Wed. Nov 30th, 2022
    तलाक के बाद अपने बच्चों पर बोली सुजैन खान: मेरे बच्चे मुझे वो प्रेरणा देते हैं जिसकी मुझे जरुरत है

    इंटीरियर डिज़ाइनर और व्यवसायी सुज़ैन खान का कहना है कि उनकी माँ और उनकी बहनें ही उनकी ज़िन्दगी में मुख्य खिलाड़ी रहे हैं मगर उन्हें प्रेरणा अपने बच्चों से मिलती है। सुज़ैन बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन की पूर्व पत्नी है और दोनों के दो बेटे हैं- रिधान और रेहान। जोड़े की शादी 2000 में हुई थी और तलाक 2014 में हो गया था। भले ही दोनों के रास्ते अब जुदा हो गए हो मगर मंज़िल एक ही हैं- उनके बेटे। दोनों को अक्सर, बच्चों के साथ में अच्छा वक़्त बिताते देखा गया है।

    IANS को दिए ईमेल इंटरव्यू में सुज़ैन ने कहा-“मेरी माँ (ज़रीन) और मेरी बहनें (फराह खान अली और सीमोने अरोड़ा) मेरी ज़िन्दगी और विशेष तौर पर मेरे करियर में मुख्य खिलाड़ी रही हैं। ऊपर से, मेरे बेटे मुझे वो सारी प्रेरणा देते हैं जिसकी मुझे कभी जरुरत पड़ेगी।”

    https://www.instagram.com/p/BsbFNAhF8dd/?utm_source=ig_web_copy_link

    https://www.instagram.com/p/BlBvpYEAzOJ/?utm_source=ig_web_copy_link

    सुज़ैन ने अभिनेता बेन अफ्फ्लेक के उस बयान से सहमति जताई जिसमे उन्होंने कहा था कि वह अपने बच्चों को अपनी शोहरत की कीमत नहीं चुकाने देंगे। सुज़ैन के मुताबिक, “आपको बच्चों को बच्चों की तरह ही रहने देना होगा। उनसे उनका बचपना या किशोरावस्था छीनना गलत है।”

    तो वह अपनी व्यक्तिगत और पेशेवर ज़िन्दगी को कैसे संतुलित रखती हैं?

    https://www.instagram.com/p/BqmfnSAHmAe/?utm_source=ig_web_copy_link

    “काम और घर के बीच एक रेखा खींचना ऐसी चीज़ है जिसकी मैं मजबूती से वकालत करती हूँ। केवल उस संतुलन को ध्यान में रखते हुए ही आप काम के दौरान प्रेरित रहेंगे और घर पर शांति से जियेंगे।”

    करियर के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा-“मैं अत्यंत धन्य हूँ जैसा मेरा करियर निखर कर आया है। अबतक का मेरा सफर संतोषजनक रहा है और खासकर द लेबल लाइफ का स्टाइल एडिटर बन कर, द पावर ड्रेसिंग एडिट को देखते हुए, ये जानते हुए कि हम आधुनिक भारतीय महिलाओं की सेवा कर रहे हैं।”

    https://www.instagram.com/p/BfPyKPAAgpp/?utm_source=ig_web_copy_link

    https://www.instagram.com/p/BrByTuIlNnE/?utm_source=ig_web_copy_link

    महिला व्यवसायी के लिए क्या सन्देश है?

    “हमेशा खुलकर बोलो। अगर आपको ये भी लगता है कि ये एक ख़राब विचार है, हमेशा उसे बताओ। आपको नहीं पता कि आप किसे प्रेरित कर दें और वो छोटा बीज क्या बनकर खिल जाये।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *