दा इंडियन वायर » लोग » दिया मिर्ज़ा की जीवनी
लोग

दिया मिर्ज़ा की जीवनी

Dia Mirza biography in hindi

दिया मिर्ज़ा भारतीय फिल्मो की अभिनेत्री हैं। उन्होंने अपनी पहचान एक मॉडल के रूप में बनानी शुरू की थी और देखते ही देखते उन्हें अभिनेत्री के अलावा फिल्म निर्देशक और समाज सेविका के रूप में भी जाना जाने लगा है। उन्होंने साल 2001 से फिल्मो में अपने अभिनय की शुरुआत की थी।

उनकी पहली ही फिल्म ने उन्हें भारत में बहुत लोकप्रिय बना दिया था। दिआ ने ‘रहना है तेरे दिल में’, ‘तुमको ना भूल पाएंगे’, ‘दस’, ‘लगे रहो मुन्ना भाई’, ‘संजू’ जैसी बड़ी बड़ी फिल्मो में अभिनय किया था। उन्होंने अपने अभिनय की वजह से कई सारे अवार्ड्स को भी अपने नाम किया है। उन्हें हमेशा फिल्मो में सकारात्मक किरदारों को ही दर्शाते हुए देखा गया है।

दिया मिर्ज़ा का प्रारंभिक जीवन

दिया मिर्ज़ा का जन्म 9 दिसंबर 1981 को हैदराबाद में हुआ था। दिआ के पिता का नाम ‘फ्रैंक हैंडरिक’ था जो पेशे से जर्मन के ग्राफिक्स और इंडस्ट्रियल फेयर डिजाइनर, वास्तुकार, कलाकार और इंटीरियर डिजाइनर थे। दिआ की माँ का नाम ‘दीपा’ है जो एक बंगाली परिवार में जन्मी थी। दीपा भी पेशे से एक इंटीरियर डिजाइनर और लैंडस्केपर हैं।

जब दिआ साढ़े चार साल की थी, तब उसके माता-पिता का तलाक हो गया था। बाद में उनकी मां ने हैदराबाद के एक मुस्लिम व्यक्ति ‘अहमद मिर्जा’ से शादी की थी और दिआ को उनके सौतेले पिता का अंतिम नाम दिया गया था। साल 2003 में दिआ के सौतेले पिता की भी मृत्यु हो गई थी।

हैदराबाद में रहने के दौरान दिआ ने अपने स्कूल की पढाई पहले ‘सह-एड स्कूल विद्यालय हाई स्कूल’ में शुरू की थी। उनके सौतेले पिता के कहने पर दिआ को ‘नस्र स्कूल’ में दाखिल किया गया था, जो एक गर्ल्स स्कूल था। उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में बताया था की, उन्हें अभिनय की दुनिया में अपने आप को आगे बढ़ाने का आत्मविश्वास ‘नस्र स्कूल’ में जाने के बाद ही आया था। अपने स्कूल की पढाई पूरी करने के बाद दिआ ने ‘अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी’, हैदराबाद से बैचलर ऑफ़ आर्ट्स में ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू की थी।

दिया मिर्ज़ा का व्यवसायिक जीवन

दिया मिर्ज़ा का फिल्मों में शुरुआती दौर

दिया मिर्ज़ा ने अपने व्यवसाय की शुरुआत अपने कॉलेज में एक मीडिया फर्म से की थी। उन्होंने ‘मल्टी-मीडिया स्टूडियो’ के लिए एक मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के रूप में काम किया था। उसी दौरान दिआ ने अपने मॉडलिंग के करियर की भी शुरुआत कर दी थी और उन्हें प्रिंट और टीवी विज्ञापनों में देखा भी जाने लगा था। उन्होंने लिपटन, वॉल की आइसक्रीम, इमामी और कई और बड़े बड़े ब्रांडों के लिए मॉडलिंग की थी।

साल 2000 में दिआ मिर्ज़ा ने ‘मिस एशिया पैसिफिक’ में भाग लिया था और उसकी विजयता भी बनी थी। दिआ ने अपने मॉडलिंग के करियर के साथ साथ ही अपनी ग्रेजुएशन की पढाई को पूरा करने का सोचा था लेकिन काम में वो इतनी व्यस्त होने लगी थी की कॉलेज के लिए उन्हें बिलकुल समय नहीं मिल पा रहा था। दिआ ने ‘अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी’ से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने का निर्णय लिया था लेकिन बाद में उन्होंने नई यॉर्क यूनिवर्सिटी से पढाई पूरी की थी।

