दा इंडियन वायर » खानपान » रोजाना कितने अंडे खाने चाहिए?
खानपान स्वास्थ्य

रोजाना कितने अंडे खाने चाहिए?

रोजाना कितने अंडे खाएं how many eggs should i eat a day in hindi

अंडे में लगभग सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इस बात को साबित करने के लिए हम बस एक चीज़ का उदाहरण ले सकते हैं।

अंडे में एक कोशिका होती है और उसी कोशिका से पूरा एक चूज़ा बन जाता है। अब आप सोच ही सकते हैं कि अंडा अपने आप में कितना ज़्यादा शक्तिशाली होता है।

हमें अंडे का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए लेकिन इसका सेवन किस तरह करना चाहिए, अक्सर हमें ये नहीं पता होता है। इसलिए हम अंडे से जुड़े हुए कुछ छोटे छोटे बिंदुओं पर चर्चा करेंगे जो कि वास्तव में काफ़ी महत्वपूर्ण हैं।

हमें प्रतिदिन कितने अंडे खाने चाहिए, इस बात पर कोई भी टिप्पणी करने से पहले आइए देखते हैं कि अंडे में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं।

अंडे में पाए जाने वाले पोषक तत्व (nutrients in eggs in hindi)

  1. शुगर – 1.1 ग्राम
  2. कैल्शियम – 5%
  3. मैग्नीशियम – 2%
  4. विटामिन बी कॉम्प्लेक्स – 18%
  5. फ़ाइबर – 0%
  6. कोलेस्ट्रॉल – 373 मिलीग्राम
  7. वसा – 11 ग्राम
  8. पोटैशियम – 126 मिलीग्राम
  9. विटामिन बी 6 – 5%
  10. सोडियम – 124 मिलीग्राम
  11. ऊर्जा – 155 कैलोरीज
  12. आयरन – 6%
  13. विटामिन सी – 0%
  14. विटामिन ए – 10%
  15. प्रोटीन – 13 ग्राम

इस तरह हम देख सकते हैं कि अंडे में किस किस तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। कुल मिलाकर एक अंडा हमारे स्वास्थ्य को लगभग सभी प्रकार के पोषक तत्व प्रदान कर सकता है।

रोजाना कितने अंडे खाने चाहिए? (how many eggs to eat daily in hindi)

जैसा कि हमने देखा कि अंडे में एक बड़ी मात्रा में कोलेस्ट्रॉल पाया जाता हैं इसलिए पहली बात तो यदि अंडे का सेवन करना है तो हमें अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को मापकर चलना होगा।

सामान्य अवस्थाओं में एक हफ़्ते में लगभग 5-6 अंडों का सेवन करना चाहिए यानी प्रतिदिन औसतन एक अंडे का सेवन करना चाहिए। हफ़्ते में एक दिन छूटा हुआ है यानी कि किसी एक दिन हमें ऐसा चुनना है जिस दिन हम अंडा न खाएं।

इसके अलावा कई शोध किए गए कि प्रतिदिन कितने अंडे खाने चाहिए और उसमें अलग अलग प्रकार के परिणाम निकले।

जैसे कि कुछ लोगों में यह पाया गया कि यदि वे प्रतिदिन 1 अंडे का सेवन कर रहे थे और लगातार 7 दिन 7 घंटे खाए तो उनमें कोलेस्ट्रॉल बिलकुल सामान्य रहा। इसका मतलब है कि उसमें बैड कोलेस्ट्रॉल और गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ना तो बढ़ी ना ही घटी।

इसके अलावा कुछ लोगों पर और शोध किया गया और यह पाया गया कि यदि वे प्रतिदिन एक अंडा खाते हैं और हफ़्ते में एक दिन छोड़ भी देते हैं तो भी उनके शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ गया।

कभी कभी उनमें गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर ज़्यादा पाया गया और कभी बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ा हुआ पाया गया।

इसका मतलब है कि प्रतिदिन हमें कितने अंडे खाने चाहिए यह इस बात पर डिपेंड करता है कि हम कोलेस्ट्रॉल के मामले में कैसे हैं।

दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते हैं कि अगर हमें अंडे का फ़ायदा लेना है तो पहले हमें डॉक्टरी सलाह और जाँच करवानी आवश्यक है।

ये तो वैसे भी एक नियम रहा है कि यदि हम अपने आहार में या अपने ऊपर कुछ भी नया ट्राई करना चाहते हैं तो हमें पहले अपने स्वास्थ्य का एक विश्लेषण करना होता है। यानी हमें डॉक्टर से यह सलाह ज़रूर लेनी होती है कि हमें वह कार्य करना है या नहीं।

भले ही अंडे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं लेकिन अंडे पर भी यह बात लागू होती है कि उसका लगातार सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह आवश्यक है।

इस तरह हमने देखा कि प्रतिदिन अंडे का सेवन क्या कहता है। आइए अब बात करते हैं कि अंडे के सेवन से हमारे स्वास्थ्य को क्या लाभ हो सकते हैं?

