दा इंडियन वायर » खानपान » ग्रीन टी पीने के नुकसान
खानपान स्वास्थ्य

ग्रीन टी पीने के नुकसान

green tea side effects in hindi

ग्रीन टी एक ऐसी चीज़ है जो किसी-किसी को पसंद आती है, और किसी-किसी को नहीं। कई लोग इसे हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा समझकर भी पीते हैं। ये ज़रूर हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, लेकिन अच्छे स्वास्थ्य को पाने के लिए, अगर हम इसे उचित से ज़्यादा पी लें, तो इसी के नुकसान और दुष्परिणाम हमारे शरीर पर असर करने लगता है।

ग्रीन टी से हमारा मस्तिष्क स्वस्थ रहता है, और हमारी याददाश्त भी अच्छी रहती है। ये हमें कर्क रोग से दूर रखता है और, हमारा वज़न भी घटाता है। हमारे दाँत भी स्वस्थ रहते हैं। साथ ही, ग्रीन टी से मधुमेह का इलाज भी हो सकता है। लेकिन इन सभी फायदों में, ग्रीन टी के कुछ दुष्परिणाम और नुकसान छुपे हुए हैं।

हाँ। ग्रीन टी के भी दुष्परिणाम होते हैं। इससे हमारे शरीर पर बुरा असर भी होता है। इसलिए आपकी जानकारी के लिए, इस विषय में, ग्रीन टी के कुछ दुष्परिणाम, निम्न लिखे गए हैं।

ग्रीन टी के नुकसान (Green Tea Side Effects)

ग्रीन टी में बहुत कैफीन होता है। हमारे शरीर को बहुत कैफ़ीन सुहाता नहीं है। इसके कारण हमारा शरीर आइरन के तत्व को कम ग्रहण कर पाता है, और आइरन की कमी से, हमारे शरीर को अन्य दूसरे बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

ग्रीन टी में अतिरिक्त कैफीन के कारण, हमारे नींद पर भी बुरा असर पड़ता है। इससे हमारा पेट भी खाराब हो सकता है।

इसके अलावा निम्न इसके अन्य दुष्परिणाम है।

पेट की समस्या

ग्रीन टी में पाए गए कैफीन के कारण, हमारे पेट में कई सारे एसिड भी जमा हो जाते हैं। इसके कारण हमारे पेट में दर्द हो सकता है, या हमारा जी भी मिचला सकता है। अगर हमें ग्रीन टी पीने के बाद, पेट में किसी भी प्रकार की तक्लीफ महसूस हो, तो हमें तुरंत ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

आइरन और खून की कमी

बहुत ज़्यादा ग्रीन टी पीने से, हमारे शरीर में आइरन और खून की कमी हो जाती है, खास कर की तब जब हम कुछ ऐसा खाते हि इसे पिएँ, जिस्में आइरन भरपूर मात्रा में मौजूद हो। इसलिए हम किस आहार के साथ ग्रीन टी पीते हैं, उसे भी हमें ध्यान में रखना चाहिए।

सिर दर्द

बहुत सारा कैफीन के कारण, ग्रीन टी पीने से हमारे सिर में दर्द भी हो सकता है। कभी-कभी, इस सिर दर्द के कारण हमें चक्कर भी आने लगते हैं।

नींद की कमी

ग्रीन टी पीने से हमें नींद की कमी ज़रूर होती है। लेकिन अगर हम सही मात्रा में ग्रीन टी को पिएँ, तो इसका इलाज हो सकता है। इसे देर दोपहर में पीने से यह दुष्परिणाम सामने आता है। इसका कारण है कैफीन। गर्भवती औरतों को खासकर ध्यान रखकर ग्रीन टी नहीं पीना चाहिए। नहीं तो, उनके शिशू को भी नींद की कमी हो सकती है।

उलटियाँ

कैफीन से हमारा जी मिचलाने लगता है और उसके कारण हमें उलटी भी हो सकता है। इसलिए ह्में उचित से ज़्यादा ग्रींटी नहीं पीना चाहिए।

दस्त

जो लोग ग्रीन टी पहली बार पीते हैं, अकसर उन्हें दस्त की तक्लीफ होती है। इसके अलावा, बहुत ज़्यादा ग्रीन टी पीने से भी ये तक्लीफ हमें हो सकती है। इसके इलाज के लिए हमें या तो कम मात्रा में ग्रीन टी पीना चाहिए, या फिर, इसे खाली पेट पर कभी नहीं पीना चाहिए। किसी भी अहार के साथ इसे पीने से, कैफीन क असर हमारे शरीर पर कम हो जाता है।

चक्कर आना

कहा जाता है कि ग्रीन टी में पाए गए कैफीन के कारण किसी-किसी को चक्कर आते हैं।

लिवर के रोग

ग्रीन टी से हमारा वज़न घटता है। इस बात को पकड़कर, लोग इसके एक बहुत ही बड़े नुकसान को नज़र अंदाज़ कर देते हैं। वो नुकसान है लिवर के रोग।

किडनी की समस्या

ग्रीन टी से हमारा किडनी भी खराब हो सकता है। लेकिन इसे अगर सही मात्रा में लिया जए, इसका इलाज किया जा सकता है, या हमारा किडनी इस बुरे असर से बच सकता है।

दाँत पर असर

ग्रीन टी से हमारे दाँत पीले पड़ सकते हैं। इसके अलावा, कैफीन हमारे शरीर को कैल्शियम के तत्व को सही तरह से ग्रहण नहीं करने देता है। इसलिए हमारे दाँत, ग्रीन टी के कारण, मज़बूत नहीं रहते है।

त्वचा से जुड़ी ऐलर्जी

ग्रीन टी पीने के बाद, हमारे चेहरे और त्वचा पर ऐलर्जी देखे जाते हैं। इनमें से सबसे सामान्य, होंठ , जीभ और गले में परेशानी। इसके अलावा, हमारे गले में सूजन भी हो सकता है।

ये थे ग्रीन टी के कुछ नुकसान और दुष्परिणाम जिन्हें ध्यान में रखकर हमें फैसला लेना चाहिए कि हमें ग्रीन टी पीन है की नहीं, और अगर पीन है, तो उसकी उचित संख्या कितनी है। जैसा पहले बताया गया है, ग्रीन टी को उचित से ज़्यादा संख्या में अगर कोई पीता है, तो ये सारे नुकसान हमारे शरीर को हो सकता है।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल रेटिंग : 87

कोई रेटिंग नहीं, कृपया रेटिंग दीजिये

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

कृपया हमें बताएं हम इसमें क्या सुधार कर सकते है?

अगर आपका इस विषय में कोई भी सवाल या सुझाव हो, तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!