दिया मिर्ज़ा का फिल्मो का सफर

साल 1999 में दिआ को पहली बार एक तमिल फिल्म में डांसर की भूमिका को दर्शाते हुए देखा गया था। इसके बाद उन्होंने साल 2001 में अपने अभिनय के व्यवसाय की शुरुआत की थी। उस साल उन्हें गौतम मेनोन द्वारा निर्देश की गई फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म में दिआ ने ‘रीना मल्होत्रा’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म को उस वक़्त दर्शको ने कुछ ज़्यादा पसंद नहीं किया था और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में कुछ खास कमाई भी नहीं की थी। हालांकि क्रिटिक्स ने फिल्म में दिआ के अभिनय की तारीफ की थी और साथ ही दिआ ने भी इस फिल्म के लिए दो अवार्ड्स को अपने नाम किया था।

साल 2001 में ही दिआ को अभिनेता अर्जुन रामपाल के साथ फिल्म ‘दीवानापन’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। इस फिल्म में दिआ ने ‘किरन चौधरी’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म को दर्शको ने ठीक ठाक पसंद किया था और साथ ही फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में अपना नाम सफल फिल्म के रूप में दर्ज किया था।

साल 2002 में ही दिआ को दो और फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था। फिल्म के नाम ‘तुमको ना भूल पाएंगे’ और ‘तहज़ीब’ था। फिल्म ‘तुमको ना भूल पाएंगे’ में दिआ ने अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री सुष्मिता सेन के साथ अभिनय किया था। फिल्म में दिआ के किरदार का नाम ‘मुस्कान’ था। इसके बाद दिआ ने फिल्म ‘तहज़ीब’ में ‘नाज़नीन जमाल’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में उनके साथ शबाना आज़मी, अर्जुन रामपाल और उर्मिला मातोन्डकर ने अभिनय किया था। इन दोनों ही फिल्मो ने बॉक्स ऑफिस में कुछ खास कमाल नहीं किया था।

साल 2003 में दिआ मिर्ज़ा ने सबसे पहले फिल्म ‘प्राण जाय पर शान ना जाए’ में कई कलाकारों के साथ अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक ‘संजय झा’ थे और फिल्म में दिआ ने ‘सौंदर्या’ का किरदार अभिनय किया था। उस साल की दूसरी फिल्म दिआ की ‘स्टॉप’ नाम की थी, जिसमे उन्होंने ‘शमा’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म ‘दम’ में भी दिआ को अभिनय करते हुए देखा गया था जिसमे उन्होंने ‘कावेरी’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में दिआ ने अभिनेता विवेक ओबेरॉय के साथ मुख्य किरदार को दर्शाया था।

साल 2004 में दिआ को सबसे पहले फिल्म ‘तुमसा नहीं देखा’ में देखा गया था। इस फिल्म में दिआ ने अभिनेता इमरान हाशमी के साथ अभिनय किया था। फिल्म में दिआ के किरदार का नाम ‘जिआ’ था। फिल्म को दर्शको ने ठीक ठाक पसंद किया था और फिल्म ने भी अपना नाम बॉक्स ऑफिस पर सफल फिल्मो की लिस्ट में शामिल किया था। इस फिल्म के बाद दिआ को फिल्म ‘क्यों…. हो गया ना’ में देखा गया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को अभिनेता विवेक ओबेरॉय और अभिनेत्री ऐश्वर्या राय अभिनय कर रहे थे। फिल्म के निर्देशक ‘समीर कार्णिक’ थे और दिआ के किरदार का नाम ‘प्रीती’ था। इस फिल्म में दिआ ने एक छोटा सा कैमिओ किरदार अभिनय किया था। इसके बाद फिल्म ‘माय ब्रदर…. निखिल’ और फिल्म ‘ब्लैकमेल’ में भी दिआ को कैमिओ के किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था।

साल 2005 में दिआ को फिल्म ‘नाम गुम जाएगा’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘अमोल शेत्गे’ थे और फिल्म में दिआ ने ‘नताशा’ और ‘गीतांजलि’ के दो अलग अलग किरदारो को दर्शाया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘परिणीता’ में देखा गया था। इस फिल्म में दिआ ने ‘गायत्री’ नाम का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को अभिनेता सैफ अली खान, सजाय दत्त और अभिनेत्री विद्या बालन ने अभिनय किया था।

