम और अकबर के बीच दिखाए गए युद्ध के दृश्य के लिए 2000 घोड़े, 2000 ऊंट और 8000 सैनिको का इस्तेमाल किया गया था।

फिल्म के रिलीज़ होते ही, बॉक्स ऑफिस पर कहर टूट पड़ा। फिल्म ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए जिसमे ‘मदर इंडिया’ का 4 करोड़ रूपये का रिकॉर्ड भी शामिल था। उस वक़्त के दौर में फिल्म सबसे ज्यादा 150 स्क्रीन में रिलीज़ हुई थी और 5.5 करोड़ रूपये की जबरदस्त कमाई की थी।

ऐसा कहा जाता है कि फिल्म शुरुआत में 6 घंटे और 30 मिनट की थी और के आसिफ को लगभग 50% फिल्म को काटना पड़ा ताकि वह 3 घंटे और 20 मिनट की बन सकें।

अपनी मूल रिलीज़ के 44 साल बाद, “मुगल-ए-आज़म” दुनिया में पहली फिल्म बन गई, जिसे नाटकीय रूप से रिलीज़ के लिए रंग में डिजिटल रूप से रीमेक किया गया। यह फिल्म 2004 में दीवाली पर 3 अन्य फिल्मों – शाहरुख खान अभिनीत ‘वीर जारा’, अक्षय कुमार अभिनीत ‘ऐतराज़’ और अभिषेक बच्चन अभिनीत ‘नाच’ के साथ फिर से रिलीज़ हुई थी। हैरानी की बात यह है कि फिल्म का क्रेज ऐसा था कि 150 स्क्रीन पर 90 अधिग्रहण दर से खुलने के बाद, ये बढ़कर 176 हो गयी।

27 करोड़ रूपये में बना इसका रीमेक बॉक्स ऑफिस पर 25 हफ्तों तक टिकी रही थी और दिलचस्प बात ये है कि ये साल 19वि सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्म बन गयी थी।

कुछ व्यापार रिपोर्टों में दावा किया गया है कि यदि हम मुद्रास्फीति को समायोजित करते हैं तो “मुगल-ए-आज़म” आज तक भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म बनी हुई है।

About the author

साक्षी बंसल

पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]