जिम जाने वाले लोगों को दिन में कितने अंडे खाने चाहिए?

जैसा कि हमनें ऊपर बताया कि साधारण व्यक्ति को दिन में एक अंडा खाना चाहिए।

लेकिन, यदि आप जिम जाते हैं, या कठिन कसरत करते हैं, तो आपको ज्यादा प्रोटीन की जरूरत पड़ती है।

यदि आप प्रोटीन सिर्फ अण्डों से ले रहे हैं, तो आप दिन में अधिक अंडे भी खा सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर एक अंडे में 5-6 ग्राम प्रोटीन होता है। यदि आपको दिन में 25 से 30 ग्राम प्रोटीन चाहिए, तो आप दिन में 5 से 6 अंडे खा सकते हैं।

यदि आप अंडे के अलावा कुछ प्रोटीन स्त्रोत ले रहे हैं, तो आप अंडे कम खाएं।

यह बात ध्यान रहे, कि आप अंडे जिम के बाद खाएं।

रोजाना अंडे खाने के फायदे (benefits of eating eggs daily in hindi)

कुछ शोध किए गए और उसमें कुछ लोगों को जांचा गया।

शोधकर्ताओं ने यह देखना चाहा कि अंडे का हृदय से क्या कनेक्शन है? इसके लिए उन्होंने एक स्टेटिस्टिकल ग्राफ तैयार किया जो कि यह दिखाता था कि हृदय के रोग और अंडे के बीच क्या कनेक्शन है।

लगभग हज़ारों लोगों पर शोध किए गये और ये पाया गया कि नियमित रूप से अंडे का सेवन करने वाले लोग ह्रदयाघात व अन्य प्रकार के हृदय रोग से संबंधित समस्याओं से फ़्री थे।

इसका मतलब है कि जो लोग नियमित रूप से अंडा खाते थे, उनमें अंडा न खाने वाले लोगों की अपेक्षा ह्रदयाघात के चांसेस कम पाए गए।

शोध में एक बात और पाई गई कि यदि मधुमेह से पीड़ित लोग प्रतिदिन अंडे का सेवन करते हैं तो उनमें हृदय रोगों की संभावना काफ़ी मात्रा में होती है।

वैसे तो अंडे के सेवन से कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर फ़र्क पड़ता है या नहीं ये पूरी तरह व्यक्तियों पर निर्भर करता है। इस बात की पुष्टि के लिए क्रिस गुन्नार का एक मत है।

क्रिस ने एक केस स्टडी की और उसमें इन्होंने एक व्यक्ति पर शोध किया। वह व्यक्ति प्रतिदिन पच्चीस अंडे खाता था लेकिन फिर भी उसका कोलेस्ट्रॉल स्तर और उसका स्वास्थ्य बिलकुल नॉर्मल था।

इस बात से यह परिणाम निकलता है कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ना या घटना इस बात पर डिपेंड करता है कि हमारा कोलेस्ट्रॉल लेवल कितना सेंसिटिव है।

इसी तरह अंडे का हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्व है व अंडा हमारे स्वास्थ्य को और भी कई प्रकार से लाभ पहुँचाता है।

स्वयं क्रिस गुन्नार का यह कहना है कि वे भी प्रतिदिन 3-6 अंडे खाते हैं और उनको कभी ऐसा नहीं लगा कि उनका कोलेस्ट्रॉल नोर्मल नहीं है। अर्थात उन्होंने स्वयं को सदा फ़िट एंड फ़ाइन ही पाया।

हम आशा करते हैं कि इस लेख के माध्यम से आपको यह पता चल गया होगा कि प्रतिदिन कितने अंडे खाना सही है।

एक बार फिर से हम आपको यह बात याद दिलाना चाहेंगे कि आपको प्रतिदिन कितने अंडे खाने हैं ये इस बात पर डिपेंड करता है कि आपकी बॉडी क्या है?

इसके लिए आप डॉक्टरी सलाह ले सकते हैं अन्यथा आप प्रतिदिन एक अंडे से शुरुआत कर सकते हैं और लगभग 5-6 दिन ऐसा करके देख सकते हैं। अगर आपकी बॉडी फ़िट एंड फ़ाइन रहती है तो आप अंडे खा सकते हैं।

यदि आप को किसी प्रकार की कोई एलर्जी या तक़लीफ महसूस होती है तो आपको फ़ौरन डॉक्टर से सलाह लेने की आवश्यकता होती है।

इस लेख से सम्बंधित यदि कोई सवाल या सुझाव आपके पास है, तो उसे आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

नायला हाशमी

9 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]