साल 2005 में ही दिआ को फिल्म ‘दस’ में देखा गया था। फिल्म में दिआ ने अभिनेता ‘संजय दत्त, सुनील शेट्टी, अभिषेक बच्चन, शिल्पा शेट्टी और ज़यद खान के साथ अभिनय किया था। फिल्म में दिआ के किरदार का नाम ‘अनु धीर’ था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में कुल 388 मिलियन की कमाई की थी जबकि फिल्म का बजट खुद 220 मिलियन का था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘कोई मेरे दिल में है’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। फिल्म में दिआ के साथ अभिनेता प्रियांशु चैटर्जी ने मुख्य भूमिका को दर्शाया था। फिल्म में दिआ ने ‘सिमरन’ नाम का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें फिल्म ‘फाइट क्लब – मेंबर ओनली’ में ‘अनु चोपड़ा’ का किरदार अभिनय करते हुए देखा गया था और बाद में फिल्म ‘फिर हेरा फेरी’ में एक आइटम गाने पर डांस करते हुए भी देखा गया था।

साल 2006 की बात करे तो दिआ को उस साल सबसे पहले फिल्म ‘अलग’ में देखा गया था जिसमे उन्होंने ‘पूर्वा राणा’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में दिआ के साथ अभिनेता ‘अक्षय कपूर’ को देखा गया था। उसी साल दिया ने फिल्म ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ और फिल्म ‘प्रतीक्षा’ में भी अभिनय किया था।

साल 2007 में भी दिया ने फिल्म ‘हनीमून ट्रेवल्स प्राइवेट लिमिटेड’ में ‘शिल्पा’ का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद फिल्म शूटआउट एट लोखंडवाला में ‘मीता मट्टू’ का किरदार, फिल्म ‘कैश’ में ‘अदिति’ का किरदार, फिल्म ‘हे बेबी’ और फिल्म ‘ओम शांति ओम’ में कैमिओ किरदार और फिल्म ‘दस कहानियां’ में ‘सिआ’ का किरदार अभिनय किया था। इनमे से दिआ की कुछ फिल्मो ने अच्छी कमाई की थी और वहीं कुछ फिल्मो को फ्लॉप लिस्ट में शामिल होना पड़ा था।

साल 2008 में दिआ को फिल्म ‘क्रेज़्ज़ी 4’ में अभिनय करते हुए देखा गया था जिसके निर्देशक ‘जयदीप सेन’ थे। फिल्म में दिआ के किरदार का नाम ‘शिखा’ था और उनके साथ अभिनेता अरशद वारसी, इर्र्फान खान, सुरेश मौन और राजपाल यादव को अभिनय करते हुए देखा गया था।

साल 2009 में दिआ ने फिल्म ‘किसान’ में अभिनय किया था। फिल्म के निर्देशक का नाम ‘पुनीत सिरा’ थे और दिआ के किरदार का नाम फिल्म में ‘प्रिया’ था। यह फिल्म पूरी तरह किसानो की जिंदगी के बारे में आधारित थी। इस फिल्म के बाद दिआ को उस साल दूसरी बार फिल्म ‘जय वीरू’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘अन्ना’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म के मुख्य किरदारों को फरदीन खान, कुमार खेमू, अरबाज़ खान और अंजना सुखानी ने अभिनय किया था। इसके बाद दिआ को फिल्म ‘फ्रूट एंड नट’ में देखा गया था जिसके निर्माता ‘कोमल विजयकर’ थे। फिल्म में दिआ के किरदार का नाम ‘मोनिका गोखले’ था। इसके साल दिआ ने इसी साल और 2 फिल्मो में अभिनय किया था जिनका नाम ‘कुर्बान’ और ‘लक बाय चांस’ था।

साल 2010 में दिआ को फिल्म ‘हम तुम और घोस्ट’ में अभिनय करते हुए देखा गया था। फिल्म में दिआ के साथ अभिनेता ‘अरशद वारसी’ को अभिनय करते हुए देखा गया था। फिल्म में घोस्ट का किरदार अभिनेता ‘बमन ईरानी’ ने अभिनय किया था। दिआ के किरदार का नाम फिल्म में ‘गहना सिन्हा’ था।

