सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

पथरी में क्या-क्या खाना चाहिए?

Must Read

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां...

आजकल गुर्दे में पथरी होना एक आम समस्या बन गई है। आज सही खानपान और लाइफ़ रुटीन न होने के कारण गुर्दे में पथरी की समस्या तेज़ी से लोगों के बीच फैल रही है।

कभी कभी पथरी किडनी से संबंधित बड़ी समस्याओं को भी जन्म दे देती है। ऐसे में यह बहुत ज़रूरी है कि पथरी से बचाव के उपाय किए जाएं।

इस लेख में हम कुछ ऐसे खानपानों के विषय में चर्चा करेंगे जोकि गुर्दे की पथरी से बचने में सहायता प्रदान करते हैं।

पथरी में खाने लायक भोजन (what to eat in kidney stone in hindi)

1. पथरी में रेड मीट का लिमिटेड सेवन

जी हाँ! जो लोग रेड मीट बहुत शौक़ से खाते हैं उन्हें ये बात भी जान लेनी चाहिए कि अत्यधिक मात्रा में रेड मीट का सेवन करना बॉडी के लिए हानिकारक होता है। रेड मीट का अत्यधिक सेवन गुर्दे में पथरी की समस्या भी पैदा कर सकता है।

दरअसल रेड मीट में एनिमल प्रोटीन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। यह एनिमल प्रोटीन हमारी बॉडी के लिए उचित नहीं होता है। यदि हम अत्यधिक मात्रा में एनिमल प्रोटीन का सेवन कर लेते हैं तो ऐसे में शरीर में ना सिर्फ पथरी की समस्या हो जाती है बल्कि कई और भी समस्याएं हो सकती हैं।

2. पथरी में नमक का परहेज करें

ये भी एक ध्यान रखने वाली बात है कि अगर हम गुर्दे की पथरी से बचना चाहते हैं तो हमें नमक की कम मात्रा का सेवन करना चाहिए। यदि हम नमक की अत्यधिक मात्रा का सेवन करते हैं तो ऐसे में हमारे शरीर में कैल्शियम का उत्पादन ज़्यादा होने लगता है।

वैसे तो शरीर के लिए कैल्शियम की प्रचुर मात्रा आवश्यक है लेकिन नमक के अत्याधिक सेवन से बनने वाला कैल्शियम यूरीनरी ट्रैक को बाधित करता है।

इस तरह यह कैल्शियम शरीर को फ़ायदा न पहुंचाकर नुक़सान पहुँचाता है। कुल मिलाकर हम कह सकते हैं कि नमक की अत्यधिक मात्रा का सेवन करना गुर्दे की पथरी को जन्म देने की सम्भानावों को बढ़ा सकता है।

3. पथरी में अंडे खाएं

यदि आप गुर्दे की पथरी से बचना चाहते हैं तो आपको अंडों की प्रचुर मात्रा का सेवन करना चाहिए। डॉक्टर्स गुर्दे की पथरी से बचाव के लिए अंडों के सेवन की सलाह देते हैं।

यदि गुर्दे की पथरी प्राथमिक स्टेज पर है तो ऐसे में डॉक्टर्स मरीज़ को तब तक अंडों का सेवन करने के लिए कहते हैं जब तक कि गुर्दे की पथरी शरीर से बाहर नहीं निकल जाती है।

अंडों में एनिमल प्रोटीन की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होती है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि अंडों का नियमित रूप से सेवन करना हमारे शरीर में अनेक प्रकार के पोषक तत्वों की कमी भी पूरा करता है अतः हमें नियमित रूप से निश्चित मात्रा में अंडों का सेवन करना चाहिए।

4. पथरी में पानी की प्रचुर मात्रा का सेवन करें

गुर्दे की पथरी से बचने का प्राकृतिक इलाज यह है कि हम प्रचुर मात्रा में पानी का सेवन करें। कई बार तो यह भी देखा गया है कि हमारे शरीर में पानी की कमी होने से गुर्दे की पथरी की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

जब हम पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करते हैं तो हमारे शरीर में काफ़ी मात्रा में मूत्र बनने लगता है। ज़्यादा मूत्र बनने से शरीर में उपस्थित हानिकारक पदार्थ शरीर से आसानी से निकलने लगते हैं।

एक तरह से हम जितना पानी पीते हैं हमारे शरीर की उतनी ही ज़्यादा सफ़ाई होती है। ठीक इसी तरह यदि गुर्दों में कैल्शियम का जमाव होने लगता है तो पर्याप्त पानी का सेवन करने से गुर्दों की सफ़ाई आसानी से हो जाती है।

इस तरह यह कहा जा सकता है कि पर्याप्त जल का सेवन गुर्दे की पथरी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है

5. पथरी में आलू का सेवन करें

वैसे तो ज़्यादातर मामलों में यह देखा गया है कि हमें ज़्यादा मात्रा में आलू के सेवन से रोका जाता है लेकिन जब बात गुर्दे की पथरी की आती है तो ऐसे में डॉक्टर्स यह सलाह देते हैं कि ज़्यादा से ज़्यादा मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन किया जाए।

दरअसल कार्बोहाइड्रेट गुर्दे में पथरी के निर्माण को बाधित करता है। इस तरह कार्बोहाइड्रेट का सेवन गुर्दे की पथरी से निजात दिलाता है।

चूंकि आलू में पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है इसलिए आलू का सेवन करने से गुर्दे की पथरी से बचा जा सकता है।

6. पथरी में पालक के सेवन से बचें

पालक एक हरी सब्ज़ी है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होती है लेकिन जब बात गुर्दे की पथरी की आती है तो ऐसे में पालक के सेवन से जितना हो सके उतना बचना ही चाहिए।

दरअसल पालक में कई ऐसे मिनरल्स पाए जाते हैं जोकि गुर्दे में पथरी की समस्या को जन्म देते हैं। पालक में ऑक्सिलेट नामक मिनरल पाया जाता है जो गुर्दे की पथरी के लिए ज़िम्मेदार होता है।तो इस तरह गुर्दे की पथरी से बचने के लिए पालक का सेवन नहीं करना चाहिए।

7. पथरी के रोगी के आहार में जंक फ़ूड ना हो 

जी हाँ, जंक फ़ूड वैसे तो बहुत ज़्यादा स्वादिष्ट होते हैं लेकिन ये हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज़्यादा नुकसानदायक होते हैं!

जंक फ़ूड न सिर्फ़ पाचन को ख़राब करते हैं बल्कि ये गुर्दे में पथरी की समस्या को भी जन्म देते हैं। ठीक इसी तरह जंक फ़ूड में फ्रक्टोज की अत्यधिक मात्रा पाई जाती है।

यदि हम पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन करते हैं तो ऐसे में हमें फ्रक्टोज की कम मात्रा का सेवन करना चाहिए।

यदि हम जंक फ़ूड खाते हैं तो ऐसे में हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट और फ्रक्टोज दोनों की मात्रा बढ़ जाती है। ये दोनों ही चीज़ें यदि साथ मिल जाती हैं तो गुर्दे की पथरी की समस्या को जन्म दे सकती है इसलिए जितना हो सके जंक फ़ूड को अवॉइड करना चाहिए।

8. पथरी में सिट्रिक एसिड का सेवन करें

गुर्दे की पथरी से बचने का सबसे अच्छा तरीक़ा यह है कि हम अपने डेली के आहार में सिट्रिक एसिड से भरपूर पदार्थों को शामिल करें। जो पदार्थ खट्टे होते हैं उन में पर्याप्त मात्रा में सिट्रिक एसिड पाया जाता है जैसे नींबू, आँवला, संतरा आदि।

गुर्दे में पथरी कैल्शियम ऑक्सिलेट के कारण बनती है। जब कैल्शियम, ऑक्सिलेट के साथ मिल जाता है तो ऐसे में गुर्दे में पथरी की समस्या हो जाती है लेकिन यदि हम पर्याप्त मात्रा में सिट्रिक एसिड का सेवन करते हैं तो ऐसा नहीं होता है।

दरअसल सिट्रिक एसिड, कैल्शियम के साथ मिल जाता है और इस तरह कैल्शियम को ऑक्सिलेट के साथ मिलने नहीं देता है। ऐसा होने पर हम गुर्दे में पथरी की समस्या से बच जाते हैं।

9. पथरी में दूध पीना चाहिए

पथरी के रोगी को अकसर दूध पीने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि दूध एक भरपूर आहार है और यह पथरी को साफ़ करने में मदद कर सकता है।

यदि आप पथरी से पीड़ित हैं, या आपके आस-पास कोई इस बिमारी से ग्रस्त है, तो उन्हें रोजाना दूध पीने की सलाह दें।

10. पथरी में दही लें

जैसा हमनें ऊपर बताया कि पथरी में आपको सिट्रिक एसिड के भोजन का सेवन करना चाहिए। सिट्रिक फल सामान्य रूप से खट्टे होते हैं, और दही भी इसी श्रेणी में आता है।

ऐसे में आपको नियमित रूप से पथरी में दही का सेवन करना चाहिए।

11. पथरी में चावल खाएं

हमनें आपको पथरी में खाने के लिए फल और सब्जियां तो बता दी, लेकिन अनाज में आपको चावल का सेवन करना चाहिए।

चावल में जरूरी पोषक तत्व होते हैं, जो पथरी को साफ़ करने की क्षमता रखते हैं। पथरी के रोगी को चावल का पानी पीने की भी सलाह दी जाती है।

पथरी (किडनी स्टोन) से सम्बंधित बातें (information about kidney stone in hindi)

  1. गुर्दे में पथरी की समस्या वैसे तो बहुत आम हो गई है लेकिन याद रखें कि यदि इसका समय पर इलाज न हो तो यह किडनी फेल्योर का कारण भी बन सकती है।
  2. जब गुर्दे की पथरी काफ़ी बड़ी हो जाती है तो ऐसे में यह काफ़ी दर्द करती है लेकिन जब यह प्राथमिक स्टेज पर होती है तो हमें दर्द का अनुभव नहीं होता है।
  3. गुर्दे की पथरी से बचने का सर्वोत्तम उपाय यह है कि हमें समय समय पर अपने गुर्दे की जाँच कराते रहना चाहिए। इससे क्या होता है कि यदि हमारे गुर्दे में किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या है तो हमें उसका समय पर ज्ञान हो जाता है।
  4. कभी कभी गुर्दे की पथरी से निजात पाने के लिए डॉक्टर्स को ऑपरेशन करना पड़ता है लेकिन ज़्यादातर मामलों में यह देखा गया है कि जब हम पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करना शुरू कर देते हैं तो ऐसे में गुर्दे की पथरी अपने आप गुर्दों से बाहर निकल जाती है।
  5. गुर्दे में पथरी की समस्या कोई बहुत बड़ी डर वाली बात नहीं है लेकिन फिर भी एहतियात के तौर पर इस समस्या से छुटकारा पाने की कोशिश अवश्य करनी चाहिए।
  6. यदि अत्यधिक पानी के सेवन या ऊपर दिए गए पदार्थों के सेवन से गुर्दे की पथरी की समस्या से निजात नहीं मिल रही है तो हमें फ़ौरन डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और उसी के अनुसार गुर्दे की पथरी को ख़त्म करने की कोशिश करनी चाहिए।

तो इस तरह हम देख सकते हैं कि गुर्दे की पथरी से किस प्रकार बचा जा सकता है और यदि हमें गुर्दे की पथरी की समस्या हो भी रही हो तो उसे कैसे ख़त्म किया जा सकता है।

हम आशा करते हैं कि इस लेख के माध्यम से आपको पथरी से संबंधित आवश्यक जानकारियां प्राप्त हो गई होंगी।

यदि लेख से संबंधित आपका कोई भी सवाल है तो आप उसे कमेंट पेटिका में दर्शा सकते हैं।

- Advertisement -

25 टिप्पणी

  1. mujhe ek saal pehle pathri thi. ab 4 mahine se dard nahi hai, dawai bhi le li hai. main ab bhi kai cheej ka parhej kar raha hoon. ab main kya kha sakta hoon aur kya nahi?
    doctor ne chay peene ke liye mana kiya tha lekin kya ab pee sakte hain kya?

  2. पथरी में चावल और दही से डॉक्टर मना करते हैं aur ये आर्टिकल चावल खाने की सलाह दे रहा है ।।

  3. Meri mummy ko phatri h pit ki theli me unhe namak palak oily cheeje khane ko mna kiya h or dhood dahi ka bhi mna kiya h fir ynha to dhood dahi ka khana btaya gya h aisa kyo 9 mm ki btai gai h plz koi upaaye ho to muje whatsapp pe contact kre 9589036945

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर रख दिया था। अब सात...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां रविवार को नटरंग शरद रंगोत्सव...

विजय हजारे ट्रॉफी : महाराष्ट्र 3 विकेट से जीता

वडोदरा, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। अजीम काजी के शानदार 84 रनों की मदद से महाराष्ट्र ने यहां खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के मैच में...

चीन-नेपाल मैत्री की जड़ मजबूत

बीजिंग, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शनिवार को काठमांडू में नेपाली राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के साथ मुलाकात की। दोनों ने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -