दा इंडियन वायर » राजनीति » नागरिकता विधेयक पर अमित शाह: हिंदू, सिख, बौद्ध और ईसाई को डरने की जरुरत नहीं है
राजनीति समाचार

नागरिकता विधेयक पर अमित शाह: हिंदू, सिख, बौद्ध और ईसाई को डरने की जरुरत नहीं है

नागरिकता विधेयक पर अमित शाह

पश्चिम बंगाल में अपनी रैली के दौरान, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने तृणमूल कांग्रेस पर हमला करने का एक भी मौका नहीं छोड़ा। उन्होंने मंगलवार को, ममता सरकार पर नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स (एनआरसी) को लेकर लोगों को गुमराह करने का इलज़ाम लगाया है। उन्होंने कहा कि राज्य के हिन्दू, बौद्ध और सिख शरणार्थियों को डरना नहीं चाहिए क्योंकि नागरिकता विधेयक उन्हें नागरिकता दिलाने के लिए ही लाया गया है।

मालदा में रैली के दौरान उन्होंने कहा-“इनको घुसपैठियो बहुत प्यारे हैं। उनको निकालने के लिए एनआरसी लाते हैं, वो बंगाल की जनता को गुमराह करते हैं कि इससे तो बंगाली लोग चले जाएँगे। मैं बंगाल में रहते हुए सारे शरणार्थी, हिन्दू, बौद्ध और सिख को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि डरने की ज़रूरत नहीं है। हम नागरिकता विधेयक लाये हैं, एक एक हिन्दू बंगलादेशी को हम नागरिकता देने का काम करने वाले हैं। कोई नहीं छूट जाएगा। चाहे बौद्ध हो, चाहे सिख हो या चाहे ईसाई हो। जो वहाँ से प्रताड़ित हो कर पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान, बांग्लादेश से आये हैं, इस सब को नागरिकता देने का काम ये भारतीय जनता पार्टी की नरेंद्र मोदी सरकार करने वाली है।”

About the author

साक्षी बंसल

पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

Add Comment

Click here to post a comment




फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!