साल 2011 में ही दिआ ने फिल्म ‘लव ब्रेकअप ज़िंदगी’ में अभिनय किया था, जिसमे उन्हीने ‘नैना’ का किरदार अभिनय किया था। साल 2012 में ही दिआ ने फिल्म ‘पांच अध्याय’ में ‘इशिता’ का किरदार अभिनय किया था। यह फिल्म एक बंगाली फिल्म थी और दिआ की यह डेब्यू बंगाली फिल्म थी। इसके बाद दिआ ने साल 2014 में फिल्म ‘बॉबी जासूस’ में प्रोडूसर का काम किया था। यह फिल्म दिआ मिर्ज़ा की पहली डेब्यू प्रोडूसर के रूप में काम की गई फिल्म थी। साल 2016 में भी दिआ को फिल्म ‘सलाम मुंबई’ में देखा गया था जिसमें दिया के किरदार का नाम ‘करिश्मा’ था।

साल 2018 में दिआ को फिल्म ‘संजू’ में अभिनय करते हुए देखा गया था जिसमे दिआ ने अभिनेता संजय दत्त की पत्नी ‘मान्यता दत्त’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म ने बॉक्स ऑफीस में बहुत ही अच्छी कमाई की थी और इसे ब्लॉकबस्टर फिल्मो की लिस्ट में शामिल भी किया गया था।

पुरस्कार और उपलब्धियां

  • 2002, फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ के लिए ‘बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस’ और ‘बेस्ट डेब्यू न्यूकमर’ का अवार्ड मिला था।
  • 2005 में ‘ग्रेट वूमेन अचीवर्स अवार्ड्स फॉर ब्यूटी’ का अवार्ड मिला था।
  • 2011 में ‘ग्रीन ग्लोबल हॉनर फॉर एक्स्ट्राऑर्डिनरी वर्क बाय ए पब्लिक फिगर’ और ‘वूमेनस अचीवमेंट अवार्ड्स’ का अवार्ड मिला था।
  • 2012, फिल्म ‘पांच अध्याय’ के लिए ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला था।
  • 2012 में ‘आइफा ग्रीन अवार्ड्स फॉर कंट्रीब्यूशन टुवर्ड्स ए ग्रीनर एनवायरनमेंट’ का अवार्ड मिला था।
  • 2016 में ‘मिस एटर्नल ब्यूटी’ का अवार्ड मिला था।

दिया मिर्ज़ा की शादी और पति

दिया मिर्ज़ा काफी लम्बे अरसे से अपने बिज़नेस पार्टनर ‘साहिल संघ’ को डेट कर रही थी। उन्होंने अप्रैल 2014 में अपने लंबे समय से रहे बिजनेस पार्टनर और बॉयफ्रेंड ‘साहिल संघ’ से सगाई कर ली थी। दिआ मिर्जा और साहिल संघ की शादी 18 अक्टूबर 2014 को दिल्ली के बाहरी इलाके ‘छतरपुर’ में उनके पति, साहिल के विशाल फार्महाउस में हुई थी। अगस्त 2019 में ही दिआ ने अपनी शादी के पांच साल बाद अपने पति से अलग होने की घोषणा की थी।

दिआ अपने नाम के पीछे अपने सौतेले पिता का उपनाम इस्तेमाल करती है जो मुस्लिम है लेकिन वो अपने जीवन में हिन्दू धर्म का पालन करती है। दिआ के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उन्हें खाने में खिचड़ी, खुब्बनि का मीठा और गाजर का हलवा पसंद है। उनके पसंदीदा अभिनेता ‘टॉम क्रूज’ हैं और अभिनेत्रियों में उन्हें ऐश्वर्या राय पसंद है।

दिआ का पसंदीदा रंग ‘सफ़ेद’ है। उन्हें अभिनय के अलावा पढ़ना, लिखना, योगा करना और घूमना पसंद है। घूमने की जगहों में उन्हें यूरोप और न्यू यॉर्क पसंद है।

आप अपने विचार और सुझाव नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 85

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

About the author

मनीषा शर्मा

1 Comment

Click here to post a comment

  • हाय दिया यु आर वेरी स्वीट आपको मेरी तरफ से गुड नाइट प्लीज काॅल किजीए आई एम वेरी वेरी आई लभ यु प्लीज

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!