Sat. Apr 13th, 2024
    रणवीर सिंह on मीटू

    बॉलीवुड स्टार रणवीर सिंह ने कहा है कि मी टू मूवमेंट का भारत पर काफी अच्छा असर हुआ है और उन्हें आशा है कि भारत की पित्रसत्तात्मक सोच में परिवर्तन होना भी शुरू हो गया है।

    रणवीर ने टाइम्स नेटवर्क इंडिया इकनोमिक कॉन्क्लेव 2018 (Times Network India Economic Conclave) के मौके पर कहा है कि, “मीटू ऐतिहासिक और क्रन्तिकारी था। इसने लोगों को सोचने के लिए मजबूर कर दिया। यह अपने आप में ही एक बड़ी बात है। यह बहुत असरदार और महत्वपूर्ण साबित हुआ है।”

    रणवीर ने आगे कहा कि, “यह सब बहुत जल्दी-जल्दी हो रहा था। यह एक क्रांति थी। कुछ ऐसे दरिन्दे थे जो अब काम नहीं कर पा रहे हैं। मैं जहां से आता हूँ इसने वहां पर बहुत बड़े बदलाव ला दिए हैं। मेरे ख्याल से मीटू ने मर्दों के सोचने का तरीका बदल दिया है।

    हर आदमी अब दो बार सोचता है और डरा हुआ है। उन्हें पता है कि अगर अब वह कुछ भी गलत करेंगे तो उनके बारे में दुनिया को पता चल जाएगा। इस आन्दोलन ने जमीनी स्तर पर बहुत बड़े बदलाव किये हैं।”

    सहमति के बारे में पूछे जाने पर रणवीर सिंह ने कहा कि, “हम सब ने एक लम्बा समय पित्रसत्तात्मक समाज में रहते हुए गुज़ारा है। कम से कम मैं तो ऐसे ही माहौल में रहा हूँ पर सौभाग्य से जब मैं बड़ा हो रहा था तो मेरे पापा हमेशा बाहर ही रहते थे।

    मुझे 4 औरतों ने मिलकर बड़ा किया है जिसमें मेरी माँ, बहन, दादी और पर दादी शामिल थे। शायद इसीलिए मेरा नज़रिया अलग है।

    मैंने अमेरिका में रहकर पढ़ाई की है जहां लिंगवादिता बहुत अलग है। इसलिए सेक्स के प्रति मेरा नज़रिया काफी अलग है।” रणवीर सिंह ने यह भी कहा है कि वह भारत में कुछ बदलाव लाना चाहते हैं और भारत के लोगों को सहमति का असली मतलब समझना होगा।”

    यह भी पढ़ें: ईद 2019 पर बॉक्स ऑफिस पर भी होगा हिन्दुस्तान-पाकिस्तान का मुक़ाबला, सलमान खान-फवाद खान होगे आमने-सामने

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *